रविवार, 21 अप्रैल 2024
  • Webdunia Deals
  1. समाचार
  2. मुख्य ख़बरें
  3. राष्ट्रीय
  4. This will be the new look of Parliament employees
Written By
Last Updated : मंगलवार, 12 सितम्बर 2023 (13:50 IST)

कमल का फूल और मणिपुरी टोपी, ऐसा होगा संसद के कर्मचारियों का नया लुक

कमल का फूल और मणिपुरी टोपी, ऐसा होगा संसद के कर्मचारियों का नया लुक - This will be the new look of Parliament employees
नई दिल्ली। मोदी सरकार में नए संसद भवन बनकर तैयार है। गणेश चतुर्थी के दौरान इस नए भवन में संसदीय कार्यवाही का श्रीगणेश होगा। शिफ्ट होने को लेकर तैयारियां की जा रही हैं। लेकिन अब संसद भवन के कर्मचारियों का ड्रेस कोड भी बदलने वाला है। यानी संसद के कर्मचारी नए लुक में नजर आएंगे।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक संसद भवन के कर्मचारियों के परिधान को लेकर बड़ा बदलाव किया जा रहा है। संसद भवन के कर्मचारियों के लिए नई पोशाक डिजाइन की गई है। कर्मचारियों की नई ड्रेस कोड में भारतीयता की छाप होगी। जबकि संसद भवन में मौजूद रहने वाले मार्शल भी अब सफारी सूट की जगह क्रीम रंग के कुर्ता- पैजामा में नजर आएंगे।

महिला कर्मचारी के लिए नई डिजाइन की साड़ियां : संसद की महिला कर्मचारियों की बात करें तो पीजीडी की ड्रेस में भी बदलाव किया जा रहा है। महिला कर्मचारी नई डिजाइन की साड़ियों में नजर आएंगी। कर्मचारियों के नए पोशाक को National Institute of Fashion Technology NIFT ने डिजाइन किया है। इसके तहत सचिवालय के कर्मचारियों का बंद गला सूट से बदल कर मैजेंटा या गहरे गुलाबी रंग की नेहरु जैकेट कर दी जाएगी। उनके शर्ट भी गहरे गुलाबी रंग के होंगे, जिन पर कमल का फूल बना होगा और वे खाकी रंग की पैंट पहनेंगे।

मार्शल के ड्रेस भी बदलाव : लोकसभा और राज्यसभा के मार्शल की ड्रेस भी बदली जा रही है। अब वे मणिपुरी पगड़ी पहनेंगे। संसद भवन के सुरक्षा कर्मचारियों की वेशभूषा भी बदली जाएगी। अब तक वे सफारी सूट पहनते आए हैं। इसके बजाए उन्हें सैनिकों की तरह कैमोफ्लेज ड्रेस दी जाएगी। बता दें कि 18 सितंबर को पहले दिन पुराने संसद भवन में ही बैठक होगी। मीडिया में आई रिपोर्ट्स के मुताबिक नई संसद भवन में गणेश चतुर्थी के दिन 19 सितंबर को विधिवत पूजा के बाद शुभारंभ होगा। इसके बाद इसी नए भवन से संसदीय कार्यवाही संचालित होगी।
Edited by navin rangiyal
ये भी पढ़ें
क्या डीजल गाड़ियों पर लगेगा 10% अतिरिक्त GST? क्या बोले गडकरी?