शुक्रवार, 12 जुलाई 2024
  • Webdunia Deals
  1. समाचार
  2. मुख्य ख़बरें
  3. अंतरराष्ट्रीय
  4. Indians In Kuwait indian died I Kuwait
Last Updated : गुरुवार, 13 जून 2024 (14:20 IST)

कुवैत में रहते हैं 10 लाख इंडियंस, किन प्रोजेक्‍ट में करते हैं काम, कैसे बढ़ाते हैं कुवैत की इकोनॉमी?

कुवैत में रहते हैं 10 लाख इंडियंस, किन प्रोजेक्‍ट में करते हैं काम, कैसे बढ़ाते हैं कुवैत की इकोनॉमी? - Indians In Kuwait indian died I Kuwait
Indians In Kuwait: कुवैत की एक इमारत में आग लगने की घटना में 40 भारतीयों की मौत हो गई। यह सभी भारतीय वहां तमाम तरह के काम करते थे। बता दें भारत से बडी संख्‍या में लोग कुवैत में नौकरी के लिए जाते हैं। एक रिपोर्ट के मुताबिक कुवैत में करीब 10 लाख भारतीय रहते हैं।

हॉस्पिटल्स से लेकर तेल के कुंओं और फैक्टरी में काम करने वाले अधिकतर लोग भारतीय हैं। जानते हैं भारतीय कुवैत के कितने अलग अलग प्रोजेक्‍ट में और कहां कहां काम करते हैं।

हेल्‍थ सेक्‍टर में भारतीय : कुवैत में अगर सबसे ज्यादा भारतीय हेल्थ सेक्टर में हैं। भारत के दूतावास के दस्तावेजों के मुताबिक कुवैत में बड़ी तादाद में भारतीय डॉक्टर और नर्स काम करते हैं। ये इतना बड़ा नंबर है कि अगर भारतीय डॉक्टर या नर्स कुवैत से बाहर चले जाएं, तो वहां की पूरी स्वास्थ्य व्यवस्था भी चरमरा जाए।

तेल प्रोजेक्‍ट में भारतीय: कुवैत के तेल के कुंओं में बड़ी संख्या में जहां भारतीय काम करते हैं। वहीं यहां की इंफ्रास्ट्रक्चर इंडस्ट्री में भी भारतीय लेबर काम करती है। इसके अलावा भारत और कुवैत ने दोनों देशों के यात्रियों, खासकर भारतीयों को वहां जाने में आसानी हो, इसके लिए सिविल एविएशन अरेंजमेंट किया है। इसमें दोनों देशों की ओर से उड़ान भरने वाले विमान 12,000 सीटों को प्राथमिकता के आधार पर भारतीयों और कुवैतियों के लिए बुक करते हैं।

बता दें कि कुवैत की इकोनॉमी में भारतीयों बडा योगदान है। वहीं भारत की इकोनॉमी की ग्रोथ में भी कुवैत बहुत काम आता है। कुवैत में काम करने वाले भारतीय रेमिटेंस के रूप में भरपूर पैसा वहां से भारत भेजते हैं। कुवैत से भारत भेजा जाने वाला पैसा 2.1 अरब कुवैती दिनार (करीब 6.3 अरब डॉलर) के लेवल को पार कर चुका है।

वहीं भारत के विदेश व्यापार का एक बड़ा हिस्सा कुवैत से होने वाले व्यापार से आता है। वित्त वर्ष 2023-24 में भारत का कुवैत को एक्सपोर्ट 210.32 अरब डॉलर का रहा है। जबकि कच्चे तेल के आयात के चलते भारत का कुवैत से इंपोर्ट 837.59 अरब डॉलर रहा है, क्योंकि इसमें से करीब 620 अरब डॉलर का भारत ने सिर्फ कच्चा तेल या अन्य उत्पाद ही आयात किए हैं।

भारत के नौ शहरों से कुवैत की दो एयरलाइंस कुवैत एयरलाइंस और जजीरा उड़ान भरती हैं। जबकि भारत की एअर इंडिया, एअर इंडिया एक्सप्रेस और इंडिगो कुवैत सिटी के लिए सीधी उड़ान सेवा चलाती हैं। भारत के दिल्ली, मुंबई, अहमदाबाद, चेन्नई, गोवा, कोच्चि, हैदराबाद और बेंगलुरू जैसे शहरों से सीधी उड़ान भरते हैं।
Edited by Navin Rangiyal
ये भी पढ़ें
राज्यसभा चुनाव लड़ेंगी सुनेत्रा पवार, नामांकन भरा