1. समाचार
  2. मुख्य ख़बरें
  3. मध्यप्रदेश
  4. Shivraj Singh Chouhan's Abhay in Prashal in 'Tera Vaibhav Amar Rahe Maa' program
Written By
Last Updated: शुक्रवार, 2 सितम्बर 2022 (22:43 IST)

शिवराज इंदौर में, 'तेरा वैभव अमर रहे मां', भारतमाता के जयकारों से गूंज उठा अभय प्रशाल

इंदौर। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान शुक्रवार को इंदौर के अभय प्रशाल में आयोजित 'तेरा वैभव अमर रहे मां' कार्यक्रम में अलग ही अंदाज में नजर आए। मुख्यमंत्री चौहान, जो कि 'मामा' के नाम से लोकप्रिय हैं, की शालेय छात्र-छात्राओं के साथ केमिस्ट्री देखने ही लायक रही। अपने 20 मिनट के बच्चों से वार्तालाप के दौरान उन्होंने देशभक्ति के रंगों में सभी को भिगोया।
 
इस दौरान पर्यावरण की रक्षा, सबका सम्मान करने, विश्व कल्याण का संकल्प दिलाया गया। कार्यक्रम सांस्कृतिक एवं नैतिक प्रशिक्षण संस्थान द्वारा आयोजित किया गया था। अपने संबोधन में मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि 'वसुधैव कुटुम्बकम्' सदैव ही भारत का ध्येय रहा है। हमारे देश ने इस भाव को अपने अंदर समाहित किया है कि सब सुखी रहें, सब निरोगी रहें और सबका कल्याण हो। 5,000 साल से पुराना हमारे देश का ज्ञात इतिहास रहा है। जब तथाकथित विकसित देशों में सभ्यता का सूर्य उदय भी नहीं हुआ था तब भारत में वेदों की ऋचाएं गढ़ ली गई थीं।
 
उन्होंने जोड़ा कि देशभक्ति के भाव के साथ अपने देश एवं प्रदेश के विकास में अपना योगदान दें। जब परतंत्रता की बेड़ियों ने भारत को जकड़ा तब हमारे क्रांतिकारियों ने देश की आजादी की लड़ाई लड़ी। उन्होंने कार्यक्रम में उपस्थित विद्यार्थियों को शहीद चन्द्रशेखर आजाद, भगतसिंह एवं उधम सिंह द्वारा देश के लिए किए गए बलिदान और स्वतंत्रता की लड़ाई का वृत्तांत सुनाया। उन्होंने क्रांतिकारियों द्वारा आजादी के संकल्प हेतु किए गए बलिदान के बारे में विद्यार्थियों को जानकारी दी।
 
मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि आजादी का महोत्सव इन्हीं क्रांतिकारियों के स्मरण में आयोजित किया जा रहा है। उन्होंने कार्यक्रम में उपस्थित विद्यार्थियों का आह्वान करते हुए कहा कि आज हमें देश के लिए जीना है और देशभक्ति के भाव के साथ अपने देश एवं प्रदेश के विकास और प्रगति में अपना योगदान देना है।
 
उन्होंने कहा कि कर्मठ और ईमानदार नागरिक ही देश एवं प्रदेश का निर्माण करते हैं। आज की युवा पीढ़ी को ऐसे ही नागरिक बनकर इस निर्माण में अपना योगदान देना है। उन्होंने कार्यक्रम में उपस्थित सभी विद्यार्थियों को माता-पिता एवं गुरु तथा बहन/बेटियों का सम्मान और इज्जत करने का भाव अपने अंदर विकसित करने का संकल्प लेने के लिए कहा।

 
हर विद्यार्थी अपने जन्मदिन पर एक पेड़ लगाने का लें संकल्प : मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि हमारे विश्व के सभी जीव-जंतुओं में एक ही चेतना है इसलिए हमें सिर्फ मनुष्य ही नहीं बल्कि प्रकृति और यहां रहने वाले पशु-पक्षियों की भी रक्षा करनी है और उनके प्रति भी प्रेम का भाव उत्पन्न करना है। उन्होंने कहा कि वे रोज एक पेड़ लगाते हैं, वे अपने दिन की शुरुआत एक पेड़ लगाकर ही करते हैं।
 
उन्होंने छात्रों को संकल्प लेने के लिए कहा कि वे सभी अपने जन्मदिन पर एक पेड़ अवश्य लगाएं और प्रकृति के प्रति अपनी कृतज्ञता प्रकट करें। हमारी युवा पीढ़ी सिर्फ अपने लिए नहीं बल्कि विश्व के कल्याण के लिए जिए, पर्यावरण का संरक्षण करे और अगर जरूरत पड़े तो देश के लिए अपना सर्वस्व भी निछावर कर दें।
 
कार्यक्रम में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा 75 महापुरुषों की जीवनगाथा का विवरण देने वाली पुस्तक का विमोचन किया गया तथा उपस्थित छात्र-छात्राओं द्वारा सांस्कृतिक प्रस्तुति भी दी गई। कार्यक्रम में सांस्कृतिक एवं नैतिक प्रशिक्षण संस्थान (इनिशिएटिव फॉर मोरल एंड कल्चरल ट्रेनिंग फाउंडेशन) इंदौर चैप्टर का शुभारंभ भी किया गया।
 
इस अवसर पर जल संसाधन मंत्री तुलसीराम सिलावट, सांसद शंकर लालवानी, महापौर पुष्यमित्र भार्गव, राज्यसभा सदस्य कविता पाटीदार, विधायक महेन्द्र हार्डिया, मालिनी गौड़, रमेश मेंदोला सहित अन्य जनप्रतिनिधिगण तथा सांस्कृतिक एवं नैतिक प्रशिक्षण संस्थान के इंदौर चैप्टर के चेयरमैन विनोद अग्रवाल एवं संयोजकगण उपस्थित रहे।