होम आइसोलेशन में रहने वाले कोरोना पॉजिटिव मरीजों के लिए जरूरी खबर

Author विकास सिंह| Last Updated: गुरुवार, 8 अप्रैल 2021 (15:41 IST)
भोपाल। कोरोना की दूसरी लहर की चपेट में आए में अब बड़ी संख्या में मरीज कोरोना पॉजिटिव आ रहे है। अस्पतालों में बेडों की किल्लत हो गई है ऐसे में अब बड़ी संख्या में मरीज में है। प्रदेश के स्वास्थ्य विभाग ने भी कोविड-19 के बढ़ते केस के बाद पॉजिटिव व्यक्तियों को होम आइसोलेशन में रखे जाने का निर्णय लिया है।


होम आइसोलेशन में रहने वाले मरीजों को जिला स्तर पर स्थापित जिला कोविड कमाण्ड और कंट्रोल सेंटर से लगातार निगरानी रखी जाएगी। इसके साथ चिकित्सकीय परामर्श के लिए जिला कोविड कंट्रोल एवं कमांड सेंटर का नंबर जिले के STD कोड-1075, उदाहरण के तौर पर इंदौर जिला के लिए 07311075. इसके साथ ही होम आइसोलेशन में पॉजिटिव व्यक्ति के पास आवश्यक चिकित्सीय संसाधन और दवाईयां उपलब्ध रहेंगी।

होम आइसोलेशन को लेकर हेल्थ कमिश्नर डॉक्टर संजय गोयल की ओर से जारी आदेश में कहा गया है कि कोविड-19 पॉजिटिव केस को होम आइसोलेशन की अनुमति देते समय एक 'होम आइसोलेशन' किट उपलब्ध कराई जाए। इसमें विभिन्न प्रकार की 12 सामग्री और दवाईयां पॉजिटिव व्यक्ति को उपलब्ध कराई जाएगी।

कोरोना के इलाज की होम आइसोलेशन किट-कोरोना के इलाज के लिए ‘होम आइसोलेशन’ किट में फीवर क्लीनिक की सूची और पता,संपर्क विवरण, डेडिकेटड कोविड अस्पताल के साथ कोरोना का इलाज करने वाले
अस्पतालों की सूची के साथ
20 पीस सर्जिकल मास्क के साथ निम्न ‌दवा भी रहेगी। इसके अलावा पॉजिटिव व्यक्ति के पास खुद की निगरानी के लिये डिजिटल थर्मामीटर और पल्सोक्सीमीटर उपलब्ध कराया जायेगा।
होम आइसोलेशन किट में दवा-
टैबलेट -अज़िथ्रोमाइसिन 500- 10D x 5.5 टैब
टैबलेट-मल्टीविटामिन I BD x 10 दिन।
1x10 टैब के 2 स्ट्रिप्स,
टैबलेट-सेट्रीजाइन 10 मिलीग्राम x 10 (एसओएस उपयोग के लिए)
टैबलेट- पैरासिटामोल 500 मिलीग्राम 1 BD x 10 (एसओएस उपयोग के लिए)- 2 स्ट्रिप्स,
1x10 टैब्स के

टैबलेट-रानीटाईडाईन 150 mg 1 BD x 10 - 2 स्ट्रिप्स 1x10 टैब्स,
टैबलेट - जिंक 20 मिलीग्राम 1 0D X 10.1 1x10 टैब्स की स्ट्रिप,
टैबलेट-विटामिन सी 1000 एमजी x 10.1 1x10 टैब्स का स्ट्रिप

स्वास्थ्य विभाग ने होम आइसोलेशन रोगी के लक्षण होने, इस दौरान क्या सावधानियाँ बरतनी हैं, उच्च जोखिम सम्पर्क कौन होगा,पॉजिटिव व्यक्ति के लिये आवश्यक व्यवस्थाएँ और रोगी के घरेलू सदस्यों को क्या-क्या सतर्कताएँ बरतनी होंगी,इन बिन्दुओं पर भी स्थिति स्पष्ट की गई है। जांच के बाद अगर 10 दिनों तक कोई लक्षण न दिखे और 3 और बुखार न आए तो होम आइसोलेशन समाप्त किया जा सकता है।

होम आईसोलेटेड व्यक्ति से वीडियो कॉल पर चर्चा हेतु संकेतिक प्रश्न
1-आप आज कैसा महसूस कर रहे है?
2-आपको बुखार,सर्दी-खांसी,सांस लेने की कठिनाई अथवा सीने में जकड़न जैसे लक्षण तो नहीं है?
3-क्या आपने अपना तापमान तथा ऑक्सीजन सेचुरेशन की जांच की है?
4-दिन में कितनी बार जांच कर रहे है? क्या कम से कम 3 बार रोजाना जांच कर रहे हैय़
5- अभी आपका तापमान एवं ऑक्सीजन सेचुरेशन कितना है?



और भी पढ़ें :