0

शहीद दिवस : पढ़ें महात्मा गांधी पर विशेष सामग्री

रविवार,जनवरी 30, 2022
0
1
आज तीस तारीख है, पुण्यतिथि महान गुरु की, वो अच्छे आदमी थे, कहीं पढ़ा था, वे अहिंसा के गुरु, आजादी के गुरु, सच्चाई के मापदंड, अच्छाई के प्रतिबिम्ब।
1
2
अहिंसा के पुजारी मोहनदास करमचन्द गांधी, बापू (Mahatma Gandhi, महात्मा गांधी) भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के प्रमुख नेता थे। उन्होंने सत्य, कर्तव्य और अहिंसा के मार्ग पर चलते हुए देश आजादी दिलाई।
2
3
Mahatma Gandhi Poem अहिंसा के पुजारी गांधी पर कविता- तुम, सिर्फ एक दिन जीने के लिए, क्यों जिए बापू और/ क्यों शहीद हुए?
3
4
बापू और हरिलाल दोनों अपनी जगह अच्छे थे, सच्चे थे, सही थे लेकिन परिस्थितियों के दंश ने एक सुयोग्य पुत्र को कंटीली राह पर धकेल दिया। जीवनभर पिता के प्रति पलते आक्रोश ने हरिलाल को पतन की राह पर धकेल दिया। जब सारा विश्व बापू को सम्मान के साथ अंतिम विदाई ...
4
4
5
महात्मा गांधी : बापू के अनमोल विचार आपका जीवन बदल देंगे Mahatma Gandhi punyatithi
5
6
गांधी की मां पुतलीबाई अत्यधिक धार्मिक थीं। उनकी दिनचर्या घर और मंदिर में बंटी हुई थी। वह नियमित रूप से उपवास रखती थीं और परिवार में किसी के बीमार पड़ने पर उसकी सेवा सुश्रुषा में
6
7
अपने अंदर की स्वच्छता पहली चीज है जिसे पढ़ाया जाना चाहिए। बाकी बातें इसके बाद होनी चाहिए।
7
8
महात्मा गांधीजी का पूरा नाम मोहनदास करमचंद गांधी था। उनका जन्म 2 अक्टूबर को पोरबंदर में हुआ था। उनके बारे में अभी भी ऐसा बहुत कुछ है जो लोगों को नहीं मालूम हैं। आओ जानते हैं 20 अनजाने फैक्ट्स तथ्य ( 20 Unknown Facts of Mahatma Gandhi ) महात्मा गांधी ...
8
8
9
महात्मा गांधी जयंती : अहिंसा दिवस पर पढ़ें बापू से संबंधित विशेष सामग्री
9
10
आज महात्मा गांधी की जयंती है। बापू पहले ऐसे शख्स थे जिन्होंने आजादी को हासिल करने के लिए अहिंसक मार्ग को अपनाया, जो दुनिया में सबसे पहला, अनूठा और प्रेरणादायी उदाहरण था। उसी से प्रेरित होकर कई लोगों ने अहिंसा को अपनाकर महानतम कार्य किए हैं।
10
11
हर शहर में महात्मा गांधी मार्ग बनाया है यह आपके नाम का ही प्रताप है बापू कि इस पर बसे लोगों ने तबीयत से कमाया है। जब तक आपके सारे पदचिन्ह नहीं मिल जाते तब तक हमने इतना अवश्य किया है कि कोई और आपके जैसे पदचिन्ह नहीं बना दे उन्हें रोकने का ...
11
12
महात्मा गांधीजी का पूरा नाम मोहनदास करमचंद गांधी था। उनका जन्म 2 अक्टूबर को पोरबंदर में हुआ था। उनके बारे में अभी भी ऐसा बहुत कुछ है जो लोगों को नहीं मालूम हैं। आओ जानते हैं ऐसी ही 25 आश्चर्यजनक तथ्य ( 25 Interesting facts of Mahatma Gandhi ) और ...
12
13
यह भजन गांधी जी के नित्य की प्रार्थना में सम्मिलित था। यह भजन 15वीं शताब्दी के गुजरात के संत कवि नरसी मेहता द्वारा रचित एक अत्यंत लोकप्रिय भजन है।
13
14
महात्मा गांधीजी का पूरा नाम मोहनदास करमचंद गांधी था। उनका जन्म 2 अक्टूबर को पोरबंदर में हुआ था। भारत में गांधी को चाहने वाले जितने हैं उतने ही उनकी आलोचना करने वाले भी हैं। हालांकि महात्मा गांधी से कई महान लोगों ने प्रेरणा लेकर उनके रास्ते पर चलने ...
