0

भारतीय गेहूं के निर्यात पर रोक से जी-7 देश नाराज, खाद्यान्नों की कीमत बढ़ने का डर

बुधवार,मई 18, 2022
0
1
रूस द्वारा यूक्रेन पर 24 फ़रवरी के आक्रमण के बाद से, भारत सहित कई देशों के सर्वोच्च नेता, दोनों को समझाने-बुझाने और बीच-बचाव करने के प्रयास कर चुके हैं, पर किसी की दाल अभी तक गली नहीं है।
1
2
एलियंस हमें अब तक दिखाई पड़े हों या नहीं, अमेरिका में खगोल-भैतिकी की दो महिला वैज्ञानिकों का अपनी खोज में कहना है कि वे शायद वर्षों से हमें देख रहे हैं। स्टीफ़न हॉकिंग को अल्बर्ट आइंस्टीन जैसा ही एक महान वैज्ञानिक माना जाता है। मार्च 2018 में वे इस ...
2
3
जलवायु परिवर्तन और तापमानवर्धन की रोकथाम एक ऐसी अपूर्व चुनौती है जिसका नित नए चिंतन और नई तकनीकों द्वारा उत्तर देना अनिवार्य हो गया है।
3
4
यूक्रेन पर आक्रमण के बाद से रूसी सेना न केवल उस तेज़ी से आगे नहीं बढ़ पा रही है, जैसा रूस ने सोचा था, उसे जान-माल की भी भारी क्षति उठानी पड़ रही है।
4
4
5
हर साल 1 मई का दिन अंतराष्ट्रीय मजदूर दिवस के रूप में मनाया जाता है। इसका मुख्य उद्देश्य है मजदूरों की भलाई के लिए काम करना व मजदूरों में उनके अधिकारों के प्रति जाग्रति लाना। इसे श्रमिक दिवस या मई दिवस भी कहा जाता है।
5
6
जर्मन तानाशाह अडोल्फ हिटलर का दक्षिणी जर्मनी के सुरम्य आल्प्स पर्वतों की गोद में बसे बेर्शतेसगाडन में एक निजी बंगला था। नाम था ‘बेर्गहोफ़।’ जब कभी वह अपने इस बंगले में होता था, तब उसके लिए भोजन पास के ही एक अस्पताल की रसोई से आया करता था। 1944 की ...
6
7
केन्द्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने हिन्दी दिवस के मौके पर 'एक देश एक भाषा' की बात कहकर नए विवाद को हवा दी थी। उनके इस बयान का काफी विरोध हुआ था। इसके बाद उन्होंने हाल ही में एक बार फिर बयान दिया कि हिन्दी को विकल्प के तौर पर लिया जाना चाहिए, इसके जवाब ...
7
8
सांप्रदायिक दंगों पर 1928 में 'कीर्ति' पत्रिका में छपा भगत सिंह का एक लेख आज भी उतना ही प्रासंगिक है जितना लगभग 100 साल पहले था। दरअसल 1919 के जालियांवाला बाग हत्याकाण्ड के बाद ब्रिटिश सरकार ने सांप्रदायिक बंटवारे की राजनीति (Divide and Rule)के ...
8
8
9
अप्रैल का मध्य यूरोप सहित दुनिया के सभी ईसाइयों के लिए उनके सबसे पावन पर्व ईस्टर का समय था। गुड फ्राइडे ईसा मसीह को सूली पर चढ़ाए जाने का शोक-दिवस होता है और उसके बाद का तीसरा दिन उनके पुनर्जीवित हो जाने की खुशी का दिन। लेकिन, स्वीडन में इस बार का ...
9
10
उत्तर भारत और पूर्वोत्तर के इलाके में भूंकप यानी धरती के डोलने-थरथराने का सिलसिला नया नहीं है। लेकिन पिछले कुछ समय से यह सिलसिला बेहद तेज हो गया है। इस इलाके के किसी-न-किसी हिस्से में आए दिन भूकंप के झटके लग रहे हैं। पिछले साल मई और जून के महीने में ...
