खलनायक का किरदार निभाकर संजय दत्त होते हैं रोमांचित, बोले- नियमों को तोड़ने मरोड़ने का होता है मौका

पुनः संशोधित शुक्रवार, 24 जून 2022 (15:17 IST)
हमें फॉलो करें
बॉलीवुड एक्टर बड़े पर्दे पर एक बार फिर खलनायक के किरदार में नजर आने वाले हैं। वह यशराज फिल्म्स के बैनर तले करण मल्होत्रा निर्देशित 'शमशेरा' में निगेटिव भूमिका में नजर आएंगे। संजय दत्त इस फिल्म में अंग्रेज जनरल का किरदार कर रहे हैं।


19वीं सदी की शुरुआत की इस कहानी में संजय दत्त अंग्रेजों के ऐसे जनरल बने हैं, जो बागियों पर जुल्म ढाने के लिए बदनाम है। संजय दत्त ने कहा, परदे पर किसी खलनायक का किरदार करना हमेशा एक नया रोमांच लेकर आता है और वह इसलिए क्योंकि इस किरदार के पास नियमों को तोड़ने मरोड़ने का मौका होता है।

उन्होंने कहा, खलनायक के किरदार को हमेशा नैतिकता के चश्मे से देखा जाता है और उसके चारों तरफ इसकी तमाम चारदीवारें भी होती हैं। कागज पर लिखे गए एक किरदार को कैमरे के सामने अपने हिसाब से जीने का अपना अलग ही मजा है। मैं खुद को सौभाग्यशाली मानता हूं कि परदे पर निभाए गए मेरे खलनायकी वाले किरदारों को लोगों ने खूब पसंद भी किया है।
फिल्म 'शमशेरा' के निर्देशक करण मल्होत्रा ने ही अपनी पिछली फिल्म 'अग्निपथ' में संजय दत्त को कांचा चीना के भयानक रूप में पेश किया था। अब करण ने उन्हें शुद्ध सिंह बनाया है। इस बारे में संजय दत्त ने कहा, करण मल्होत्रा ने पिछली बार मुझे कांचा चीना बनाया था तो उस फिल्म के फोकस में वह किरदार ही आ गया था।

उन्होंने कहा, अब शुद्ध सिंह ऐसा किरदार है जिसे परदे पर कभी नहीं देखा गया। वह सौ फीसदी दुष्ट इंसान है। आततायी है और उस पर भरोसा करना बेवकूफी है। मुझे खुशी इस बात की है कि करण ने ऐसा किरदार गढ़ा औऱ इस किरदार को निभाने के लिए मुझे चुना।
फिल्म शमशेरा में रणबीर कपूर, वाणी कपूर और संजय दत्त, आशुतोष राणा, सौरभ शुक्ला, रोनित रॉय और त्रिधा चौधरी की अहम भूमिका है। करण मल्होत्रा द्वारा निर्देशित यह फिल्म हिंदी, तमिल और तेलुगु में 22 जुलाई 2022 को सिनेमाघरों में रिलीज होगी।




और भी पढ़ें :