14
15
एक अंग्रेज ने महात्मा गांधी को पत्र लिखा। उसमें गालियों के अतिरिक्त कुछ था नहीं। गांधीजी ने पत्र पढ़ा और उसे रद्दी की टोकरी में डाल दिया। उसमें जो ऑलपिन लगा हुआ था
15
16
महात्मा गांधी की कुछ नजदीकी महिला मित्र रही हैं जिन पर बापू अपने से ज्यादा विश्वास करते थे... आइए जानें 5 ऐसी ही खास महिलाएं जो बापू के बेहद करीबी रहीं...
16
17
गांधीजी को यदि गोली नहीं मारी जाती तो अनुमानित रूप से कम से कम 5 से 10 साल के बीच तक अवश्‍य जीवित रहते अर्थात उनकी उम्र 85 से 90 वर्ष के बीच होती, परंतु ओशो रजनीश ने अपने किसी प्रवचन में कहा था कि महात्मा गांधी 110 वर्ष तक जीना चाहते थे। अब बात करते ...
17
18
महात्मा गांधीजी का पूरा नाम मोहनदास करमचंद गांधी था। उनका जन्म 2 अक्टूबर को पोरबंदर में हुआ था। महान वैज्ञानिक अल्बर्ट आइंस्टीन, मार्टिन लूथर किंग जूनियर और साउथ अफ्रीका के नेल्सन मंडेला महात्मा गांधी को पसंद करते थे।
18
19
महात्‍मा गांधी का पूरा नाम मोहनदास करमचंद गांधी था। उन्‍हें भारत का राष्ट्रपिता भी कहा जाता है। गांधी जी के पिता का नाम करमचंद गांधी था
19
20
30 जनवरी महात्मा गांधी की पुण्यतिथि के रूप में मनाया जाता है। हर साल इस मौके पर महात्मा गांधी के साथ-साथ देश के लिए अपना बलिदान देने वाले अन्य शहीदों को भी याद किया जाता है।
20
21
भविष्य में क्या होगा, मैं यह नहीं सोचना चाहता। मुझे वर्तमान की चिंता है। ईश्वर ने मुझे आने वाले क्षणों पर कोई नियंत्रण नहीं दिया है।
21
22
राष्ट्रपिता महात्मा गांधी भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन के एक प्रमुख आध्यात्मिक एवं राजनैतिक नेता थे। यहां जानिए बापू के ऐतिहासिक कार्य
22
23
महात्मा गांधी के आलोचक कहते हैं कि दो तरह के लोग होते हैं, एक वे जो दूसरों के साथ हिंसा करें और दूसरे वे जो खुद के साथ हिंसा करें। गांधी दूसरी किस्म के व्यक्ति थे।...हालांकि ऐसा समझना उचित नहीं है। आओ जानते हैं महात्मा गांधी की अहिंसा की 6 खास
23
24
15वीं शताब्दी के गुजरात के संत कवि नरसी मेहता द्वारा रचित एक अत्यंत लोकप्रिय भजन है। इसमें वैष्णव जनों के लिए उत्तम आदर्श
24
25
गांधी इस पूरी धरती का स्वाभिमान थे। वे सेवा की साधना थे। वे ईश्वर, देवता, अवतार, संत कुछ नहीं थे। वे तो इंसान और इंसानियत के नए संस्करण थे। उन्होंने शस्त्र की ताकत को सत्य की ताकत के सामने झुका दिया।
25
26
महात्मा गांधी जी का जन्म 2 अक्टूबर सन् 1869 को गुजरात के पोरबंदर में हिन्दू परिवार में हुआ। पिता करमचंद गांधी और मां पुतलीबाई द्वारा उनका नाम मोहनदास रखा गया, जिससे उनका पूरा नाम मोहनदास करमचंद गांधी हुआ।
26
27
महात्मा गांधी पूर्ण रूप से स्वस्थ थे। न उन्हें डायबिटीज थी, ना ब्लड प्रेशर और ना ही अन्य किसी प्रकार का कोई रोग। उन्हें कोई गंभीर रोग नहीं था परंतु फिर भी कुछ रोग तो थे।
27
28
महात्मा गांधी भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के सबसे प्रमुख नेताओं में से एक हैं। यहां पाठकों के लिए प्रस्तुत हैं महात्मा गांधी के 10 खास अनमोल वचन-
28
29
क्यों शहीद हुए? तुम्हारे ही देश में-जहां देखा था तुमने रामराज्य का स्वप्न,
29
30
एक बार एक मारवाड़ी सज्जन गांधीजी से मिलने आए। उन्होंने सिर पर बड़ी-सी पगड़ी बांध रखी थी।
30
31
स्वामी सत्यदेव परिव्राजक महात्मा गांधी की कार्यशैली से बहुत प्रभावित थे। स्वामीजी अमेरिका से नए-नए आए थे।
31
32
राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को अपनी मृत्यु का पूर्वाभास हो चुका था, जिसका संकेत वे अनेक बार दे भी चुके थे।
32