BKU-BJP में टकराव शुरू : नरेश टिकैत ने दी चेतावनी सिसौली में घुसने की हिम्मत न करें विधायक, संजीव बालियान बोले- हमारा भी खून वही, छोड़कर नहीं जाएंगे इलाका

हिमा अग्रवाल| Last Updated: रविवार, 15 अगस्त 2021 (01:23 IST)
मुजफ्फरनगर। बाबा टिकैत की कर्मस्थली और की राजधानी सिसौली में आज भाजपा बुढ़ाना विधानसभा क्षेत्र के उमेश मलिक की गाड़ी पर कालिख फेंकते हुए पथराव हो गया। हमले का आरोप 3 कृषि बिल का विरोध कर रहे किसानों पर लगा है। भाजपा विधायक उमेश मलिक के विरोध की जानकारी मिलते ही पुलिस वहां पर पहुंच गई, इसी बीच कुछ लोगों ने गाड़ी पर कालिख फेंक दी और पथराव कर दिया।
पुलिस ने किसी तरह भीड़ को नियंत्रित करते हुए विधायक की गाड़ी को वहां से बाहर निकाला और घटना की जांच में जुट गई है। इस घटना से अपना पल्ला झाड़ते हुए भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने एक आपात पंचायत बुलाकर विधायक को गांव में न घुसने की चेतावनी दे डाली।

बीजेपी विधायक के साथ हुई घटना के बाद भारतीय किसान यूनियन और भाजपा के मंत्री, विधायक और कार्यकर्ताओं में जुबानी जंग छिड़ गई है। भाजपा के बुढ़ाना विधानसभा क्षेत्र से विधायक उमेश मलिक की गाड़ी फर कालिख और पथराव की सूचना मिलते ही केंद्रीय मंत्री भौराकलां थाने पहुंच गए।

मंत्रीजी और विधायक के थाने पर होने की जानकारी जैसे ही भाजपा के स्थानीय कार्यकर्ताओं को लगी तो वे लोग बड़ी संख्या में थाने पहुंच गए, वहीं मामला सत्तारूढ़ पार्टी से जुड़ा होने के चलते मुजफ्फरनगर के जिलाधिकारी और एसएसपी थाने पर पहुंचे हैं।

सरकार के मंत्री संजीव बालियान भौराकलां थाने पहुंचे और वहां अपने विधायक समेत पीड़ित कार्यकर्ताओं से बातचीत की। उनकी मौजूदगी में काफी देर तक थाने में भाजपा का कब्जा रहा। संजीव बालियान ने कहा कि जिन लोगों ने यह कार्य किया है, उनके खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाएगी।

इसी दौरान विधायक उमेश मलिक ने कहा कि यह हमला षड्यंत्र के तहत भारतीय किसान यूनियन के लोगों ने किया है, घटना के समय नरेश टिकैत के छोटे भाई खुद मौजूद थे। उन पर जानलेवा हमला हुआ है, जिसमें उनके दो कार्यकर्ता और दो सुरक्षाकर्मियों को चोटें आई हैं। ओमेंद्र और सहदेव की तरफ से पुलिस को तहरीर दी जा रही है, वहीं दूसरी तरफ सिसौली में नरेश टिकैत ने भारतीय किसान यूनियन पर हमले का आरोप लगता देख आनन-फानन में एक आपात पंचायत बुलाई गई।

इस पंचायत में उन्होंने गरजते हुए चेतावनी दी कि विधायक सिसौली में घुसने की हिमाकत न करें वरना कुछ भी उसके साथ हो सकता है। नरेश टिकैत बोले यदि इस मामले में समझौता होगा तो मान और सम्मान के साथ, अन्यथा मुकदमा हम पर होगा तो हम पीछे हटने वाले नही है, हम विधायक के साथ जिन्होंने इस काम को किया है उन पर भी मुकदमा होगा।

