मॉरीशस द्वीप के नीचे मिला महाद्वीप

पेरिस| भाषा|
FILE
पेरिस। वैज्ञानिकों ने में स्थित के नीचे एक छोटे के पाने का दावा किया है।

इस महाद्वीपीय खंड को मॉरिशिया नाम दिया गया है। ऐसी संभावना है कि इसका निर्माण 6.1 से 8.3 करोड़ वर्ष पहले तब हुआ, जब मेडागास्कर भारत से अलग हो गया लेकिन बाद में टूट गया और लावा की मोटी परतों के जमने से नीचे दब गया।

नेचर भू-वैज्ञानिक पत्रिका में छपे एक अध्ययन के अनुसार वैज्ञानिकों ने मॉरीशस के समुद्री तट के रेत की जांच की जिनमें प्राचीन जिरकॉन पाए गए, जो लगभग 2 अरब साल पुराने हैं।
पत्रिका के अनुसार जिरकॉन से द्वीप (मॉरीशस) के नीचे प्राचीन लघु महाद्वीप के टुकड़ों के होने का पता चलता है। ये टुकड़े हाल में ज्वालामुखी गतिविधि की वजह से सतह पर आ गए। (भाषा)



और भी पढ़ें :