0

यात्रा वृत्तांत : उदयपुर का वैभवशाली और शौर्य से भरा इतिहास

बुधवार,जून 23, 2021
0
1
यह एक तरह का ईंधन है, जो पेट्रोल के साथ मिलकर वाहनों की दुनिया में एक नई क्रांति लाएगा। इसीलिए भारत सरकार ने साल 2025 तक पेट्रोल में करीब 20 प्रतिशत एथेनॉल के मिश्रण का लक्ष्‍य रखा है। इसके साथ ही दुनिया के और भी देश इसके इस्‍तेमाल के लिए प्रयास कर ...
1
2
जिंदगी जीने का हौसला और उत्साह होना जरूरी है। कोरोना वायरस के चलते कई लोगों की जिंदगी उजड़ गई है तो कई लोग जीवन से संघर्ष कर रहे हैं। कई लोग हौसला हार गए हैं तो कई लोगों की जिंदगी में यह काल अवसर की तरह आया और वे जीत गए। आपको हम बताना चाहते हैं कि ...
2
3
एक सरोवर में कई मेंढक रहते थे। उस सरोवर के माध्य में वहां के राजा ने एक लोहे का स्तंभ लगा रखा था। एक दिन सभी मेंढकों ने तय किया कि क्यों ना इस स्तंभ पर चढ़ने की प्रतियोगिता रखी जाए। क्यों‍न रेस लगाई जाए। जो भी सबसे पहले इस पर चढ़ जाएगा यह विजेता ...
3
4
कोरोना वायरस एक ऐसी महामारी जिसने दुनिया के बुनियादी ढ़ांचे को ही हिला कर रख दिया। पहली लहर में तो दुनिया ने इस बीमारी को समझने की कोशिश ही की थी कि कोरोना की दूसरी लहर ने समूचे विश्व का इंतकाल ही ले लिया। धीरे- धीरे कोरोना वायरस का आंकड़ा नीचे गिर ...
4
4
5
लोकतंत्र के यह पहरुए आम चुनावों के जरिए चुने जाकर देश-प्रदेश की सरकारों से लेकर गांव की पंचायतों तक में पक्ष-विपक्ष में बैठकर आमजन के हित के कानून और सुख, सुविधाओं की जिम्मेदारियां निभाते हैं। निश्चित रूप से संविधान बनाते समय यही सोच इसके केन्द्र ...
5
6
आज भी एक पथ प्रदर्शक के रूप में प्रासंगिक है संत कबीर दास के दोहे। यहां पाठकों के लिए प्रस्तुत हैं कबीर के दोहे सर्वाधिक प्रसिद्ध व लोकप्रिय दोहे-
6
7
संतों की संगत कभी निष्फल नहीं होती । मलयगिर की सुगंधी उड़कर लगने से नीम भी चन्दन हो जाता है, फिर उसे कभी कोई नीम नहीं कहता।
7
8
भारतीय राजनीति इस समय अपने इतने निकृष्टतम दौर से गुजर रही है कि वह देश की समस्याओं का समाधान करने के बजाय खुद अपने आप में एक गंभीर समस्या बन चुकी है। किसी भी लोकतंत्र के लिए इससे ज्यादा बुरा दौर और क्या हो सकता है कि जब महंगाई पूरी तरह लूट में ...
8
8
9
नृत्य, संगीत और वाद्ययंत्रों का अविष्कार भारत में ही हुआ है। हिन्दू धर्म का नृत्य, कला, योग और संगीत से गहरा नाता रहा है। हिन्दू धर्म मानता है कि ध्वनि और शुद्ध प्रकाश से ही ब्रह्मांड की रचना हुई है। 21 जून 2021 को विश्व संगीत दिवस है। आओ जानते हैं ...
9
10
मेरे पापा तुमने चलना मुझे सिखाया... हाथ आज पकड़ता हूं.... मेरी गूं..गां... समझी तुमने.... आज शब्द में देता हूं .....
10
11
पापा मेरी नन्ही दुनिया, तुमसे मिल कर पली-बढ़ी आज तेरी ये नन्ही बढ़कर, तुझसे इतनी दूर खड़ी तुमने ही तो सिखलाया था, ये संसार तो छोटा है तेरे पंखों में दम है तो, नील गगन भी छोटा है कोई न हो जब साथ में तेरे, तू बिलकुल एकाकी है मत घबराना बिटिया, ...
11
12
मैं हम चार भाई-बहनों में सबसे छोटी हूं ‌। पापा का स्नेह और साथ ज्यादा मिला। बात 2003 की जब मैं अपने पापा के साथ द्वारका गई थी सुबह मंगला दर्शन के बाद द्वारकाधीश मंदिर के के किनारे हम लोग स्नान के लिए गए। मैं और मेरी मम्मी पानी में पैर डाल कर बैठ गए ...
12
13
स्त्री मां होती है पर पुरुष पिता बनते हैं, बहुत धीमे, गढ़े जाते हैं, समय की आंच पर| कांपते सख्त हाथों में नन्हें जीव को लिए, नया कोरा पिता सृष्टि का सबसे सुकुमार हृदय है.... बच्चे के लिए रोटी कमाने निकला पिता सबसे साहसी योद्धा, और अपनी ...
13
14
लौट आओ पापा बहुत से उत्तरित अनुत्तरित प्रश्नों को पुनः दोहराने का मन करता है. वक़्त पर बातें छोड़ देने का आपका धैर्य थामे समय के दिए गए उत्तरों के साथ
14
15
हो सके तो इस खत को पढ़कर ''फादर्स डे'' पर घर आना मैं अच्छा पिता बनना चाहता हूं तुम्हारे लिए...एक बार सच्चे दिल से सॉरी कहना चाहता हूं... आओगी ना? खूब सारा प्यार तुम्हारा पापा
15
16
ग़ैर-भाजपाई विचारधारा वाले दलों से चुनिंदा नेताओं को भाजपा में शामिल कर विपक्षी सरकारों को गिराने या चुनाव जीतने की कोशिशों पर जताई जाने वाली नाराज़गी और नज़रिए में थोड़ा-सा बदलाव कर लिया जाए तो जो चल रहा है, उसे बेहतर तरीक़े से समझा जा सकता है। ...
16
17
पिता! एक निश्‍चिंतता का नाम है पिता। पिता छत है, पिता आकाश है। पिता वह सुरक्षा कवच भी है, जो अपनी छाती पर तूफान झेलकर संतान की रक्षा करता है। पिता के होते संतान को ज्यादा चिंता नहीं होती, उसे पता होता है 'पिता सब संभाल लेंगे।' डाँटेंगे-डपटेंगे, ताना ...
17
18
उस जनगणना के अनुसार करीब दस करोड़ लोग 60 वर्ष से ज्यादा उम्र के थे। हर वर्ष इसमें करीब 3 प्रतिशत की वृद्धि हो रही है। इसके अनुसार ऐसे लोगों की संख्या वर्तमान 8.9 प्रतिशत से बढ़कर 2050 में 19.4 प्रतिशत यानी करीब 30 करोड़ हो जाएगी।
18
19
ओशो रजनीश ने सैंकड़ों प्रेरक कहानियां अपने प्रवचनों में सुनाई है। उनकी कहानियां बड़ी ही सरल और अद्भुत होती हैं। उनकी कहानियां, उद्धरण या प्रवचन सुनकर कई लोगों के जीवन बदल गए हैं। उनके प्रेरक उद्धरणों में से एक यहां पढ़ें।
19