0

Kamada Ekadashi 2020 : वाजपेय यज्ञ का फल देती है कामदा एकादशी, जा‍नें तिथि, व्रत कथा एवं मुहूर्त

शुक्रवार,अप्रैल 3, 2020
Kamada Ekadashi Vrat Katha
0
1
माह में 2 एकादशियां होती हैं अर्थात आपको माह में बस 2 बार और वर्ष के 365 दिनों में मात्र 24 बार ही नियमपूर्वक एकादशी व्रत रखना है। हालांकि प्रत्येक तीसरे वर्ष अधिकमास होने से 2 एकादशियां जुड़कर ये कुल 26 होती हैं।
1
2
इस बार पापमोचनी एकादशी एकादशी 19 और 20 मार्च को है। दरअसल एकदशी तिथि दोनों दिन लगने के कारण पापमोचनी एकादशी 19 मार्च 2020 को प्रातः 4 बजकर 26 मिनट से प्रारंभ होकर 20 मार्च को प्रात: 5 बजकर 59 मिनट पर समाप्त होगी। यहां प्रस्तुत हैं व्रत कथा :-
2
3
एक वैदिश नाम का नगर था जिसमें ब्राह्मण, क्षत्रिय, वैश्य और शूद्र चारों वर्ण आनंद सहित रहते थे। उस नगर में सदैव वेद ध्वनि गूंजा करती थी तथा पापी, दुराचारी तथा नास्तिक
3
4
भगवान विष्णु ने कहा है जो प्राणी स्वर्ग और मोक्ष प्राप्ति की कामना रखते हैं, उनके लिए फाल्गुन शुक्ल पक्ष में जो पुष्य नक्षत्र में एकादशी आती है उस एकादशी का व्रत अत्यंत श्रेष्ठ है
4
4
5
19 फरवरी 2020, फाल्गुन कृष्ण एकादशी के दिन विजया एकादशी मनाई जा रही है। इस दिन व्रत-उपवास रखकर और रात्रि जागरण करके श्रीहरि विष्णुजी का पूजन-अर्चन तथा ध्यान करना चाहिए। यह विजया एकादशी 10 दिशाओं से विजय दिलाती है...आइए पढ़ें एकादशी का महात्म्य, पूजा ...
5
6
व्रतों में प्रमुख व्रत होते हैं नवरात्रि के, पूर्णिमा के, अमावस्या के, प्रदोष के और एकादशी के। इसमें भी सबसे बड़ा जो व्रत है वह एकादशी का है। माह में दो एकादशी होती है। अर्थात आपको माह में बस दो बार और वर्ष के 365 दिन में मात्र 24 बार ही नियम पूर्वक ...
6
7
शास्त्रों के अनुसार एकादशी व्रत-उपवास करने का बहुत महत्व होता है। साथ ही सभी धर्मों के नियम भी अलग-अलग होते हैं। खास कर हिंदू धर्म के अनुसार एकादशी व्रत करने की इच्छा रखने वाले मनुष्य को दशमी के दिन से ही कुछ अनिवार्य नियमों का पालन करना चाहिए।
7
8
हिन्‍दू पंचांग के अनुसार प्रतिवर्ष माघ महीने के शुक्‍ल पक्ष में जया एकादशी आती है। इस व्रत में भगवान श्री विष्णु की पूजा-अर्चना करने का विधान है। इस बार जया एकादशी 5 फरवरी 2020, बुधवार को मनाई जा रही है।
8
8
9
बुधवार, 5 फरवरी 2020 को है जया (अजा) एकादशी है। यह एकादशी हजार वर्ष तक स्वर्ग में वास करने का फल देती है। पढ़ें प्रामाणिक व्रत कथा
9
10
धर्मराज युधिष्ठिर बोले - हे भगवन्! आपने माघ के कृष्ण पक्ष की षटतिला एकादशी का अत्यंत सुंदर वर्णन किया। ब आप कृपा करके माघ शुक्ल एकादशी का वर्णन कीजिए। इसका क्या नाम है, इसके व्रत की क्या विधि है और इसमें कौन से देवता का पूजन किया जाता है ?
10
11
हिन्दू कैलेंडर के अनुसार माघ कृष्ण एकादशी तिथि को षटतिला एकादशी व्रत किया जाता है। इस दिन श्रीहरि विष्णु और श्री कृष्ण की आराधना करने का विशेष महत्व है।
11
12
प्राचीन काल में मृत्युलोक में एक ब्राह्मणी रहती थी। वह सदैव व्रत किया करती थी। एक समय वह एक मास तक व्रत करती रही। इससे उसका शरीर अत्यंत दुर्बल हो गया।
12
13
धार्मिक शास्त्रों के अनुसार 20 जनवरी, सोमवार को षटतिला एकादशी है। इस दिन काले तिल से भगवान विष्णु की पूजा करने का अधिक मह‍त्व है। जीवन में हमें कई बार ग्रह, भूत या देव बाधा का सामना करना पड़ता है।
13
14
20 जनवरी 2020, सोमवार को षटतिला एकादशी आ रही है। यह व्रत भगवान श्रीहरि विष्‍णु की पूजा का व्रत है। माघ मास की कृष्‍ण पक्ष की एकादशी को यह व्रत किया जाता है।
14
15
पौष शुक्ल एकादशी (poush shukal ekadashi) का क्या नाम है, उसकी विधि क्या है और उसमें कौन-से देवता का पूजन किया जाता है।
15
16
पौष महीने की शुक्ल पक्ष की एकादशी के दिन पुत्रदा एकादशी आती है। हालांकि पुत्रदा एकादशी वर्ष में दो बार आती है। वर्ष 2020 में यह एकादशी व्रत 6 जनवरी, सोमवार को मनाया जा रहा है।
16
17
22 दिसंबर, रविवार को वर्ष 2019 की अंतिम एकादशी आ रही है। पौष कृष्ण एकादशी का क्या नाम है? उस दिन कौन से देवता का पूजन किया जाता है और उसकी क्या विधि है? कृपया मुझे बताएं।
17
18
हिन्दू धर्मों में व्रत-उपवास का बहुत महत्व है। वैसे तो सभी धर्मों के नियम भी अलग-अलग होते हैं। खास कर हिन्दू धर्म के अनुसार एकादशी व्रत करने की इच्छा रखने वाले मनुष्य को दशमी के दिन से ही कुछ अनिवार्य नियमों का पालन करना चाहिए।
18
19
एकादशी तिथि का भारतीय सनातन धर्म में बहुत महत्व है। इस व्रत से संकल्प और आत्मविश्वास बढ़ता है, ऐेसे कौन से 26 व्रत हैं, जो सभी पापों को नष्ट कर संकटों को खत्म कर देते हैं
19