10
11
देशों के बीच विवादों में मामला पूरी तरह काला या सफ़ेद नहीं होता। तब भी, यूक्रेन के प्रसंग में रूस साफ़ आक्रमणकारी है और बर्बर युद्ध-अपराध भी हुए हैं। राष्ट्रपति पुतिन पर मुकदमा चलाने की तैयारियां शुरू हो चुकी हैं।
11
12
भारत के इतिहास में कुछ तारीखें कभी नहीं भूली जा सकती हैं। इनमें बैसाखी पर्व का दिन कभी भी भुलाया नहीं जा सकता, क्योंकि इसी दिन 13 अप्रैल 1919 को पंजाब में अमृतसर के जलियांवाला बाग (Jallianwala Bagh Day 2022) में ब्रिटिश ब्रिगेडियर जनरल रेजीनॉल्ड ...
12
13
जलियांवाला बाग हत्याकांड ब्रिटिश काल के अंत और इतिहास का सबसे काला दिन। 13 अप्रैल, 1919 को वैसाखी के दिन 1000 निहत्थे भारतीयों को गोलियों से भून दिया गया था।
13
14
भाजपा में सतही तौर पर देखा जाए तो नेतृत्व को लेकर कहीं कोई गड़बड़ नहीं है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी निर्विवाद रूप से पार्टी के सर्वोच्च नेता हैं ही और उनके बाद नंबर दो की पोजिशन पर भी गृह मंत्री अमित शाह के सामने कोई चुनौती नहीं है। लेकिन उत्तर ...
14
15
फ्रांस के वर्तमान राष्ट्रपति इमानुएल माक्रों और भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की दोस्ती किसी से छिपी नहीं है। फ्रांस लंबे समय से भारत की प्रतिरक्षा तैयारियों में उदारतापूर्वक हाथ बंटा रहा है। ऐसे में भारत के लिए फ्रांस के राष्ट्रपति चुनाव का ...
15
16
क़रीब 5 प्रतिशत लोग अपने जीवनकाल में मौत से मिलकर लौट आने के अनुभवों से गुज़रते हैं, लेकिन शायद ही किसी को अपनी आपबीती सुनाते हैं। क्या वे सचमुच अपने जीवनकाल की कोई सिंहावलोकन फ़िल्म देखते हैं? विज्ञान क्या कहता है?
16
17
अब पाकिस्तान में इमरान सरकार का बचना मुश्किल है। कल पाकिस्तान के सेनापति क़मर बाजवा और आईएसआई के मुखिया जनरल नदीम अंजुम से इमरान की काफी लंबी भेंट हुई। ये दोनों इमरान से नाराज हैं। यदि इमरान ने इन दोनों को पटा लिया हो तो हो सकता है कि इमरान हारी हुई ...
17
18
भारत में इस समय आधिकारिक तौर पर राष्ट्रीय स्तर के मान्यता प्राप्त कुल सात राजनीतिक दल हैं, लेकिन आने वाले समय में इनकी संख्या में इजाफा हो सकता है। हाल ही में हुए 5 राज्यों के विधानसभा चुनावों के बाद आम आदमी पार्टी राष्ट्रीय स्तर की पार्टी बनने की ...
18
19
कोविड-19 कोरोना वायरस के चलते 22 मार्च 2022 को जनता कर्फ्यू लगा था और 23 मार्च को देशभर में लॉकडाउन लगा दिया गया। करीब जुलाई के बाद प्रतिबंधों में कुछ ढील दी गई और फिर दूसरी लहर प्रारंभ हो गई जिसके चलते कई जगहों पर पुन: लॉकडाउन लगा दिया गया। फिर वही ...
19
20
कोविड 19 कोरोना वायरस के वैश्विक संकट के बाद युग बदल गया है। लॉकडाउन के कारण कई लोगों ने सीख हासिल की है तो बहुतों का जीवन पुन: पुराने ढर्रे के अनुसार ही चल रहा है। इस दौर ने लोगों को सिखाया की किस तरह संकटकाल में जीवन गुजारना चाहिए और क्या योजना ...
