0

घर के आसपास पारिजात का पवित्र पेड़ लगा लिया तो होंगे 5 चमत्कारिक फायदे

सोमवार,मई 17, 2021
0
1
बैठक रूम में कभी भी नकारात्मक चित्र न लगाएं, जैसे ताजमहल, महाभारत या किसी कांटेदार पौधे का चित्र। जंगली जानवर, रोते हुए बच्चे, नंगे बच्चे, युद्ध के दृश्य, भगवान व पेड़ आदि के चित्र भी न लगाएं। यदि घर में फव्वारा या झरने का चित्र लगा रखा है तो सावधान, ...
1
2
कपड़े रखने, किताबें रखने या अन्य छोटा-मोटा सामान रखने वाली अलमारियों को बंद करने का दरवाजा नहीं है या उनमें कांच नहीं लगा है तो वह खुली मानी जाएगी। इसी तरह यदि वे कहीं से भू टूटी या खराब है तो इससे 2 तरह के नुकसान होंगे।
2
3
घर में दरवाजे और खिड़खियों में पर्दे लगाते हैं। कई बार हम वास्तु के अनुसार नहीं बल्कि सुंदर पर्दे देखकर ही पर्दे लगा लेते हैं फिर भले ही वह ब्लैक एंड वाइट में डिजाइन वाले पर्दे ही क्यों ना हो। पर्दों का भी वास्तु शास्त्र में बहुत महत्व बताया गया है। ...
3
4
किचन अर्थात रसोईघर में वास्तु के कुछ नियम अपनाने से अन्न की कभी भी कमी नहीं होती है। रसोईघर से आपकी सेहत और समृद्धि जुड़ी हुई है। इसीलिए रसोईघर को आप आयुर्वेद और वास्तुशास्त्र के अनुसार जितना अच्छा रख सकते हैं रखें। लेकिन हम आपको यहां बताने जा रहे ...
4
4
5
जब आप घर में मिटटी वाले जूते लेकर आते हैं और उत्तर दिशा में खोलकर चले जाते हैं तो आपके घर की सकरात्मक ऊर्जा भी नकारात्मक ऊर्जा में बदल जाती है।
5
6
अक्षय तृतीया इस बार 14 मई 2021, शुक्रवार को मनाई जा रही है...। यह वैशाख मास के शुक्‍ल पक्ष की तृतीया तिथि को मनाई जाती है। इस दिन कोई भी शुभ कार्य करने के लिए पंचाग देखने की जरूरत नहीं है।
6
7
यूं तो चांदी एक शुभ धातु है और इस धातु से बनी वस्तुएं शुभ फल ही देती है। उसी तरह मोर,मयूर भी देवताओं को प्रिय है। मां सरस्वती,भगवान श्रीकृष्ण, कार्तिकेय और श्री गणेश जी की तस्वीर में यह शुभ पंछी देखा जा सकता है। आज हम आपको बताएंगे कि घर में चांदी का ...
7
8
दक्षिण और पश्चिम दिशा के मध्य के स्थान को नैऋत्य कहा गया है। यह दिशा नैऋत देव के आधिपत्य में है। इस दिशा के स्वामी राहु और केतु हैं। अत: इस दिशा का विशेष ध्यान देना चाहिए। आओ जानते हैं कि इस दिशा में क्या होना चाहिए और क्या नहीं।
8
8
9
वास्तु शास्त्र में घर, ऑफिस या दुकान में हंस का चित्र या तस्वीर लगाने की बात कही गई है। यह जीवन में शांति, समृद्धि और खुशहाली लाती है।
9
10
बांसुरी घर के वातावरण में मौजूद समस्त नकारात्मक शक्तियों को समाप्त करके सकारात्मक ऊर्जा सक्रिय करने का कार्य करती है।
10
11
ज्योतिष शास्त्र में मुहूर्त और योग का खास महत्व है। यदि आप घर का निर्माण प्रारंभ करने की सोच रहे हैं तो आपको वास्तु और ज्योतिष के कुछ नियमों अनुसार ही गृह निर्माण प्रारंभ करना चाहिए। आओ जानते हैं इस संबंध में संक्षिप्त जानकारी।
11
12
वास्तु शास्त्र में जल का सर्वाधिक शुभ स्थान ईशान कोण को ही माना गया है। इसीलिए घर में पानी सही स्थान पर और सही दिशा में रखने से
12
13
आपका मकान पूर्व, आग्नेय, दक्षिण, नैऋत्य, पश्चिम, वायव्य, उत्तर या ईशान दिशा में है। किसी भी दिशा में हो लेकिन क्या आप जानते हैं कि दिशाएं हमारी दशा बदल देती है। आओ जानते हैं कि कौन सी दिशा सबसे अच्छी होती है और क्यों।
13
14
वास्तु शास्त्र के अनुसार घर की 3 दिशाओं से भरपुर हवा आती रहती है जिसके चलते घर में ऑक्सीजन लेवल में मेंटेन रहता है। भरपूर ऑक्सीजन होने के कारण उस घर के सभी सदस्य सेहतमंद रहते हैं। आओ जानते हैं कौनसी है वह तीन दिशाएं।
14
15
ज्योतिषियों अनुसार फिटकरी के कुछ और भी प्रयोग होते हैं जिनको करने से जीवन में लाभ प्राप्त किया जा सकता है। आओ जानते हैं 5 उपाय
15
16
चांदी सबसे शुभ और शीतल धातु मानी गई है। उसी तरह शुभ और मंगलमयी प्रतीकों में मोर,गाय,हाथी,शेर के अलावा मछली को भी शामिल किया गया है...। आइए जानते हैं चांदी की मछली का महत्व और चलते हैं एक ऐसी जगह जहाँ की चांदी की मछली देश-विदेश में मशहूर है....
16
17
वास्तु के अनुसार घोड़ों की तस्वीर जीवन में तरक्की तरक्की देने वाली होती है, लेकिन इसका किस दिशा और कहां पर लगाना चाहिए यह जानना बहुत जरूरी है। आओ जानते हैं इस संबंध में 5 खास जानकारी।
17
18
घर के कई हिस्सों में वास्तु दोष हो सकता है जिनमें मुख्य दरवाजा भी है। आइए जानते हैं मुख्य दरवाजे से जुड़े हुए कुछ वास्तु दोष
18
19
स्तुत हैं वास्तु के अनुसार 13 ऐसी बातें जो हम सबको जरूर पता होना चाहिए। अगर आप भी अपने जीवन को सुख, शांति और सफलता से भरपूर बनाना चाहते हैं तो अवश्य अपनाएं।
19