सुशांत सिंह राजपूत के कमरे का ताला तोड़ने वाले शख्स ने बताया 14 जून को क्या हुआ था?

पुनः संशोधित शनिवार, 22 अगस्त 2020 (12:42 IST)
सुसाइड केस में सीबीआई ने जांच तेज कर दी है। पहले दिन से ही कोई ना कोई नया खुलासा सीबीआई की टीम कर रही है। अब एक और बड़ा खुलासा सुशांत के घर का ताला तोड़ने वाले शख्स ने किया है।
खबरों के मुताबिक, मोहम्मद रफी शेख नाम के चाबीवाले ने सुशांत के कमरे का ताला खोला था। रफी शेख ने बताया कि 14 जून को सिद्धार्थ पिठानी के फोन करने पर वह सुशांत के फ्लैट पर पहुंचा था. हालांकि उसने बताया कि उसे इस बात का बिल्कुल भी अंदाजा नहीं था कि फ्लैट सुशांत सिंह राजपूत का है।
इस चाबीवाले ने बताया कि उसने जब एक्टर के घर का ताला तोड़ा तो किसी ने भी उसे अंदर आने नहीं दिया कि वहां क्या हो रहा है, बल्कि ताला तोड़ने के बाद उसे वहां से वापस भेज दिया गया था। 14 जून को सिद्धार्थ पिठानी के फोन करने पर इसी शख्स ने सुशांत के कमरे का ताला तोड़ा था।

उसने बताया कि सुशांत के कमरे में कम्प्यूटराइज की वाला ताला था। उस ताले को तोड़ने के लिए मोहम्मद ने हथोड़ा और छुरा का इस्तेमाल किया था। चाबीवाले ने इस बात का भी खुलासा किया था कि घटना के वक्त वहां चार लोग मौजूद थे। इसके मुताबिक, ताला तोड़ने के बाद उसे वहां से जाने के लिए कह दिया गया था। तब तक उसे घटना के बारे में कुछ नहीं पता था।

चाबीवाले ने कहा कि लॉक तोड़ा, लॉक तोड़ने के बाद जैसे ही दरवाजा खुला उन लोगों ने उन्हें कुछ देखने ही नहीं दिया। कुछ भी दिखा नहीं। जैसे ही दरवाजा खुला वो लोग बोले कि आप लोग चले जाओ। वहीं, मोहम्मद ने ये भी बताया कि घटना वाले दिन कोई भी घबराया हुआ नहीं लग रहा था। हर कोई बस ये चाहता था कि ये दरवाजा खुल जाए।

रफी ने यहां तक बताया कि मुंबई पुलिस ने भी उसे पूछताछ के लिए बुलाया था। उस बारे में बात करते हुए रफी ने कहा था कि 'पहली बात मैं तो लॉक खोल कर आया ना। उन लोगों ने कॉल किया मेरे को मैं गया, यहां से लॉक तोड़ा जैसे खोला उन लोगों ने दिखाया नहीं मेरे को। वो बोले जाओ, मैं समान लेकर वापस आ गया। फिर एक घंटे के बाद कॉल आया पुलिस का कि आप जिधर लॉक तोड़ कर गए हैं वहीं वापस आ जाओ फिर मैं वापस गया।



और भी पढ़ें :