MP उपचुनाव में घमासान : कमलनाथ पर भड़के ज्योतिरादित्य सिंधिया, बोले- हां, मैं कुत्ता हूं क्योंकि...

Last Updated: शनिवार, 31 अक्टूबर 2020 (23:23 IST)
भोपाल/अशोकनगर। मध्यप्रदेश में हो रहे 28 विधानसभा के उपुचनावों के प्रचार में भाजपा तथा के वरिष्ठ नेताओं के बीच कड़वे शब्दों की बौछारें तेज होती जा रही हैं। इसके तहत भाजपा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने प्रदेश कांग्रेस प्रमुख पर उनके लिए कथित रूप से ‘कुत्ता’ शब्द का इस्तेमाल करने का आरोप लगाया है।
हालांकि कांग्रेस प्रवक्ता ने भोपाल में इस बात से इंकार किया और कहा कि कमलनाथ ने कभी भी अपने भाषण में सिंधिया के लिए इस शब्द का इस्तेमाल नहीं किया है।

सिंधिया ने शनिवार को अशोकनगर से 20 किलोमीटर दूर शाडोरा कस्बे में एक चुनावी सभा में कहा कि कमलनाथजी ने कहा कि मैं कुत्ता हूं। हां, कमलनाथजी मैं कुत्ता हूं, मेरी मालिक जनता है। हां, कमलनाथ जी मैं कुत्ता हूं क्योंकि कुत्ता अपने मालिक की रक्षा करता है। क्योंकि अगर कोई मालिक को ऊंगली दिखाए, विनाशकारी नीति और भ्रष्टाचार दिखाए तो कुत्ता उसे कटेगा। मुझे गर्व है कि मैं अपनी जनता का कुत्ता हूं।
भाजपा सांसद के इस भाषण के वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है। इसमें सिंधिया दर्शकों से पूछते दिख रहे हैं कि कमलनाथ अशोक नगर कब आए। उत्तर में लोगों ने बताया कि कमलनाथ अशोक नगर में कल (शुक्रवार) को आए थे।

हालांकि कमलनाथ के मीडिया संयोजक नरेन्द्र सलूजा ने 'पीटीआई' को बताया कि प्रदेश कांग्रेस प्रमुख ने कभी भी सिंधिया या किसी अन्य नेता के लिये इस तरह के शब्द का इस्तेमाल नहीं किया।
सलूजा ने कहा कि कमलनाथ ने अपने भाषणों में कभी भी किसी के लिए इस शब्द का इस्तेमाल नहीं किया है। सिंधिया स्वयं को वफादार, धोखेबाज या विश्वासघात करने वाला कुत्ता कहने के लिए स्वतंत्र हैं।

इस बीच खबरों के अनुसार कांग्रेस के स्टार प्रचारक आचार्य प्रमोद कृष्णम ने शुक्रवार को अशोक नगर में एक चुनावी रैली में कमलनाथ की मौजूदगी में अपने भाषण में बिना किसी का नाम लिए ‘कुत्ता’ शब्द का इस्तेमाल किया था।

कृष्णम ने कहा था कि जब कमलनाथजी मुख्यमंत्री बने थे तो माफियाओं पर कार्रवाई कर रहे थे, तब अशोकनगर के तत्कालीन विधायक का भी नाम आया था। तब जैसे कुत्ता अपने पिल्ले की रक्षा करता है, वैसे ही किसी ने इनकी भी रक्षा की थी।
मालूम हो कि प्रदेश में उपचुनाव के प्रचार के दौरान ग्वालियर जिले के डबरा कस्बे की आमसभा में दलित समुदाय की भाजपा नेता इमरती देवी पर कथित अभद्र टिप्पणी के बाद से 73 वर्षीय कांग्रेस नेता कमलनाथ राज्य में सत्तारुढ़ भाजपा के नेताओं के निशाने पर चल रहे हैं। भाजपा ने इसके खिलाफ चुनाव आयोग को शिकायत दर्ज कराई थी।

चुनाव आयोग ने उपचुनाव के लिए प्रचार करते हुए आदर्श आचार संहिता का बार-बार उल्लंघन करने के चलते कांग्रेस नेता एवं प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के ‘स्टार प्रचारक’ का दर्जा शुक्रवार को रद्द कर दिया है।



और भी पढ़ें :