अफगानिस्तान में तालिबान सरकार, नए मंत्रियों के ट्रैक रिकॉर्ड से अमेरिका चिंतित

पुनः संशोधित बुधवार, 8 सितम्बर 2021 (07:51 IST)
वाशिंगटन। अमेरिका ने में अंतरिम सरकार बनाने वाले आतंकवादी संगठन तालिबान के कई नव-घोषित कैबिनेट सदस्यों की संबद्धता और ‘ट्रैक रिकॉर्ड’ को लेकर चिंता जताई है। तालिबान की इस सरकार में मुखिया सहित सभी मंत्री संयुक्त राष्ट्र की आतंकवादी सूची में शामिल है।
विदेश विभाग के एक प्रवक्ता ने कहा कि हमने गौर किया है कि नामंत्रिमंडल में कई ऐसे व्यक्ति शामिल हैं जो तालिबान के सदस्य हैं या उनके करीबी सहयोगी हैं और कोई महिला नहीं है। हम कुछ व्यक्तियों की संबद्धता और ट्रैक रिकॉर्ड से भी चिंतित हैं।

अमेरिकी विदेश विभाग के प्रवक्ता ने यह भी कहा कि जो बिडेन प्रशासन समझता है कि तालिबान कैबिनेट को एक अस्थायी कार्यवाहक सरकार के रूप में पेश किया गया है, लेकिन समूह को उनके कार्यों के आधार पर आंका जायेगा।
अमेरिकी अधिकारी ने कहा कि हमने अपनी उम्मीद स्पष्ट कर दी है कि अफगानी लोग एक समावेशी सरकार के हकदार हैं। अमेरिका तालिबान को विदेशी नागरिकों और अफगान सहयोगियों को देश छोड़ने के लिए सुरक्षित मार्ग प्रदान करने की उनकी प्रतिबद्धताओं पर कायम रखेगा।
प्रवक्ता ने कहा कि अमेरिका ने अपनी यह अपेक्षा दोहरायी भी है कि तालिबान देश को आतंकवादियों के लिए एक सुरक्षित पनाहगाह बनने से रोकेगा और यह सुनिश्चित करेगा कि अफगानिस्तान में मानवीय सहायता की अनुमति दी जाए।

उल्लेखनीय है कि तालिबान ने अफगानिस्तान की कार्यवाहक सरकार के मंत्रिमंडल की घोषणा कर दी। मुल्ला मोहम्मद हसन अखुंद को प्रधानमंत्री नियुक्त किया है। मंत्रिमंडल में तालिबान के टॉप कमांडर और नेताओं को शामिल किया गया है। नई सरकार में वैश्विक स्तर पर आतंकी नामित किए गए हक्कानी नेटवर्क के एक नेता को गृहमंत्री का प्रभार सौंपा गया है। मंत्रिमडल में एक भी महिला सदस्य नहीं है।



और भी पढ़ें :