व्हाइट हाउस में मौन रखकर और मोमबत्ती जलाकर कोरोना मृतकों को श्रद्धांजलि देंगे बाइडन

Last Updated: सोमवार, 22 फ़रवरी 2021 (10:30 IST)
वॉशिंगटन। अमेरिका के राष्ट्रपति देश में कोविड-19 के कारण जान गंवाने वाले 5,00,000 लोगों की याद में सोमवार को में 1 मिनट का मौन रखेंगे और मोमबत्ती जलाएंगे। अमेरिका में से मौत का पहला मामला सामने आने के करीब 1 साल बाद सोमवार को देश में मृतकों की संख्या 5 लाख से ज्यादा हो जाने की आशंका है।
व्हाइट हाउस ने कहा है कि बाइडन संक्रमण के कारण जान गंवाने वालों की याद में आयोजित कार्यक्रम को संबोधित भी करेंगे। उनके साथ प्रथम महिला जिल बाइडन और उपराष्ट्रपति कमला हैरिस तथा उनके पति डग एमहॉफ भी होंगे। वे इस समारोह में मौन रखेंगे और मोमबत्ती जलाएंगे। जॉन हॉप्किन्स विश्वविद्यालय के मुताबिक संक्रमण के कारण 1 साल में करीब 5 लाख लोगों की मौत हुई है। मृतकों की यह संख्या कंसास सिटी, मिसौरी और अटलांटा शहर की आबादी के बराबर है।
देश के शीर्ष संक्रामक रोग विशेषज्ञ डॉ. एंथनी फाउची ने कहा कि 1918 में इन्फ्लुएंजा महामारी के बाद से बीते 102 साल में ऐसा कभी नहीं हुआ था। अमेरिका में 19 जनवरी को संक्रमण से मरने वालों की संख्या 4 लाख पार कर गई थी।

5 लाख लोगों की मौत : विश्व के सबसे शक्तिशाली देश अमेरिका में वैश्विक महामारी कोरोनावायरस का प्रकोप लगातार जारी और इस महामारी की शुरुआत से लेकर अब तक देश में करीब 5 लाख लोगों की मौत हो गई है, जो विश्व में कोरोना से हुई कुल मौतों का लगभग 20 प्रतिशत है।
अमेरिका में कोरोना से लगातार उथल-पुथल जारी है तथा यहां संक्रमितों की कुल संख्या बढ़कर 2 करोड़ 81 लाख 14 हजार से अधिक हो गई है जबकि 4,98,384 लोगों की जान चली गई है। इस बीच अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन गरीब देशों को कोरोनावायरस (कोविड-19) वैक्सीन की आपूर्ति के लिए 4 अरब डॉलर की मदद करनी की घोषणा करेंगे।
अमेरिका की जॉन हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी के विज्ञान एवं इंजीनियरिंग केंद्र (सीएसएसई) की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक दुनिया के 192 देशों एवं क्षेत्रों में कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़कर 11.12 करोड़ हो गई है और 24 लाख 41 हजार 582 मरीज अपनी जान गंवा चुके हैं। अमेरिका के बाद सबसे ज्यादा लोग भारत में संक्रमित हुए हैं जबकि तीसरे स्थान पर ब्राजील है। (एजेंसियां)



और भी पढ़ें :