सिसौली गांव की 6 हजार वोटों की बदौलत उमेश मलिक विधायक बने है। ये लोग बिलकुल झूठे है, सही तो कुछ करते ही नहीं है। उन्होंने सिसौली गांव के ग्रामीणों से यह भी कहा कि आगामी 5 सितंबर को एक महापंचायत होने जा रही है, जिसमें दूसरे राज्यों से भी किसान आ रहे हैं, अब इस होने वाली महापंचायत मान-सम्मान गांव के हाथों में है।
घटना के समय मौके पर मौजूद बीजेपी के पूर्व मंडल अध्यक्ष सिसौली ओमेंद्र मुखिया ने घटना की जानकारी देते हुए बताया कि गांव में जनकल्याण समिति का स्थापना दिवस था। इसमें विधायक और हमें भी आमंत्रित किया हुआ था, कार्यक्रम के बाद वापसी जाते समय जब हम कार्यक्रम स्थल से बाहर निकले तो भीड़ थी जिन्होंने हमारे ऊपर हमला किया गाड़ी के शीशे तोड़े कालिख फेंकी, मारपीट की, नरेश टिकैत के भाई छोटे भाई भी मारपीट में वहां मौजूद थे।

बीजेपी विधायक उमेश मलिक ने बताया कि कार्यक्रम में 1 घंटे तक यूनियन के लोगों ने नारेबाज़ी करते हुए हंगामा किया, गोलियां चलाईं और जब में वहां से निकला तो रास्ते ब्लॉक कर मेरी गाड़ी पर काला तेल डाल दिया गया, मैं गाड़ी से नीचे भी नहीं उतर पाया, गाड़ी के शीशे तोड़ दिए गए, जिसमें हमारे पूर्व मंडल अध्यक्ष ओमेंद्र मुखिया, सभासद नामित सहदेव, मेरा गनर कपिल दीपक और मेरे सहायक धर्मेंद्र को इसमें चोटें आई हैं।
ALSO READ:

विभाजन विभीषिका स्मृति दिवस : कांग्रेस का तंज, कहा- UP चुनाव आते ही PM को विभाजन की आई याद
इस मामले में कार्रवाई के लिए तहरीर दी जा रही है। इस मामले में एक विरोधकर्ता किसान अभिजीत बालियान का कहना है कि कार्यक्रम में किसान शांतिपूर्वक प्रदर्शन कर रहे थे, लेकिन विधायक के कुछ लोगों ने उन्हें गाली देते हुए धक्का-मुक्की की थी। इसके बाद किसानों ने उन्हें वहां से हटाने का काम किया है। अभिजीत ने बीजेपी विधायक और मंत्रियो को गांव में न आने की चेतावनी भी देते हुए कहा कि कृषि बिल को लेकर किसानो में गुस्सा है, इसलिए जब तक यह बिल वापस नहीं होगा इनका विरोध किया जाएगा।
नरेश टिकैत की पंचायत के बाद केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान ने कहा कि कोई भी व्यक्ति डर से सिसौली छोड़कर नहीं जाएगा, हमारा भी वही खून है, वही इलाका है, हम कहीं छोड़कर नहीं जाएंगे, किसी को वहम हो तो अपने दिमाग से निकाल दो, कप्तान साहब या तो कार्रवाई कर दो नहीं तो बीच में से हट जाओ और मैं उम्मीद करूंगा आज के बाद जनपद में कानून का राज कायम रहेगा।
मुजफ्फरनगर पुलिस ने भाजपा विधायक पर हमले की तहरीर मिलने के बाद भारतीय किसान यूनियन के कार्यकर्ताओं और किसानों पर मुकदमा पंजीकृत कर लिया है। भाजपा नेता की तहरीर पर भौराकलां थाने में 9 व्यक्तियों को नामदर्ज व अन्य के खिलाफ अज्ञात में आईपीसी की धारा 147,148,452,307,323,332, 353,427 में केस दर्ज किया है।

मुकदमा दर्ज होने के बाद BKU राष्ट्रीय अध्यक्ष नरेश टिकैत का कहना है कि इस मामले में पहले हम गिरफ्तारी देंगे, बाद में हमारे बच्चे गिरफ्तार होंगे। देखना होगा कि आने वाले दिनों में BKU और के नेताओं का विवाद बढ़ता है या समझौता होगा ये अभी भविष्य के गर्भ में छिपा हुआ है।



और भी पढ़ें :