वाजपेयी पर दवाओं का सकारात्मक असर

नई दिल्ली (भाषा)| भाषा| पुनः संशोधित रविवार, 8 फ़रवरी 2009 (22:14 IST)
हमें फॉलो करें
सीने में संक्रमण की समस्या का (एम्स) में इलाज करवा रहे पूर्व प्रधानमंत्री अटलबिहारी वाजपेयी की हालत आज रात स्थिर है और डॉक्टरों के मुताबिक उन पर दवाओं का सकारात्मक असर पड़ रहा है।


के कार्डियक थोरेसिस वेस्क्युलर साइंसेज डिपार्टमेंट के प्रमुख डॉ. सम्पत कुमार ने बताया कि पूर्व प्रधानमंत्री की हालत स्थिर है। उन पर दवाओं का असर पड़ रहा है। हमें उम्मीद है कि उनके स्वास्थ्य में आगे भी सुधार होगा। वे अब भी जीवन रक्षक प्रणाली पर हैं।
उन्होंने कहा कि वाजपेयी का दिल, गुर्दे और यकृत सामान्य ढंग से काम कर रहे हैं। उनका रक्तचाप सामान्य है और उनके फेफड़ों की स्थिति में भी सुधार हो रहा है।


वाजपेयी की देखभाल में लगे एक अन्य चिकित्सक ने कहा कि वे सामान्य रूप से साँस ले रहे हैं। पूर्व प्रधानमंत्री के स्वास्थ्य को लेकर उड़ रही तरह-तरह की अफवाहों को खारिज करते हुए डॉ. कुमार ने कहा कि वाजपेयी की हालत बिगड़ नहीं रही है। उसमें सुधार हो रहा है।

वाजपेयी की साँस की नली में संक्रमण के बारे में पूछे जाने पर कुमार ने कहा कि चिकित्सकों ने उन्हें एंटीबायोटिक दवाएँ दी हैं और उनका असर होने में अभी दो तीन दिन लगेंगे। उन्होंने कहा कि हमें उनकी इस शिकायत के दूर होने के लिए कुछ दिन इंतजार करना होगा।

गौरतलब है कि वाजपेयी को गत मंगलवार को बुखार और साँस लेने में परेशानी की शिकायत के बाद एम्स में दाखिल कराया गया था। बाद में डॉक्टरों ने पाया था कि वाजपेयी निमोनिया से पीड़ित हैं।
इस बीच भाजपा के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार लालकृष्ण आडवाणी के साथ-साथ पार्टी नेता जसवंतसिंह, मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान, पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम तथा जम्मू-कश्मीर के मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने एम्स जाकर वाजपेयी का हाल पूछा।

जसवंतसिंह ने बाद में कहा कि वाजपेयी की हालत खराब नहीं है। मैं उनके जल्द स्वस्थ होने की प्रार्थना करता हूँ। उन्होंने कहा कि वाजपेयी हमारे वरिष्ठ नेता हैं और इस समय गम्भीर स्वास्थ्य समस्याओं का सामना कर रहे हैं।
भाजपा के एक अन्य वरिष्ठ नेता मुरली मनोहर जोशी ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री की हालत स्थिर है और उन पर इलाज का असर हो रहा है। उन्हें साँस के लिए नहीं बल्कि मदद के लिए जीवन रक्षक प्रणाली पर रखा गया है।



और भी पढ़ें :