फिर चिंता बढ़ाने लगा Corona, सिर्फ महाराष्ट्र-केरल में 74% सक्रिय मामले, केंद्र ने राज्यों को दी यह सलाह

पुनः संशोधित रविवार, 21 फ़रवरी 2021 (16:30 IST)
नई दिल्ली। ने कहा कि भारत में पिछले कुछ दिनों से के उपचाराधीन मरीजों की संख्या में वृद्धि देखी जा रही है, जो कि 1,45,634 है और यह देश के कुल संक्रमणों का 1.32 प्रतिशत है।

मंत्रालय के अनुसार 22 राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों में 24 घंटे में किसी भी कोविड​​-19 मरीज की मौत की सूचना नहीं है। देश के उपचाराधीन मरीजों में से 74 प्रतिशत से अधिक केरल और महाराष्ट्र में हैं।

मंत्रालय ने कहा कि पिछले दिनों यह देखा गया है कि छत्तीसगढ़ और में भी प्रतिदिन सामने आने वाले मामलों में बढ़ोतरी हुई है। पंजाब और जम्मू-कश्मीर में भी प्रतिदिन सामने आने वाले मामलों में वृद्धि देखी जा रही है।
मंत्रालय ने कहा कि नए मामलों में से 85.61 प्रतिशत 5 राज्यों से हैं। महाराष्ट्र में सबसे अधिक 6,281 नए मामले सामने आए हैं। इसके बाद केरल में 4,650 जबकि कर्नाटक में 490 नए मामले सामने आए हैं।

केंद्र इन राज्यों को यह सलाह दी है :
RT-PCR टेस्ट के अनुपात को बढ़ाकर ओवरऑल टेस्टिंग नंबर्स में सुधार किया जाए। रैपिड एंटीजन टेस्ट नेगेटिव आने पर अनिवार्य रूप से आरटी-पीसीआर टेस्ट किया जाए। चयनित जिलों में सख्त और व्यापक निगरानी के साथ-साथ कड़े नियंत्रण पर भी ध्यान दें। जीनोम सीक्वेंसिंग के बाद परीक्षण के माध्यम से म्यूटेंट स्ट्रेंन की नियमित निगरानी की जाए साथ ही मामलों के उभरते क्लस्टर की निगरानी की जाए। जहां ज्यादा मौतें हो रही हों उन जिलों में क्लिनिकल मैनेजमेंट पर ध्यान केंद्रित करना है।
पिछले 24 घंटे की अवधि में सामने आए नए मामलों में से 77 प्रतिशत सिर्फ 2 राज्यों महाराष्ट्र और केरल से आए हैं। मंत्रालय ने कहा कि पिछले 24 घंटे में 22 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में कोविड-19 से किसी मरीज की मृत्यु होने की सूचना नहीं है।

मंत्रालय ने कहा कि इन राज्यों में गुजरात, ओडिशा, जम्मू-कश्मीर, आंध्रप्रदेश, हिमाचल प्रदेश, गोवा, झारखंड, पुडुचेरी, असम, मेघालय, लक्षद्वीप, मणिपुर, मिजोरम, सिक्किम, लद्दाख, नगालैंड, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, त्रिपुरा, उत्तराखंड, अरुणाचल प्रदेश, दमन एवं दीव और दादरा और नागर हवेली शामिल हैं।
मंत्रालय ने कहा कि एक दिन में 90 लोगों की मृत्यु हुई और नई मौतों में से 80 प्रतिशत 5 राज्यों में हुई हैं। महाराष्ट्र में अधिकतम 40 मरीजों की मौत हुई हैं। केरल में 13 लोगों की मृत्यु हुई जबकि पंजाब में 8 और मौतें हुई हैं। पिछले 24 घंटे की अवधि में केवल एक राज्य में 20 से अधिक मौतें हुई हैं जबकि 10 से 20 लोगों की मृत्यु सिर्फ एक राज्य में हुई है। मंत्रालय ने कहा कि पिछले 24 घंटे में 11,667 रोगियों के ठीक होने से अभी तक ठीक हुए मरीजों की संख्या बढ़कर 1.06 करोड़ (1,06,89,715) हो गई है।
मंत्रालय ने कहा कि भारत में कोविड-19 से ठीक होने की दर 97.25 प्रतिशत है, जो दुनिया में सबसे अधिक है। उसने कहा कि ठीक हुए मरीजों में से 81.65 प्रतिशत रोगी पांच राज्यों से हैं। केरल में एक दिन में सबसे अधिक 5,841 मरीज ठीक हुए। पिछले 24 घंटे में महाराष्ट्र में कुल 2,567 रोगी ठीक हुए जबकि तमिलनाडु में 459 मरीज स्वस्थ हुए। कोविड-19 का टीका दिए जाने के मोर्चे पर, भारत में कुल टीकाकरण संख्या 1.10 करोड़ पार हो गई है।
अस्थायी रिपोर्ट के अनुसार 21 फरवरी को प्रात: 8 बजे तक 2,30,888 सत्रों के माध्यम से कुल 1,10,85,173 टीके की खुराक दी गई है। इनमें 63,91,544 स्वास्थ्य कर्मी (पहली खुराक), 9,60,642 स्वास्थ्यकर्मी (दूसरी खुराक) और कोविड-19 के खिलाफ अग्रिम मोर्चे पर तैनात 37,32,987 कर्मियों को (पहली खुराक) शामिल है। मंत्रालय ने कहा कि दूसरी खुराक पाने वालों में से 60.04 प्रतिशत सात राज्यों में केंद्रित हैं। अकेले कर्नाटक में 11.81 प्रतिशत (1,13,430 खुराक) शामिल हैं। (भाषा)



और भी पढ़ें :