20
21
22 मार्च को विश्व जल संरक्षण दिवस (World Water Saving Day) है। पूरा विश्व हर साल जल संरक्षण के प्रति जागरूकता फैलाने के उद्देश्य से इस दिन को मनाता है।
21
22
हर साल 21 मार्च को पेड़ों के महत्व के विषय में जन-जागरूकता फैलाने के लिए अंतरराष्ट्रीय स्तर पर 'विश्व वानिकी दिवस या अंतरराष्ट्रीय वन दिवस' (21st International Day Of Forests) मनाया जाता है।
22
23
हाल ही में रिलीज हुई एक फिल्म 'द कश्मीर फाइल्स' (The Kashmir Files) बहुत चर्चा में है। इस फिल्म को निर्माता-निर्देशक विवेक अग्निहोत्री ने बनाया है और अनुपम खेर, दर्शन कुमार, पल्लवी जोशी, मिथुन चक्रवर्ती, पुनीत इस्सर एवं अतुल श्रीवास्तव ने अभिनय किया ...
23
24
पंजाब में राजनीतिक और आर्थिक तौर पर बहुत कुछ बदल गया है। जिस तरह उत्तर प्रदेश के बारे में कहा जाता है कि केंद्र की सत्ता का रास्ता उत्तर प्रदेश से होकर गुजरता है या प्रधानमंत्री तो उत्तर प्रदेश ही होता है वैसे ही पंजाब के बारे में कहा जाता है कि ...
24
25
इस समय 5 राज्यों में विधानसभा के चुनाव हो रहे हैं। इन चुनावों से लेकर 2024 में होने वाले लोकसभा चुनाव तक जितने भी राज्यों में विधानसभा के चुनाव होना हैं, उनमें से एक उत्तरप्रदेश को छोड़कर बाकी सभी राज्यों में भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस के बीच ही ...
25
26
हिज़ाब विवाद के संदर्भ में एक सवाल बार बार मेरे ज़हन में आ रहा है कि इस वक़्त सबसे जरूरी क्या है? एक स्त्री, एक स्वतंत्र स्त्री, उसका विकास, उसका रक्षण, उसका जीवन,उसकी इच्छाएं, उसके सपने??? या एक स्त्री के परिधान, उसका धर्म यह जरूरी है या फिर एक स्त्री ...
26
27
साल 2001 की सुबह सब कुछ सामान्य था। मंत्रीगण संसद भवन में पहुंच रहे थे। तभी फर्जी कार ने संसद भवन में जैसे-तैसे करके प्रवेश कर लिया। इसके बाद मौका देखते ही आतंकवादियों ने फायरिंग शुरू कर दी थी।
27
28
सत्य सनातन है, सत्य की महत्ता सब स्वीकारते हैं। हमारे समूचे जीवन के प्रसंगों में आजीवन सत्य को अपनाने की हम सब प्राय: हिम्मत ही नहीं जुटा पाते। ऐसा करते हुए हम झिझकते भी नहीं। असत्य, सत्य का न होना न होकर सत्य को अपनाने की हिम्मत का न होना है। गांधी ...
28
29
'भारत निर्वाचन आयोग' का गठन भारतीय संविधान के लागू होने से 1 दिन पहले 25 जनवरी 1950 को हुआ था, क्योंकि 26 जनवरी 1950 को भारत एक गणतांत्रिक देश बनने वाला था
29
30
हरिद्वार (उत्तराखंड) में पिछले दिनों संपन्न विवादास्पद 'धर्मसंसद' में भाग लेने वाले सैकड़ों महामंडलेश्वरों, संतों, हज़ारों श्रोताओं और आयोजन को संरक्षण देने वाली राजनीतिक सत्ताओं के लिए हालिया समय थोड़ी निराशा का हो तो आश्चर्य की बात नहीं। किसी को ...
30
31
Bangladesh Liberation War 1971:भारत का विभाजन 1947 में जब हुआ तो यह बड़ा अजीब था कि जिन्ना की सोच के सामने नतमस्तक होते हुए भारत के दोनों ओर का क्षेत्र उन्हें दे दिया गया जिसे पूर्वी पाकिस्तान और पश्चिमी का पाकिस्तान कहा जाने लगा। इसके बीच में ...
31
32
जहां तक हिंदू धर्म की बात है तो यह सनातन और दुनिया का सबसे प्राचीन धर्म है। दुनिया की तमाम बड़ी हस्तियां हिंदू धर्म से प्रभावित रही हैं और इस धर्म के विचारों और संस्कृति से प्रभावित होकर उसे अपनाती रही हैं। हिंदू धर्म अपनाने वालों की संख्या दुनियाभर ...
32