Corona Alert! गहरी होती चिंता की लकीरें, क्या फिर लौटेगा लॉकडाउन?

पुनः संशोधित सोमवार, 22 फ़रवरी 2021 (13:05 IST)
नई दिल्ली। भारत में (Coronavirus) के बढ़ते मामलों ने शासन-प्रशासन से लेकर आम आदमी की चिंता को भी बढ़ा दिया है। देश के 5 राज्यों में कोरोना के बढ़ते मामलों से यह डर सताने लगा है कि भारत कहीं कोरोनावायरस की एक और लहर की चपेट में तो नहीं है? के अलावा केरल, मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और पंजाब में भी कोरोना के मामलों में तेजी से इजाफा देखने को मिला है। भारत में कोरोना संक्रमितों की संख्‍या बढ़कर 1 करोड़ 10 लाख से ज्यादा हो गई है।

दूसरी ओर, सरकार वैक्सीनेशन के जरिए कोरोना संक्रमण की चेन तोड़कर हर्ड इम्युनिटी पैदा करने की कोशिश कर रही है। सरकार ने इन राज्यों के लिए सख्त एडवायजरी भी जारी की है। सवाल यह भी उठ रहे हैं कि क्या कोरोना का नए स्ट्रेन के चलते भारत में कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं। वहीं, एम्स के प्रमुख डॉ. रणदीप गुलेरिया ने आगाह किया है महाराष्ट्र में कोरोना का नया स्ट्रेन खतरनाक साबित हो सकता है।

केंद्रीय मंत्रालय के मुताबिक देश के देश के कुल एक्टिव मामलों में 74 प्रतिशत से अधिक और महाराष्ट्र में हैं। महाराष्ट्र में 10 दिन में 47 हजार केस सामने आ चुके हैं। राज्य में 12 फरवरी से मरीजों की संख्या बढ़नी शुरू हुई और ये लगातार जारी है। महाराष्ट्र में रविवार को कोरोनावायरस के 6,971 नए मरीजों की पुष्टि हुई है। इसके बाद कुल मामले 21 लाख के पार चले गए हैं। देशभर में हाल के आंकड़ों पर नजर डालें तो रोज 5000 से 6000 मामले पहले की तुलना में ज्यादा आ रहे हैं।

महाराष्ट्र में का खतरा : महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने राज्य के लोगों को चेतावनी दी है कि अगले 8 दिन तय करेंगे कि क्या राज्य में लॉकडाउन लगाना पड़ेगा? अमरावती, अकोला, बुलढाणा, वाशिम और यवतमाल जिलों में बढ़ते मामलों को देखते हुए अगले 7 दिनों के लिए आंशिक लॉकडाउन का पालन किया जाएगा।
स्कूल-कॉलेज फिर बंद : पुणे में भी एक बार फिर स्कूल, कॉलेज और कोचिंग संस्थानों को बंद करने का आदेश दिया गया है। संक्रमण को रोकने के लिए केंद्र सरकार ने प्रभावित राज्यों को आरटी-पीसीआर टेस्ट में तेजी लाने के निर्देश दिए गए हैं। महाराष्ट्र में नागपुर, अमरावती, नासिक, अकोला और यवतमाल में साप्ताहिक मामलों में क्रमश: 33%, 47%, 23%, 55% और 48% की वृद्धि हुई है। नागपुर में भी स्कूल-कॉलेज बंद होने की खबर है।

'मी जवाबदार' मुहिम की शुरुआत : महाराष्ट्र सरकार ने कोरोना के बढ़ते केसों के बीच पूरे राज्य के लिए कड़े नियमों का ऐलान भी किया है। महाराष्ट्र में आज से राजनीतिक, धार्मिक और सामाजिक जमावड़े पर रोक रहेगी। अगर स्थिति बिगड़ती है तो महाराष्ट्र में लॉकडाउन भी लग सकता है। महाराष्ट्र सरकार ने 'मी जवाबदार' यानी मैं जवाबदार मुहिम शुरू की है। इसमें लोगों को बताना है कि लॉकडाउन चाहिए या नहीं?
महाराष्ट्र में सक्रिय मामले बढ़े : दूसरी ओर, महाराष्ट्र में पिछले 24 घंटों के दौरान सर्वाधिक 6971 सक्रिय मामले बढ़े हैं। राज्य में 2417 मरीज स्वस्थ हुए जिसे मिलाकर कोरोना को मात देने वालों की तादाद 19.94 लाख हो गई है। वहीं, 35 और मरीजों की मौत से मृतकों का आंकड़ा बढ़कर 51 हजार 788 हो गया है।

केरल में सर्वाधिक एक्टिव केस : देश का दक्षिणी राज्य केरल कोरोना के सक्रिय मामलों में शीर्ष पर है। राज्य में सक्रिय मामले 58,593 हैं, वहीं कोरोना को मात देने वालों का आंकड़ा बढ़कर 9.71 लाख हो गया है, जबकि 15 और मरीजों की मौत से मृतकों की संख्या 4089 हो गई है।

कोरोना के 240 नए स्ट्रेन :एम्स प्रमुख डॉ. रणदीप गुलेरिया ने कोरोना के नए स्ट्रेन को लेकर आगाह किया है। डॉ. गुलेरिया ने कहा कि महाराष्ट्र में कोरोना का नया स्ट्रेन ज्यादा संक्रामक और खतरनाक साबित हो सकता है। नया स्ट्रेन संक्रमण से उबर चुके व्यक्ति को भी दोबारा चपेट में ले सकता है। चाहे इनमें पहले से ही एंटीबॉडी पैदा हो गई हो।

महाराष्ट्र में कोविड टॉस्क फोर्स के सदस्य डॉ. शशांक जोशी ने समाचार चैनल से कहा कि राज्य में कोरोना के 240 नए स्ट्रेन देखे गए हैं। इसे पिछले हफ्ते से महाराष्ट्र में मामले बढ़ने की अहम वजह माना जा रहा है। डॉ. गुलेरिया ने कहा कि भारत में कोरोनावायरस के प्रति हर्ड इम्युनिटी बनना एक मिथक है, क्योंकि इसके लिए 80 फीसदी आबादी में कोरोनावायरस के प्रति एंटीबॉडी बनना चाहिए, जो हर्ड इम्युनिटी के तहत पूरी आबादी की सुरक्षा के लिए जरूरी है।



और भी पढ़ें :