अनुराग ठाकुर को महंगा पड़ा बयान, चुनाव आयोग ने मांगी रिपोर्ट

पुनः संशोधित मंगलवार, 28 जनवरी 2020 (08:19 IST)
नई दिल्ली। केंद्रीय मंत्री को दिल्ली के रिठाला में एक चुनावी रैली के दौरान विवादास्पद नारे लगवाना खासा महंगा पड़ गया। दिल्ली के मुख्य निर्वाचन अधिकारी (सीईओ) कार्यालय ने इस मामले में उत्तर पश्चिम जिले के चुनाव अधिकारी से रिपोर्ट मांगी है। कांग्रेस ने इसकी तीखी आलोचना करते हुए से ठाकुर के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की मांग की थी।
दिल्ली सीईओ कार्यालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, हमने घटना का संज्ञान लिया है और जिला चुनाव अधिकारी से एक रिपोर्ट मांगी है। हालांकि हमें अभी तक कोई शिकायत प्राप्त नहीं हुई है।
उल्लेखनीय है कि रिठाला से भाजपा के उम्मीदवार मनीष चौधरी के समर्थन में एक जनसभा में ठाकुर ने शाहीनबाग में चल रहे सीएए विरोधी प्रदर्शन और कथित देश विरोधी नारों से विपक्षी पार्टियों को जोड़ा और भीड़ से विवादित नारे लगाने को कहा। उन्होंने कहा, 'देश के गद्दारों को', जिस पर भीड़ ने कहा, 'गोली मारो स***को'।

ठाकुर ने भीड़ से इतनी तेज़ आवाज़ में नारा लगाने को कहा कि इसकी आवाज़ केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह सुन सकें। भाजपा के रिठाला उम्मीदवार को गिरिराज सिंह का करीबी माना जाता है।

उल्लेखनीय है कि दिल्ली में 8 फरवरी को होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए प्रचार जोरों पर है। इससे पहले चुनाव आयोग ने माडल टॉउन से भाजपा प्रत्याशी कपिल मिश्रा को भी विवादास्पद ट्वीट करने पर 48 घंटे तक चुनाव प्रचार करने से रोक दिया था।



और भी पढ़ें :