0

हिप्नोटिज्म करने के 11 फायदे

मंगलवार,जून 22, 2021
0
1
योग को अपनाने से आपका जीवन बदल सकता है। योग सिर्फ सेहत ही नहीं बल्कि मानसिक दृढ़ता भी देता है। दोनों ही बातों से ही जीवन में सफलता के रास्ते खुल जाते हैं। आओ जानते हैं योग के ऐसे 5 सूत्र जिन्हें अपनाने से आपका जीवन बदल सकता है।
1
2
अनियमित और मसालेदार भोजन के अलावा आरामपूर्ण जीवनशैली के चलते तोंद एक वैश्विक समस्या बन गई है जिसके चलते डायबिटीज, हार्टअटैक, किडनी, मूत्राशय, रीढ़ की हड्डी, कमर दर्द जैसे आदि कई रोगों का खतरा बढ़ जाता है। कुछ भी नहीं है फिर भी तोंद के चलते व्यक्ति ...
2
3
बच्चों का शरीर बहुत ही लचीला होता है इसीलिए वे जल्दी ही सभी तरह के योगासन सीख सकते हैं परंतु बच्चों के शरीर के अनुसार ही उन्हें योग व्यायाम कराना चाहिए क्यों कि लचीला होने के साथ ही उनका शरीर नाजुक भी होता है। ऐसे में ज्यादा कठिन आसन नहीं कराना ...
3
4
आज विश्व योग दिवस है। जानें कैसे हुई विश्व योग दिवस की शुरुआत। पढ़ें योग से संबंधित विशेष सामग्री एक ही स्थान पर...
4
4
5
सिर्फ वेबदुनिया पर... योग मुद्राओं के आकर्षक और उत्कृष्ट सामग्री। 21 जून को हमारे यानी वेबदुनिया के साथ मनाइए विश्व योग दिवस। हम लेकर आए हैं योग दिवस के साथ योग का इतिहास, परम्परा और विशेष आलेख....
5
6
योग के प्रचलन के इतिहास को हम दो भागों में विभक्त कर सकते हैं पहला हिन्दू परंपरा से प्राप्त इतिहास और दूसरा शोध पर आधारित इतिहास। योग का इतिहास बहुत ही वृहद है हमनें इसे यहां पर संक्षिप्त रूप से लिखा है। कहते हैं कि भारत में योग लगभग 15 हजार वर्षों ...
6
7
हर साल 21 जून को विश्व योग दिवस मनाया जाता है। यह दिवस संपूर्ण विश्व में मनाया जाता है। इस अवसर पर विश्‍वभर में लाखों लोग एक साथ योग करके सेहतमंद बने रहने और शांति का संदेश देते हैं। योग दिवस आखिर क्यों मनाया जाता है और इसकी शुरुआत कब से हुई जानिए ...
7
8
21 जून 2021 को विश्व योग दिवस मनाया जाएगा। पहले हमने बताया था कि 84 योगासन होते हैं परंतु योग कितने प्रकार के होते हैं? आओ जानते हैं इस संबंध में महत्वपूर्ण जानकारी।
8
8
9
कोविड 19 कोरोना वायरस के चलते भारत में 25 मार्च 2020 को लॉकडाउन लगा दिया गया था जो 31 मई 2020 तक चला और फिर चरणों में अनलॉक की प्रक्रिया प्रारंभ हुई। इसके बाद अप्रैल 2021 में पुन: चरणों में लॉकडाउन प्रारंभ हुआ और अब पुन: जून से अनलॉक प्रक्रिया ...
9
10
क्या योग/प्राणायाम से ऑक्सीजन लेवल बढ़ाया जा सकता है? फेफड़ों को संक्रमित होने से बचाया जा सकता है? कोरोना काल में योग/प्राणायाम कितना फायदेमंद है। इसके लिए सीधे चर्चा की रिदमिक पावर योग शिक्षा समिति के बरून कुशवाह से -
10
11
नियमित रूप से योगासन, प्राणायाम, ध्यान और योग क्रियाएं करते रहने से आपके जीवन पर 10 तरह के प्रभाव पड़ते हैं। आओ जानते हैं कौनसे हैं वे प्रभाव...
11
12
हर कोई सरल योगासन तो सीख ही जाता है जिससे शरीर लचीला बनता है परंतु कठिन योगासन सिखने या करने में थोड़ा जोखिम भी रहता है। आओ विश्‍व योगा दिवस पर जानते हैं कि वे कौनसे 7 कठिन योगासन है जिन्हें करने से शरीर मजबूत होता है।
12
13
21 जून 2021 को विश्व योग दिवस मनाया जाएगा। योगासन में आसन क्या है, आसन किसे कहते हैं, योगासनों का मुख्य उद्येश्य क्या है, आसन और व्यायाम में फर्क क्या है और यह कितने प्रकार के होते हैं, जानिए योगा डे पर इन सभी को संक्षिप्त रूप में।
13
14
21 जून 2021 को विश्‍व योगा दिवस है। करोनावायरस के संक्रमण के चलते लगे लॉकडाउन में बहुतों ने घर में ही योग करना प्रारंभ करके खुद को महामारी से बचाए रखा। यदि आपने अब तक योग को अपनी दिनचर्या का हिस्सा नहीं बनाया है तो योग दिवस से नियम बनाएं और रोज ...
14
15
आपको लगता है कि आप बुरी आदतों के शिकार बन गए हो और आप उन्हें छोड़ना चाहते हो, लेकिन आप छोड़ नहीं पा रहे हो। जैसे तंबाखू, शराब, अति भोजन, क्रोध और नकारात्मक विचार। इन आदतों को छोड़ने के लिए जानिए 6 महत्वपूर्ण बातें।
15
16
सम्मोहन को अंग्रेजी में हिप्नोटिज्म कहते हैं। यूनानी भाषा हिप्नॉज से बना है हिप्नोटिज्म जिसका अर्थ होता है निद्रा। भारतीय प्राण विद्या का एक प्रकार है सम्मोहन। यहां जानिए सम्मोहन के प्रमुख प्रकार।
16
17
सम्मोहन को अंग्रेजी में हिप्नोटिज्म कहते हैं। हिप्नोटिज्म दो तरह से होता है पहला खुद को सम्मोहित करना और दूसरा दूसरों को सम्मोहित करना। कई देशों में इस विद्या के माध्यम से मानसिक रोग, हताशा, निराशा और अविश्‍वास की भावना को दूर किया जाता है। ...
17
18
डायबिटीज एक महामारी है। इसे मधुमेह और शुगर भी कहते हैं। एक अनुमान के मुताबीक दुनिया में 42 करोड़ से ज्यादा लोग इस रोग के शिकार है। यह रोग अनियमित जीवनशैली और अत्यधिक रूप में बाहर का भोजन करने से भी होती है। यह अधिक चिंता करने या अनिद्रा के कारण भी ...
18
19
विश्व में ध्यान करने का प्रचलन बढ़ा है। ध्यान करने से आपकी मोमोरी बढ़ती है, दिमाग शांत रहता है और कई तरह के मानसिक रोगों का भी इलाज होता है। ध्यान पर विश्‍वभर में कई तरह के शोध हुए हैं। कुछ वर्ष पूर्व हुए शोध ने नए तथ्‍य सामने रखे हैं।
19