0

नवरात्रि फलाहार : उपवास में फायदेमंद रहेंगे कच्चे केले के ये 5 खास व्यंजन

गुरुवार,अक्टूबर 22, 2020
Navratri Festival 2020
0
1
दोनों दालों को कचोरी बनाने के 3-4 घंटे पूर्व भिगो दें। कुछ दाल छोड़ कर बाकी को दरदरा पीस लें। अब कड़ाही में थोड़ा-सा तेल लेकर सौंफ का बघार व हींग डालें,
1
2
विजयादशमी के पर्व पर मीठे-नमकीन व्यंजन बनाए जाते हैं। इन पारंपरिक पकवानों के बिना दशहरे का त्योहार अधूरा है, पढ़ें मीठे व्यंजन बनाने की 3 सरल विधियां...
2
3
इन खास नमकीन व्यंजनों के बिना अधूरा है दशहरे का पावन त्योहार, पढ़ें 3 सरल विधियां...
3
4
1 कप मैदा, 1 कप दूध, 1 कप शक्कर, 1 चम्मच नींबू का रस, 1 चम्मच सौंफ, घी अथवा रिफाइंड तेल (मोयन और तलने के लिए)
4
4
5
लौकी और खोया का जायकेदार हलवा बनाने के लिए सबसे पहले एक कड़ाही में घी डालकर किसी हुई लौकी को हल्का भूनकर अलग रख लें। अब कड़ाही में थोड़ा-सा पानी डालें, फिर चीनी डालें।
5
6
Steps 1. राजगिरे व सिंघाड़े का आटा छानकर हल्का गुलाबी होने तक सेंक लें। Steps 2. दाने को सेंक कर बारीक पिस लें।
6
7
सबसे पहले समा (मोरधन) चावल को धोकर मिक्सी में दरदरा पीस लें।
7
8
एक कड़ाही में पाइनापल का तैयार पल्प और शकर डालकर धीमी आंच पर चलाते हुए गाढ़ा कर लें। दूसरी तरफ एक कड़ाही में मावा सेंक लें, फिर मावे को पाइनापल में मिक्स करके गाढ़ा होने तक सेंकें।
8
8
9
कड़ाही में 1 चम्मच घी गरम करके जीरा, मीठा नीम और अदरक-मिर्च का पेस्ट डालें। फिर दही में आलू, पिसी मूंगफली और नमक मिलाएं और कड़ाही में डाल दें।
9
10
अमावस्या पर खीर का भोग लगाने से शिवजी प्रसन्न होकर खुशहाली का आशीष देते हैं। पढ़ें सरल विधि...
10
11
मालपुआ एक पारंपरिक भारतीय मिठाई है। भगवान को इसका भोग लगाने से वे अतिप्रसन्न होते हैं। अमावस्या पर भोलेनाथ को लगाएं मालपूए का भोग...
11
12
सबसे पहले बेसन को छान लें। उसमें चुटकी भर मीठा पीला रंग मिलाइए और पानी से घोल तैयार कर लीजिए। अब एक तपेले में पानी एवं शकर को मिलाकर एक तार की चाशनी तैयार कर लें।
12
13
पुरुषोत्तम मास में पीले रंग की चीजों का नैवेद्य चढ़ाने से भगवान अतिप्रसन्न होते है और अपने भक्तों पर अपनी असीम कृपा बरसाते हुए विशेष वरदान भी देते हैं।
13
14
एक तो अभी कोरोना काल चल रहा है और इन दिनों मौसम बार-बार बदल रहा है और मौसम बदलते ही सर्दी-खांसी, छींक, बुखार आदि की शुरुआत हो ही जाती है।
14
15
अधिक मास श्रीविष्णु का प्रिय मास है। इस माह में पीले रंगों की मिठाइयों का भोग लगाने से वे प्रसन्न होकर आशीष देते हैं। आइए पढ़ें बेसन के लड्डू बनाने की आसान विधि...
15
16
एक कड़ाही में, नारियल, काजू, पिस्ता व शकर डालें तथा दूध डाल कर पकाते रहें। मावा जैसा गाढ़ा होने लगे तो आंच से उतारें व इलायची मिला लें। अब चावल
16
17
किसी भी चतुर्थी तिथि पर श्रीगणेश का पूजन करते समय मोदक का प्रसाद अर्पण करने से वे प्रसन्न होकर वरदान देते हैं। आइए जानें सरल विधि...
17
18
खीर बनाने से एक-दो घंटे पूर्व चावल धोकर पानी में गला दें। दूध को मोटे तले वाले बर्तन में डालकर गैस पर चढ़ा दें।
18
19
श्राद्ध महालय प्रारंभ हो चुका है। पितृ पक्ष के दिनों में अपने पितरों का तर्पण करते समय उनका पसंदीदा भोजन अवश्य बनाना चाहिए ताकि आपके पितृ प्रसन्न होकर सभी मनोकामना पूर्ण होने का आशीष आपको प्रदान करें। आइए जानें पितृ भोग की 7 सरल विधियां-
19