0

A. P. J. Abdul Kalam : जनता के राष्ट्रपति डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम की जयंती पर विशेष

सोमवार,अक्टूबर 14, 2019
0
1
जानिए एपीजे अब्दुल कलाम के बारे में कुछ और खास बातें।
1
2

नरक चतुर्दशी पर निबंध

सोमवार,अक्टूबर 14, 2019
हिन्दू कैलेंडर के अनुसार कार्तिक माह की कृष्ण चतुर्दशी को नरक चतुर्दशी कहते हैं। इसके अतिरिक्त इस चतुर्दशी को रूप चौदस और काली चौदस के नाम से भी जानते हैं।
2
3

शरद पूर्णिमा पर निबंध

गुरुवार,अक्टूबर 10, 2019
आश्‍विन माह में आने वाली शरद पूर्णिमा हिन्दुओं का एक प्रसिद्ध त्योहार है। शारदीय नवरात्रि पर्व के बाद की पूर्णिमा को ही 'शरद पूर्णिमा' कहा जाता है।
3
4

करवा चौथ पर निबंध

गुरुवार,अक्टूबर 10, 2019
करवा चौथ का पर्व उत्तर भारत में ज्यादा प्रचलित है। उत्तर भारत के हर प्रांत में इसे अलग-अलग तरीके से मनाया जाता है। पति की दीर्घायु और मंगल कामना हेतु सुहागिन स्त्रियां इस दिन व्रत रखती हैं।
4
4
5
11 अक्टूबर, 1902 को जन्मे जयप्रकाश नारायण भारतीय स्वतंत्रता सेनानी और राजनेता थे। वे समाज-सेवक थे, जिन्हें ‘लोकनायक’ के नाम से भी जाना जाता है।
5
6

दशहरा पर निबंध (Dussehra Hindi Essay)

शनिवार,अक्टूबर 5, 2019
भगवान राम ने इसी दिन रावण का वध किया था। इसे असत्य पर सत्य की विजय के रूप में मनाया जाता है। इसीलिए इस दशमी को विजयादशमी के नाम से जाना जाता है। दशहरा वर्ष की तीन अत्यंत शुभ तिथियों में से एक है, अन्य दो हैं चैत्र शुक्ल की एवं कार्तिक शुक्ल की ...
6
7
लाल बहादुर शास्त्री भारत माता के सच्चे सपूत थे। शास्त्रीजी को कभी किसी पद या सम्मान की लालसा नहीं रही। उनके राजनीतिक जीवन में अनेक ऐसे अवसर आए जब शास्त्रीजी ने इस बात का सबूत दिया।
7
8
पर्यावरण को नुकसान को कम करने की दिशा में हर एक इंसान कुछ बेहद जरूरी कदम उठा सकता है। सतर्कता और जागरूकता दो बेहद जरूरी चीजें हैं इन्हें प्लास्टिक के खिलाफ अपनाया जा सकता है।
8
8
9
लाल बहादुर शास्त्री पर कविता- जीवन के सूखे मरुथल में, झेले ये झंझावात कई। जितनी बाधा, कंटक आते, उनसे वे पाते, शक्ति नई।
9
10
लाल बहादुर शास्त्री का जन्म 2 अक्टूबर, 1904 को मुगलसराय, उत्तरप्रदेश में 'मुंशी शारदा प्रसाद श्रीवास्तव' के यहां हुआ था। उनकी माता का नाम 'रामदुलारी' था।
10
11
झाड़ू लेकर साफ-सफाई, कर दी अपने कमरे की। टेबिल कंचन-सी चमकाई। कुर्सी की सब धूल उड़ाई। पोंछ-पांछ के फिर से रख दी, चीजें पढ़ने-लिखने की।
11
12
भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के सबसे प्रमुख नेताओं में से एक हैं महात्मा गांधी। जिन्होंने सत्य और अहिंसा के मार्ग पर चलते हुए देश आजादी दिलाई। वे एक नेता ही नहीं, बल्कि युगपुरुष थे। यहां पाठकों के लिए खासतौर पर प्रस्तुत हैं महात्मा गांधी के 30 अनमोल ...
12
13
बचपन से हम स्कूल की किताबों में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी (Mahatma gandhi) के बारे में पढ़ते आए हैं, इसलिए उनके बारे में सामान्य जानकारी हर कोई जानता है। लेकिन गांधी जी से जुड़ी ऐसी कई बातें हैं, जो हर किसी को पता नही है लेकिन उन्हें जानना भी जरूरी ...
13
14
बापू जैसा बनूंगा मैं, राह सत्य की चलूंगा मैं। बम से बंदूकों से नहीं, बापू जैसा लडूंगा मैं।
14
15
राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के प्रेरणादायी प्रसंग बहुत ही रोचक और शिक्षाप्रद है।
15
16
अहिंसा के पुजारी महात्मा गांधी का जन्म 2 अक्टूबर सन् 1869 को गुजरात में पोरबंदर नामक स्थान पर हुआ था। आपका पूरा नाम मोहनदास था।
16
17
महाराजा अग्रसेन कर्मयोगी लोकनायक तो थे ही, संतुलित एवं आदर्श समाजवादी व्यवस्था के निर्माता भी थे। वे समाजवाद के प्रणेता, गणतंत्र के संस्थापक, अहिंसा के पुजारी व शांति के दूत थे।
17
18
लोकनायक महाराजा अग्रसेन का जन्म आश्विन शुक्ल प्रतिपदा हुआ था, जिसे अग्रसेन जयंती के रूप में मनाया जाता है। अग्रवाल शिरोमणि महाराजा अग्रसेन का स्मरण करना गंगाजी में स्नान करने के समान ही है।
18
19
भगत सिंह का जन्म 27 या 28 सितंबर 1907 को लायलपुर जिले के बंगा में हुआ था, जो अब पाकिस्तान में है। उस समय उनके चाचा अजीत सिंह और श्‍वान सिंह भारत
19