पहले स्वदेशी युद्धपोत Vikrant के कम्प्यूटर्स के इलेक्ट्रिक पुर्जे चोरी

Last Updated: बुधवार, 18 सितम्बर 2019 (10:29 IST)
कोच्चि। केरल के कोच्चि शिपयार्ड से पहले स्वदेशी युद्धपोत 'विक्रांत' के 4 सर्वाधिक परिष्कृत कम्प्यूटर्स के इलेक्ट्रिक पुर्जे चोरी हो गए हैं। देश के सर्वाधिक सुरक्षित स्थानों में शुमार इस क्षेत्र में सेंध सुरक्षा में भारी चूक माना जा रहा है। विक्रांत का नौसेना के बेड़े में वर्ष 2021 में शामिल किया जाना प्रस्तावित है।
ALSO READ:
तेजस का नौसेना वर्जन, क्या होती है अरेस्टेड लैंडिंग
(सीएसएल) के सूत्रों ने बुधवार को बताया कि 'विक्रांत' के 4 कम्प्यूटर्स के हार्ड डिस्क, रैंडम एक्सेस मेमोरी (रैम) और प्रोसेसर चोरी हो गए हैं। उन्होंने कहा कि फिलहाल यह पता नहीं चल पाया है कि चोरी कब हुई?
में शिकायत दर्ज :
उन्होंने कहा कि शिपयार्ड के प्रबंधक ने इस संबंध में एर्नाकुलम दक्षिण पुलिस थाने में शिकायत दर्ज कराई है। पुलिस महानिदेशक लोकनाथ बेहरा ने घटना पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए पत्रकारों से कहा कि मामले की जांच के लिए विशेष जांच दल गठित किया गया है।
सेना का दावा है कि युद्धपोत से सामरिक महत्व के कोई उपकरण चोरी नहीं हुए हैं लेकिन राष्ट्रीय जांच एजेंसियों ने जांच का काम शुरू कर दिया है। युद्धपोत के कम्प्यूटर्स में बेंगलुरु स्थित भारत हैवी इलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड के पुर्जे लगाए गए थे।

 

और भी पढ़ें :