0

काली मुद्रा से बुढ़ापा भागेगा दूर और पाचन रहेगा दुरुस्त

सोमवार,जून 1, 2020
0
1
ऑफिस या घर की डेस्क पर कार्य करते हुए मन और शरीर दोनों पर प्रभाव पड़ता है। मन तनाव से ‍घिर जाता है तो शरीर में गर्दन, रीढ़, कंधे और आंखें अकड़न और दर्द का शिकार हो जाती हैं। तनाव जहां हमें कुंठा से ग्रस्त कर हमारे स्नायुतंत्र पर प्रतिकूल प्रभाव ...
1
2
इक्कीसवीं सदी की शुरुआत में योग के प्रचार-प्रसार को जो आधुनिक रंग दिया गया था उसके परिणाम सन् 2009 में आने लगे। अब तो योगा डे मनाने के साथ ही योग अब विश्वव्यापी बन चुका है। योग के प्रचार-प्रसार में देशी और विदेशी योगाचार्यों की मेहनत रंग लाई और इसका ...
2
3
शायद ही आपको पता हो कि पेट संबंधी समस्या में कुछ ऐसी एक्सरसाइज भी है, जो पाचन संबंधी कई समस्याओं को दूर कर सकती हैं।
3
4
कपालभाती प्राणायाम को हठयोग के षट्कर्म क्रियाओं के अंतर्गत लिया गया है। ये क्रियाएं हैं:- 1. त्राटक 2. नेती. 3. कपालभाती 4. धौती 5. बस्ती और 6. नौली। आसनों में सूर्य नमस्कार, प्राणायामों में कपालभाती और ध्यान में ‍विपश्यना का महत्वपूर्ण स्थान है। ...
4
4
5
प्राणायम की प्रारंभिक क्रिया है अनुलोम और विलोम। इससे मस्तिष्क में ऑक्सिजन लेवल बढ़ता है और फेंफड़े मजबूत होते हैं। कोरोना के संक्रमण के दौर में फेंफड़ों का मजबूत होना आवश्यकत है। अत: जा‍निए कि कैसे करें अनुलोम विलोम प्राणायाम।
5
6
आपने कभी भी योग के अंतर्गत आने वाले ध्यान और आसन को नहीं किया है जो यहां प्रस्तुत है कुछ ऐसा आसान तरीकें जिसके माध्यम से योग सीख सकेंगे।
6
7
मेडिटेशन अर्थात ध्यान। ध्यान करना बहुत ही सरल है। मात्र 5 मिनट का ध्यान चमत्कारिक लाभ दे सकता है। आओ जानते हैं कि कोराना संकट के दौर और लॉकडाउन में ध्यान करना क्यों जरूरी है।
7
8
कब्ज एक वैश्‍विक समस्या है। वैसे भी लॉकडाउन में घर में ही रहने के चलते घुमना फिरना नहीं हो पा रहा है तो खाने को पचने में भी समस्या हो रही होगी। ऐसे में योग और आयुर्वेद के 5 नुस्खे अपना सकते हैं।
8
8
9
लॉकडाउन में घर से कहीं भी बाहर निकलना कहीं हो पा रहा है। घूमन फिरना या टहलना बंद हो गया है। यदि आप डायबिटीज के मरीज हैं तो आपकी परेशानी बढ़ गई होगी। नहीं हैं तो भी खाना पचने में समस्या हो रही है। बहुत ज्यादा आराम करने से भी शरीर जाम होकर अस्वस्थ हो ...
9
10
लॉकडाउन के दौरान आपने योग के नियम का पालन कर लिया तो शर्तिया आप हर संकट से जीत जाएंगे।
10
11
भस्त्रिका का शब्दिक अर्थ है धौंकनी अर्थात एक ऐसा प्राणायाम जिसमें लोहार की धौंकनी की तरह आवाज करते हुए वेगपूर्वक शुद्ध प्राणवायु को अन्दर ले जाते हैं और अशुद्ध वायु को बाहर फेंकते हैं।
11
12
घर में रहने से हाथ पैर अकड़ जाते हैं। पहले भागदौड़ की लाइफ थी तो समय नहीं मिलता था अब घर से ही ऑफिस वर्क कर रहे हैं तो भी समय कम ही है। ऐसे में ऑफिस कार्य करते हुए बीच बीच में खुद को सेहतमंद और चुस्त-दुरुस्त बनाए रखने के लिए रिफ्रेश योगा का सहरा
12
13
योग में क्रियाएं बहुत असरकारक होती है, लेकिन इन क्रियाओं को वही व्यक्ति कर सकता है जो योग में पारंगत हो। यह क्रियाएं शरीर में जमी गंदगी के अलावा किसी भी प्रकार के बैक्टीरिया हो उन्हें बाहर निकाल देती हैं। यदि आप किसी योग शिक्षक से यह क्रियाएं सीख ...
13
14
वर्तमान में खराब जीवनचर्या और कसरत नहीं करने के चलते आम भारतीयों में डायबिटीज रोग अब आम हो चला है। दिनोदिन इसके रोगियों की संख्या बढ़ती जा रही है। योगासन और योग मुद्रासन का समय समय पर अभ्यास किया जाए तो डायबिटीज से बचा जा सकता है। आओ जानते हैं इस ...
14
15
योग में प्रमुखत: छह क्रियाएं होती है:-1. त्राटक 2. नेती. 3. कपालभाती 4. धौती 5. बस्ती 6. नौली। यहां प्रस्तुत है नेती के बारे में जानकारी। इसे तीन तरह से किया जाता है:- 1.सूत नेती 2.जल नेती और 3.कपाल नेती।
15
16
सर्दी के मौसम में स्वास्थ्य से जुड़ी कुछ समस्याएं होना आम बात है। मौसम ठंडा होने के कारण सिरदर्द, कमर दर्द, जुकाम, बदन दर्द, जोड़ों में समस्या, सांस लेने में परेशानी और हार्ट संबंधी व मानसि‍क समस्याएं भी हो सकती हैं। लेकिन इन योग व्यायाम का साथ....
16
17
वर्तमान में जीना ही ध्यान है। एकाग्रता ध्यान नहीं है। ध्यान का मूल अर्थ है जागरूकता, अवेयरनेस, होश, साक्ष‍ी भाव और दृष्टा भाव। ध्यान का अर्थ एकाग्रता नहीं होता। एकाग्रता टॉर्च की स्पॉट लाइट की तरह होती है जो किसी एक जगह को ही फोकस करती है, लेकिन ...
17
18
शाम्भवी मुद्रा को शिव मुद्रा या भैरवी मुद्रा भी कहते हैं। शाम्भवी मुद्रा करना बहुत कठिन और बहुत सरल है। इसे यदि सही तरीके से नहीं किया जा रहा है तो यह कठिन है और सही ‍तरीके से किया जा रहा है तो यह बहुत सरल है।
18
19
जब आप योग कर रहे हैं तो इस बात का जरूर ध्यान रखें कि योग करते समय आपको ठंडा पानी नहीं पीना चाहिए। यह आपके शरीर को नुकसान पहुंचा सकता है,
19