0

बाबा अमरनाथ यात्रा की 5 खास बातें, बहुत जरूरी है जानना

शुक्रवार,जुलाई 17, 2020
0
1
हिन्दुओं के सबसे बड़े तीर्थ स्थल अमरनाथ के बारे में बहुत कम ही लोग कुछ खास बातें जानते होंगे। यहां अमरनाथ से जुड़ी प्राचीन, पौराणिक और रहस्यमयी जानकारी जरूर जानिए।
1
2
भक्तों की आस्था केंद्र पुरी का जगन्नाथ मंदिर विश्वभर में प्रसिद्ध है। यह हिन्दुस्तान ही नहीं, बल्कि विदेशी श्रद्धालुओं के भी आकर्षण का केंद्र है।
2
3
शीतला माता की पूजा शीतला सप्तमी और शीतला अष्टमी पर की जाती है। शीतला माता के यूं तो कई प्रचीन मंदिर है जैसे राजस्थान के पाली जिले में, जबलपुर के पास पालन में घमापुर-शीतलामाई मार्ग पर और भोपाल की बड़ी झील के किनारे वीआईपी रोड स्थित शीतला माता मंदिर ...
3
4
वैसे जो भारतभर में शनिदेव के कई पीठ है किंतु तीन ही प्राचीन और चमत्कारिक पीठ है, जिनका बहुत महत्व है। शनि शिंगणापुर (महाराष्ट्र), शनिश्चरा मन्दिर (ग्वालियर मध्यप्रदेश), सिद्ध शनिदेव (कशीवन, उत्तर प्रदेश)। इनमें से शनि शिंगणापुर को भगवान शनिदेव का ...
4
4
5
पूर्वोत्तर बिहार में पूर्णिया प्रमंडल मुख्यालय से 30 किलोमीटर दूर धरहरा गांव स्थित सिकुलीगढ़ का भी अपना धार्मिक और पुरातात्विक महत्व है। इसे भक्त प्रह्लाद की रक्षा के लिए भगवान विष्णु के नृसिंह अवतार और राजा हिरण्यकश्यप का वध स्थल माना जाता है।
5
6
करसोग घाटी ढेरों जड़ी-बूटियों आदि के पेड़ों से सजी एक ऐसी अनछुई घाटी है जिसका सौंदर्य देखते ही बनता है। शिमला से इसकी दूरी 106 किमी है। आओ जानते हैं इसके 7 अद्भुत रहस्य।
6
7
गजानन महाराज का प्रकटोत्सव 14 से 16 फरवरी 2020 तक मनाया जा रहा है। इसमें 3 दिवसीय कार्यक्रम होंगे, जिसमें श्रीजी का पारायण, चरण पादुका पूजन और भ्रमण तथा जलाभिषेक, कलश पूजन, यज्ञ और इसके बाद भंडारे या महाप्रसादी का वितरण होता है।
7
8
'राजाओं की धरती' राजस्थान देश के पश्चिमोत्तर में स्थित भारत गणराज्य का सबसे बड़ा राज्य है। दूर तक फैला रेगिस्तान, विशाल दुर्ग, कई पौराणिक मंदिर, रंग बिरंगे परिधान, ऊंट की राजसी सवारी, प्राचीन लोक परंपराएं और समृद्ध हस्तशिल्प इस राज्य की पहचान है।
8
8
9
आप लोगों ने अभी से प्लानिंग शुरू कर दी होगी कि 2019 की बिदाई और 2020 का स्वागत कैसे करेंगे, कहां सेलीब्रेट करेंगे, कहां पार्टी करेंगे या कहां घूमने जाएंगे।
9
10
स्वामी केशवानंदजी महाराज पवित्र अग्नि (धूनी) के समक्ष ध्यानमग्न होकर बैठे रहते थे, इसलिए लोग उन्हें दादाजी धूनीवाले के नाम से स्मरण करने
10
11
काल भैरव जयंती 19 नवंबर 2019 को है। इस बार भैरवाष्टमी मंगलवार के दिन आ रही है। अगहन माह की कृष्ण पक्ष की अष्टमी भैरव जयंती के नाम से जानी जाती है।
11
12
राजस्थान में 'श्री महावीर जी' नाम से भगवान महावीर का भव्य विशाल मंदिर है। यह दिगंबर जैन धर्मावलंबियों की आस्था का प्रमुख केंद्र है। गंभीर नदी के तट पर स्थित इस मंदिर में 24वें तीर्थंकर श्री वर्धमान महावीर जी की मूर्ति विराजित है।
12
13
देवी लक्ष्मी को धन और समृद्धि प्रदान करने वाली देवी माना जाता है। मान्यता है कि माता लक्ष्मी के मंदिर में जाकर पूजन-अर्चन करने से आर्थिक संकट समाप्त हो जाता है। खासकर शुक्रवार को यहां जाना चाहिए। महालक्ष्मी और लक्ष्मी के कई प्राचीन और प्रसिद्ध मंदिर ...
13
14
यदि आप घूमने के लिए विदेश जा रहे हैं, तो जरूरी सामान की पैकिंग के अलावा कुछ जरूरी जानकारियां भी जुटाकर रखिए। इन जानकारियों के पता होने से अगर आप विदेश में किसी अनचाहे संकट में फंस जाते हैं, तो इससे आपको बहुत मदद मिलेगी।
14
15
ट्रैवलिंग करना किसी पसंद नहीं होता लेकिन कुछ लोगों को सफर के दौरान सेहत संबंधी परेशानियां होने लगती है, जिस वजह से वे सफर करने में हिचकिचाते है। अगर आपके साथ भी ऐसा ही होता है और ट्रैवलिंग के
15
16
पर्यटन का महत्व और पर्यटन की लोकप्रियता को देखते हुए ही संयुक्त राष्ट्र संघ ने 1980 से 27 सितंबर को विश्व पर्यटन दिवस के तौर पर मनाने का निर्णय लिया। विश्व पर्यटन दिवस के लिए 27 सितंबर का दिन चुना गया क्योंकि इसी दिन 1970 में विश्व पर्यटन संगठन का ...
16
17
तिरुमाला पर्वत पर स्थित भगवान तिरुपति बालाजी के मंदिर की महत्ता कौन नहीं जानता। हर साल करोड़ों लोग इस मंदिर के दर्शन के लिए आते हैं।
17
18
बाघों के साम्राज्य में डिजिटल कैमरे की घुसपैठ और पर्यटन की खुली छूट के कारण तस्कर आसानी से बाघों तक पहुंच रहे हैं और तस्करी की रूपरेखा तैयार कर रहे हैं।
18
19
विश्व में शिव की सबसे ऊंची मूर्ति नेपाल के चित्तपोल सांगा जिला भक्तापुर में स्थित है। खड़ी मुद्रा में इस मूर्ति का निर्माण कार्य 2004 में शुरू हुआ था
19