ऑटो चालकों को महंगा पड़ा 'आई लव केजरीवाल’, कटा 10000 का चालान

पुनः संशोधित मंगलवार, 28 जनवरी 2020 (14:34 IST)
नई दिल्ली। दिल्ली में ऑटो चालकों को अपने रिक्शों पर 'आई लव केजरीवाल' पेंट कराना खासा महंगा पड़ गया। इन पर 10 हजार रुपए का जुर्माना लगाया है। दिल्ली हाईकोर्ट ने भी इस मामले में दिल्ली सरकार, पुलिस और चुनाव आयोग को नोटिस जारी किया है।

दिल्ली के मुख्यमंत्री ने मंगलवार को कहा कि भाजपा उन ऑटो रिक्शाचालकों पर भारी जुर्माना लगाकर निशाना साध रही है जिन्होंने अपने रिक्शों पर 'आई लव केजरीवाल' पेंट करा रखा है।

राजधानी में एक ऑटोरिक्शा चालक पर 'आई लव केजरीवाल' लिखने के लिए 10,000 रुपए का जुर्माना लगाए जाने की खबर का जिक्र करते हुए केजरीवाल ने भाजपा से गरीबों को निशाना बनाना बंद करने को कहा।
उन्होंने हिंदी में ट्वीट किया, 'भाजपा अपनी पुलिस से गरीब ऑटो वालों के झूठे चालान करवा रही है। इनका कसूर केवल ये है कि इन्होंने ‘आई लव केजरीवाल’ लिखा है। गरीबों के खिलाफ इतनी दुर्भावना ठीक नहीं है। मेरी भाजपा से अपील है कि गरीबों से बदला लेना बंद करे।'

आप, पुलिस, चुनाव आयोग से जवाब मांगा : दिल्ली उच्च न्यायालय ने एक ऑटो रिक्शा पर ‘आई लव केजरीवाल’ लिखे होने की वजह से चालक को थमाए गए 10 हजार रुपए के चालान को चुनौती देने वाली याचिका पर मंगलवार को आप सरकार, पुलिस और चुनाव आयोग से जवाब मांगा।
न्यायमूर्ति नवीन चावला ने दिल्ली सरकार, पुलिस और चुनाव आयोग को नोटिस जारी कर की याचिका पर उनका रुख पूछा जिसने दावा किया है कि कार्रवाई राजनीतिक दुर्भावना से प्रेरित है।

दिल्ली सरकार के वकील और पुलिस ने अदालत को बताया कि 10 हजार रुपए का चालान क्यों काटा गया, इसका अध्ययन करने के लिए समय जरूरी है और इस बारे में रिपोर्ट दाखिल की जाएगी।
चुनाव आयोग के वकील ने कहा कि संभवत: आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन के मामले में कार्रवाई की गई जिस दौरान राजनीतिक विज्ञापनों पर पाबंदी होती है। ऑटो चालक के वकील ने चुनाव आयोग की दलील का विरोध करते हुए कहा कि पहली बात तो यह राजनीतिक इश्तहार नहीं है और अगर है भी तो इस पर प्रतिबंध नहीं लगाया जाएगा क्योंकि यह याचिकाकर्ता के खर्च पर किया गया है ना कि राजनीतिक दल के खर्च पर।



और भी पढ़ें :