एडवाइजरी: कोरोना वैक्सीनेशन के नाम पर ऐसे हो रहा सायबर फ्रॉड,आप भी रहें सावधान,टोल फ्री नंबर 155260 पर करें कॉल

मध्यप्रदेश पुलिस मुख्यालय की सायबर सेल ने जारी की एडवाइजरी

Author विकास सिंह| Last Updated: शुक्रवार, 19 मार्च 2021 (19:03 IST)
भोपाल। मध्यप्रदेश में कोरोना वैक्सीनेशन के नाम रीवा सहित कई जिलों में सायबर ठगी का मामला सामने आने के बाद अब स्टेट सायबर सेल ने एडवाइजरी जारी लोगों को सायबर ठगों से सावधान किया है। सायबर सेल ने जो एडवाइजरी जारी की है उसमें कहा गया है कि साइबर अपराधी लोगों को मोबाइल पर या ईमेल के माध्यम से संपर्क कर खुद को डब्ल्यूएचओ (W.H.O) या भारत सरकार की ड्रग अथॉरिटी ऑफ इंडिया से संबंधित बताकर कोविड-19 वैक्सीन के लिए रजिस्ट्रेशन करने को कहते हैं और उसके बाद अलग-अलग तरीकों से आपकी वित्तीय गोपनीय जानकारी प्राप्त कर ऑनलाइन वित्तीय ठगी को अंजाम दे रहे हैं।
सायबर सेल ने लोगों को सावधान करते हुए कहा यदि कोई आप से रजिस्ट्रेशन या अन्य लोगों से पहले वैक्सीन लगवाने के नाम पर पैसों की मांग करता है तो उसकी शिकायत टोल फ्री नंबर 155260 पर तुरंत कॉल करें।
सायबर ठग ऐसे बनाते है शिकार-सायबर सेल ने जो एडवाइजरी जारी की है उसमें सायबर ठगों की पूरी कार्यप्रणाली का बताते हुए लोगों को सावधानी बरतने को कहा गया है।
1-अपराधी खुद को किसी सरकारी संस्था से संबंधित बताते हुए आपसे संपर्क कर कहता हैं कि कोविड-19 वैक्सीनेशन के लिए आपका नाम लिस्ट में जुड़वाने के लिए पहले आपसे आधार कार्ड नंबर पूछता हैं,फिर मोबाइल नंबर जो कि आधार कार्ड से जुड़ा होता है पर आए हुए ओटीपी को पूछते हैं जो कि आपके अकाउंट से भी जुड़ा होता है उससे आप की धनराशि निकाल लेता हैं।
2-यह कहकर किसी खाते में या फोनपे,गूगलपे या पेटीएम आदि पर ऐसे ट्रांसफर करवा लेते हैं कि कोविड-19 की वैक्सीन का रजिस्ट्रेशन कराना होगा या अन्य लोगों से पहले आपको वैक्सीन उपलब्ध करा दी जाएगी इस तरह आपसे पैसों की ठगी कर ली जाती है
3-अपराधी किसी लिंक पर क्लिक करके ऐसे एप्लीकेशन को इंस्टॉल करने के लिए कहता है जो कि रिमोट कंट्रोल एप्लीकेशन होते हैं जो आपके मोबाइल के संपूर्ण कंट्रोल दूसरों को दे देते हैं जिससे अपराधी आपका पूरा मोबाइल देख और चला पाता है और मोबाइल बैंकिंग के पासवर्ड,ओटीपी सहित समस्त लेनदेन का पता कर लेते हैं।
सायबर ठगों से ऐसे रहे सावधान-राज्य पुलिस मुख्यालय के सायबर सेल की ओर से जारी एडवाइजरी में लोगों से कई तरह के
ऐहतियात बरतने की अपील की गई है।
1-कभी भी अपना ओटीपी, आधार कार्ड नंबर को किसी के साथ साझा ना करें। भारत सरकार की कोई भी संस्था या बैंक आपसे फोन, ईमेल आईडी पर ओटीपी नहीं मांगती है अतः एहतियात रखें।
2-ड्रग अथॉरिटी ऑफ इंडिया नाम से कोई भी संस्था भारत में कार्य नहीं करती है। केवल ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DCGI) ही पूरे भारत में कोविड-19 की वैक्सीन को उपलब्ध कराने के लिए आधिकारिक संस्था है।
3-भारत में कोविड-19 वैक्सीन रजिस्ट्रेशन के लिए किसी भी प्रकार का शुल्क नहीं लिया जा रहा है यदि कोई आप से रजिस्ट्रेशन या अन्य लोगों से पहले वैक्सीन लगवाने के नाम पर पैसों की मांग करता है तो उसकी शिकायत www.cybercrime.gov.in या टोल फ्री नंबर 155260 पर करें।
4-यदि कोई अनजान व्यक्ति आपसे किसी लिंक पर क्लिक करने के लिए या किसी सॉफ्टवेयर को इंस्टॉल करने के लिए कहता है तो सावधान रहें ऐसे ऐप आपके मोबाइल को हैक करने के लिए उपयोग किए जाते हैं।



और भी पढ़ें :