महाराष्ट्र के राज्यपाल के पत्र को लेकर शरद पवार ने PM मोदी को लिखी चिट्ठी

पुनः संशोधित मंगलवार, 13 अक्टूबर 2020 (20:42 IST)
मुंबई। धार्मिक स्थलों को खोले जाने को लेकर में राज्यपाल भगतसिंह कोश्यारी और सत्तारूढ़ दलों में ठन गई है। कोश्यारी की चिट्ठी पर पहले मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से तल्ख टिप्पणी की और अब एनसीपी प्रमुख ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर राज्यपाल के बयान पर संज्ञान लेने के लिए कहा है।
ALSO READ:
उद्धव ठाकरे का राज्यपाल को जवाब, हिंदुत्व पर आपका सर्टिफिकेट नहीं चाहिए
राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) के अध्यक्ष शरद पवार ने मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लिखे पत्र में शिकायत की कि महाराष्ट्र के राज्यपाल भगतसिंह कोश्यारी ने राज्य के धार्मिक स्थलों को खोलने के सिलसिले में मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को लिखे पत्र में ‘असंयमित भाषा’ का इस्तेमाल किया।
मोदी को लिखे पत्र को जारी करने के बाद पवार ने ट्वीट किया कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि माननीय राज्यपाल ने मुख्यमंत्री को ऐसा पत्र लिखा है जैसे किसी राजनीतिक पार्टी के नेता को लिखा गया हो।
उन्होंने कहा कि हमारे संविधान के प्रस्तावना में धर्मनिरपेक्ष शब्द को जोड़ा गया ताकि सभी धर्मों के प्रति समानता और संरक्षण प्रदान किया जाए और इसलिए मुख्यमंत्री की कुर्सी को संविधान के इस भाव को कायम रखना चाहिए।
पवार ने कहा कि उन्होंने कोश्यारी के पत्र को लेकर अपने रुख से मोदी को अवगत करा दिया है। पवार ने कहा कि मुझे पूरा विश्वास है कि वे उस भाषा पर ध्यान देंगे जो पत्र में इस्तेमाल की गई है। संवैधानिक पद पर बैठे व्यक्ति को ऐसी भाषा का उपयोग करना शोभा नहीं देता।



और भी पढ़ें :