0

मंगलवार, 28 जून 2022 : आज क्या कहती है आपकी राशि, किसके लिए खुशियों भरा रहेगा दिन

सोमवार,जून 27, 2022
0
1
Mysteries of Jagannath Temple : भारतीय राज्य ओड़ीसा में हिन्दुओं की प्राचीन और पवित्र 7 नगरियों में से एक पुरी में स्थित जगन्नाथ मंदिर को बहुत ही प्राचीन माना जाता है। यहां पर प्रतिवर्ष आषाढ़ माह के शुक्ल पक्ष की दूज से 9 रथयात्रा प्रारंभ होती है ...
1
2

28 जून 2022 : आपका जन्मदिन

सोमवार,जून 27, 2022
दिनांक 28 को जन्मे व्यक्ति राजसी प्रवृत्ति के व्यक्ति हैं। आपका मूलांक 1 होगा। 2 और 8 आपस में मिलकर 10 होते हैं। इस तरह आपका मूलांक 1 होगा। आप आपको अपने ऊपर किसी का शासन पसंद नहीं है।
2
3
शुभ विक्रम संवत्-2079, शक संवत्-1944, हिजरी सन्-1443, इस्वी सन्-2022 संवत्सर नाम-राक्षस अयन-उत्तरायण मास-आषाढ़ पक्ष-कृष्ण ऋतु-वर्षा वार-मंगलवार तिथि (सूर्योदयकालीन)-अमावस नक्षत्र (सूर्योदयकालीन)-मृगशिरा योग (सूर्योदयकालीन)-गण्ड करण ...
3
4
श्रावण मास में भोलेनाथ शिव को भक्त कई तरह से प्रसन्न करने के प्रयास करते हैं, आइए जानते हैं कि सावन के पावन महीने में भगवान शंकर को अपनी राशि के अनुसार कौन से Dry Fruits चढ़ाने चाहिए।
4
4
5
10 जुलाई 2022 को आषाढ़ शुक्ल पक्ष की एकादशी को देव सो जाएंगे इसीलिए इसे देवशयनी एकादशी कहते हैं। श्रीहरि विष्णु 4 माह के लिए योगनिद्रा में चले जाते हैं। इसके बाद कार्तिक मास में शुक्ल पक्ष की एकादशी को भगवान योग निद्रा से उठते हैं। आओ जानते हैं इस ...
5
6
क्या आपको यह जानकारी है कि यह नीम धार्मिक दृष्टि से भी कमाल का है आइए जानते हैं 10 विशेष बातें....
6
7
Jagannath Rath Yatra 2022 : चार पवित्र धामों में से एक पुरी में जगन्नाथ भगवान श्रीकृष्ण रूप में विराजमान है। यहां पर आषाढ़ माह में अमावस्या के बाद उनकी रथ यात्रा निकाली जाती है। आओ जानते हैं रथयात्रा से जुड़ी 14 रोचक जानकारी।
7
8
पुरी का श्री जगन्नाथ मंदिर (Puri Jagannath Temple) एक हिन्दू मंदिर है, जो भगवान जगन्नाथ यानी श्री कृष्ण को समर्पित है। यह भक्तों की आस्था के केंद्र के रूप में विश्वभर में प्रसिद्ध है।
8
8
9
Aashadh gupt navratri 2022: आषाढ़ माह की गुप्त नवरात्रि अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार 30 जून 2022, गुरुवार को प्रारंभ होगी जो 8 जुलाई तक चलेगी। गुप्त नवरात्रि में दश महाविद्याओं की पूजा और साधना होती है।
9
10
Mars transit in Aries : 27 जून से 10 अगस्त 2022 तक मंगल का मेष राशि में भ्रमण रहेगा। इस दौरान राहु के साथ मंगल की युति अंगारक योग बना रही है। इस योग को वैदिक ज्योतिष में अशुभ माना जाता है। आओ जानते हैं मंगल के राशि परिवर्तन से कि 4 राशियों को ज्यादा ...
10
11
ओडिशा के पुरी में बिना किसी औपचारिक शिक्षा या आधुनिक मशीन के शिल्पकारों का एक समूह हर साल पारंपरिक तरीके से भगवान जगन्नाथ और उनके भाई-बहन बालभद्र व सुभद्रा के लिए एक जैसे विशाल रथ बनाता है।
11
12
Angarak Dosh: मंगल और राहु एक दूसरे के शत्रु ग्रह है। दोनों के एक ही राशि या भाव में आने से यह इनकी क्रूरता में और इजाफा हो जाता है। मंगल और राहु की युति मिलकर अंगारक योग का निर्माण करती है। इस वक्त राहु मेष राशि में विराजमान है और 27 जून से मंगल भी ...
12
13
Halharini Amavasya: आषाढ़ माह की अमावस्या यानी हलहारिणी अमावस्या कब है? 28 या 29 जून 2022 को। साथ ही जानिए अमावस्या के शुभ मुहूर्त और इस अमावस्या का महत्व।
13
14
ashadha month amavasya 2022 इस बार हलहारिणी अमावस्या 28 और 29 जून दोनों दिन मनाई जाएगी। मत-मतांतर के चलते मंगलवार को भौमवती अमावस्या तथा 29 जून को दान और श्राद्ध की अमावस्या मनाई जाएगी। यहां जानिए अमावस्या के खास उपां और महत्व- amavasya 2022
14
15
श्रावण मास आने वाला है...आइए जानते हैं पावन महीने में भगवान भोलेनाथ को कैसे करें प्रसन्न....इन सरल उपायों से खूब मिलेगा यश,धन और सफलता....प्रेम, पॉवर, प्रमोशन, शांति और समृद्धि....Shravan mass 2022
15
16
भगवान शिव और पार्वती के पुत्र कार्तिकेय को स्कंद भी कहा जाता है। उन्हें दक्षिण भारत में सुब्रमण्यम और मुरुगन कहते हैं। दक्षिण भारत में उनकी पूजा का अधिक प्रचलन है। कार्तिकेय का वाहन मोर है। एक कथा के अनुसार कार्तिकेय को यह वाहन भगवान विष्णु ने उनकी ...
16
17
हिन्दू धर्म में अमावस्या तिथि का अत्यधिक महत्वपूर्ण स्थान है। इस दिन पितृ निवारण के लिए निम्न उपाय करने से जीवन के समस्त कष्‍ट दूर होते हैं।
17
18
Ashadha amavasya: 14 जून 2022 से आषाढ़ माह का प्रारंभ हुआ था। आषाढ़ माह की अमावस्या 29 जून को है। इस अमावस्या का बहुत महत्व बताया गया है। इस दिन के एक दिन पूर्व हलहारिणी भौमवती अमावस्या रहेगी। आओ जानते हैं इस दिन का महत्व, शुभ मुहूर्त, पूजा विधि और ...
18
19
Mars transit in Aries: 27 जून को मंगल ग्रह मीन राशि से निकलकर मेष राशि में गोचर करेगा। मेष राशि मंगल की स्वयं की राशि है। इस गोचर से 4 राशियों को बेहद लाभ होगा, 5 राशियों के लिए मिलाजुला असर होगा और 3 राशियों को अपनी सेहत का विशेष ध्यान रखना होगा। ...
19