बड़ी उपलब्धि : 2 साल में 8 ‘BLUE FLAG’ पाने वाला एशिया का पहला देश बना भारत, टॉप 50 देशों की लिस्ट में शामिल

Last Updated: सोमवार, 12 अक्टूबर 2020 (16:00 IST)
नई दिल्ली। पर्यावरण के अनुकूल, साफ़-सुथरे और अंतरराष्ट्रीय मानकों पर आधारित सुविधाओं से युक्त भारत के 8 समुद्री तटों को‘ब्लू फ़्लैग’(BLUE FLAG) का दर्जा मिला है। इसके साथ ही देश अब दुनिया के 50 ब्लू फ़्लैग देशों में शामिल हो गया है। > पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्री प्रकाश जावडेकर ने कहा कि भारत के 8 तटों को ‘ब्लू फ़्लैग’ का प्रमाण पत्र मिलना देश के लिए गौरव का क्षण है। जावडेकर ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय ज्यूरी की ओर से भारत को तटों पर प्रदूषण नियंत्रण के मानक पर तीसरा स्थान मिला है।
 
 मंत्री ने कहा कि एशिया प्रशांत क्षेत्र में भारत पहला देश है जिसे सिर्फ़ 2 वर्षों के भीतर यह उपलब्धि हासिल हुई है। ये पहला मौक़ा है जब एक साथ 8 तटों को पहले प्रयास में ‘ब्लू फ़्लैग’ का दर्जा मिला हो। 
 
इससे पहले जापान, दक्षिण कोरिया और संयुक्त अरब अमीरात के दो-दो तटों को 5-6 वर्षों के प्रयास के बाद यह दर्जा मिला था। जावडेकर ने कहा कि संरक्षण और सतत विकास की दिशा में यह उपलब्धि भारत को अंतरराष्ट्रीय मान्यता दिलाता है। भारत का लक्ष्य आने वाले 5 सालों में देश के 100 तटों को ‘ब्लू फ़्लैग’ के मानक के मुताबिक़ तैयार करना है।
 
उन्होंने कहा कि वर्ष 2018 में हर तटीय राज्य और केंद्र शासित प्रदेश से एक तट को चुनकर कुल 8 तटों के विकास का लक्ष्य लेकर पायलट परियोजना शुरू की गई थी।
 
इन तटों को मिला : ‘ब्लू फ्लैग’ पाने वाले तटों में शिवराजपुर (गुजरात), घोघला (दीव), कासरकोड और पदुबिद्री (दोनों कर्नाटक में), कप्पड़ (केरल), रुशिकोंडा (आंध्र), गोल्डन (ओडिशा) और राधानगर (अंडमान) शामिल हैं।
 भारत अपने एकीकृत तटीय क्षेत्र प्रबंधन परियोजना के तहत तटों को पर्यावरण और पर्यटन हितैषी बनाने के लिए ‘ब्लू फ्लैग’ मानकों के मुताबिक़ विकसित कर रहा है।
 
यह मिलेगा लाभ : इसमें समु्द्र तट को प्लास्टिक मुक्त, गंदगी मुक्त, ठोस अपशिष्ट प्रबंधन से लैस करने, सैलानियों के लिए साफ पानी की उपलब्धता सुनिश्चित करने, अंतरराष्ट्रीय मानकों के मुताबिक पर्यटन सुविधाएं विकसित करने और समुद्र तट के आसपास पर्यावरणीय प्रभावों के अध्ययन की सुविधाओं से लैस करना होता है।
 
‘ब्लू फ्लैग’ प्रमाण-पत्र अंतरराष्ट्रीय स्तर पर एक गैर सरकारी संगठन फाउंडेशन फॉर इनवॉयरमेंटल एजुकेशन ( एफईई) , डेनमार्क द्वारा प्रदान किया जाता है।
 
प्रधानमंत्री ने बताया अद्‍भुत उपलब्धि : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 8 भारतीय समुद्र तटों को प्रतिष्ठित 'ब्लू फ्लैग' प्रमाणन मिलने को एक अद्भुत उपलब्धि करार दिया। 
 > इस बारे में एक रिपोर्ट को टैग करते हुए प्रधानमंत्री ने ट्वीट किया, ' भारत के आठ समुद्र तटों को प्रतिष्ठित 'ब्लू फ्लैग' प्रमाणन मिला है। यह भारत द्वारा ऐसे स्थानों के संरक्षण और सतत विकास को आगे बढ़ाने के महत्व को दर्शाता है। वास्तव में एक अद्भुत उपलब्धि। (Photo courtesy: Twitter)




और भी पढ़ें :