आखिर क्यों पद्मश्री सम्मान वापस लौटाने की सोच रहे थे सैफ अली खान, बताई वजह

बॉलीवुड अभिनेता इन दिनों सुर्खियों में बने हुए हैं। हाल ही में वह के वेब शो 'पिंच' में पहुंचे थे। जहां सैफ ने कहा कि वह साल 2010 में मिले भारत के चौथे सर्वोच्च ना‍गरिक सम्मान पद्मश्री को वापस करना चाहते थे।

शो की थीम के मुताबिक अरबाज ने सोशल मीडिया पर सैफ के लिए ट्रोलर्स के मैसेज पढ़कर सुनाए। इन सभी मैसेज में सैफ को लेकर ट्रोलर्स ने खरी खोटी सुनाई। उन्हीं में से एक ट्वीट में कहा गया था, पद्मश्री खरीदने वाले, अपने बेटे का नाम तैमूर रखने वाले और एक रेस्टोरेंट में मारपीट करने वाले इस ठग को कैसे 'सेक्रेड गेम्स' में भूमिका मिल गई? यह मुश्किल से अभिनय कर पाता है।
इसके जवाव में सैफ ने कहा कि मैं ठग नहीं हूं.. 'पद्मश्री' को खरीदना संभव नहीं है। मेरे लिए यह संभव ही नहीं है कि मैं भारत सरकार को घूस दे सकूं। इसके लिए आपको वरिष्ठ लोगों से पूछना पड़ेगा। लेकिन मैं इसे स्वीकार नहीं करना चाहता था।

सैफ ने कहा कि कई सीनियर अभिनेता हैं जिनको अभी तक यह सम्मान नहीं मिला है, यह मेरे लिए बहुत ही शर्म की बात है, यह सम्मान कुछ ऐसे लोगों को भी मिला है, जो मुझसे भी कम काबिल हैं, लेकिन अब मैं यह सम्मान सरकार को वापस करना चाहता हूं, जब मुझे पद्मश्री का सम्मान दिया जा रहा था, तब मेरे पिता ने मुझसे कहा था कि तुम इस पॉजिशन में नहीं हो कि भारत सरकार द्वारा मिल रहे इस सम्मान को लेने से इनकार कर सको, मैंने कहा ठीक है और खुशी-खुशी सम्मान ले लिया।
सैफ ने यह भी कहा 'मैंने सोचा था कि आज नहीं तो कल मैं शायद कुछ ऐसा काम करूंगा। मैं खुश हूं जो हो रहा है.. मैं उम्मीद करता हूं, जब लोग पीछे देखेंगे तो कहेंगे कि इसने जो काम किया है उसके लिए यह इस सम्मान के लायक है।

 

और भी पढ़ें :