भोपाल, इंदौर फिर बन रहे कोरोना के हॉटस्पॉट!, मध्यप्रदेश में 3 दिन में कोरोना के 66 नए केस

कोरोना संक्रमण दर में भी इजाफा, प्रशासन की अपील कोरोना प्रोटोकॉल का करें पालन

Author विकास सिंह| पुनः संशोधित गुरुवार, 28 अक्टूबर 2021 (14:37 IST)
भोपाल। प्रदेश के दो सबसे बड़े शहर और एक बार फिर कोरोना के हॉटस्पॉट बनते हुए दिख रहे है। दोनों ही शहरों में बीते तीन दिनों से लगातार कोरोना के बढ़ते केसों ने त्यौहारों के मौसम में चिंता बढ़ा दी है। वहीं अब नरसिंहपुर के बाद अब धार और उज्जैन में कोरोना के नए केस सामने आ गए है। प्रदेश में मात्र तीन दिन में
कोरोना के 66 नए केस मिलने के साथ संक्रमण रेट में भी इजाफा हो गया है।

अगर आंकड़ों की बात करें तो प्रदेश में 26 अक्टूबर को 27 केस और 27 अक्टूबर को 20 केस और आज 28 अक्टूबर को 19 नए केस मिले है। आज सामने आए नए मामलों में इंदौर के 8 और भोपाल के 5 केस शामिल है। वहीं इससे पहले मंगलवार को कोरोना के 27 नए केस मिले जिसमें 9 इंदौर के, 8 भोपाल के और नरसिंहपुर में 5 नए मामले थे। वहीं बुधवार को एक बार फिर 20 नए केस सामने आ गए है। प्रदेश में वर्तमान में कुल एक्टिव केस 115 है। प्रदेश में कोरोना संक्रमण की दर 0.03% और रिकवरी रेट 98.60% है।
Corona
नए भोपाल में बढ़ रहा संक्रमण- प्रदेश की राजधानी भोपाल में कोरोना संक्रमण तेजी से बढ़ता जा रहा है। अलर्ट करने वाली बात यह है कि एक बार फिर राजधानी में कॉन्टैक्ट ट्रेंसिग के जरिए कोरोना के नए मरीज मिलने लगे है। इसके साथ ही 5 दिन में 15 से ज्यादा मरीज कॉन्टैक्ट ट्रेंसिग के जरिए मिल रहे है। गोविंदपुरा इलाके में रहने वाले एक ही परिवार के 5 लोगों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। राजधानी में एक्टिव केसों की संख्या 40 से अधिक पहुंच गई है। अब तक राजधानी में कोरोना के एक या दो केस मिल रहे थे वहीं पिछले 3 दिन में मरीजों की संख्या में अप्रत्याशित तरीके से उछाल आया है।
इंदौर में कोरोना के नए वैरिंएट से हड़कंप-इंदौर में कोरोना वायरस के नए वैरिंट A.Y.4 मिलने के बाद अब प्रशासन सतर्क हो गया है। नए वैरिएंट से संक्रमित लोगों की प्रशासन ने कॉन्टैक्ट ट्रैंसिग तेज कर दी है। कलेक्टर मनीष सिंह ने लोगों से कोरोना प्रोटोकॉल के पालन करने की अपील की है। गौरतलब है कि इंदौर में कोरोना के नए वैरिंयस से सात लोग संक्रमित पाए गए है।

एक ओर प्रदेश में कोरोना संक्रमण की रफ्तार लगातार बढ़ती हुई दिख रही है और नए केस मिलने की संख्या तेजी से बढ़ रही है लेकिन लोग बेफ्रिक होकर बाजारों में पहुंच रहे है। सार्वजनिक स्थानों पर बहुत कम लोग ही मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए नजर आते है।

त्यौहारों के सीजन में‌ तीन दिन में 66 केस आने के बाद एक बार फिर कोरोना संक्रमण का खतरा बढ़ता हुआ दिख रहा है। अगर कोरोना संक्रमण की दर को भी देखा जाए तो उसमें भी अब इजाफा हो गया है। अब तक 0.2 फीसदी रहने वाली संक्रमण दर 0.3 फीसदी हो गई है। पिछले सप्ताह तक प्रदेश में कोरोना के नए मामलों की संख्या सिंगल डिजिट में रहती थी लेकिन अचानक से दो दिनों से यह डबल अंक में पहुंच गई है।



और भी पढ़ें :