बंगाल चुनाव के दौरान 5 की मौत के बाद राजनीतिक तूफान

पुनः संशोधित शनिवार, 10 अप्रैल 2021 (17:13 IST)
कोलकाता/ कूच बिहार। के चौथे चरण में शनिवार को के दौरान सीआईएसएफ की गोलीबारी में 4 लोगों की हो जाने के बाद राजनीतिक तूफान खड़ा हो गया। राज्य में हिंसा में कुल 5 व्यक्तियों की मौत हुई है। इस चरण में 44 सीटों के लिए मतदान हो रहे हैं और पूर्वाह्न एक बजे तक 1.15 करोड़ मतदाताओं में से करीब 52.89 फीसदी ने वोट डाला।
पुलिस ने बताया कि कूच बिहार जिले में स्थानीय लोगों द्वारा हमला किए जाने के बाद सीआईएसएफ जवानों ने गोलियां चलाईं, जिसमें चार लोग मारे गए, स्थानीय लोगों ने उनकी राइफलें छीनने की कोशिश की थी। अधिकारियों के अनुसार, ने सीतलकूची में मतदान केंद्र संख्या 126 पर मतदान रोकने का आदेश दिया है, जहां मतदान के दौरान यह घटना घटी।

पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, प्रारंभिक रिपोर्टों के अनुसार एक गांव में अपने ऊपर हमला किए जाने के बाद सीआईएसएफ जवानों की गोलीबारी में चार लोग मारे गए। वहां झड़प हुई और स्थानीय लोगों ने उनका घेराव कर दिया और उनकी राइफलें छीनने की कोशिश की जिसके बाद केंद्रीय बलों ने गोलियां चलाईं। विस्तृत जानकारी की प्रतीक्षा है।

अधिकारियों ने बताया कि निर्वाचन आयोग ने घटना पर जिले के अधिकारियों से रिपोर्ट मांगी है। आधिकारिक सूत्रों के अनुसार, आयोग के विशेष पुलिस पर्यवेक्षक विवेक दुबे द्वारा सौंपी गई विशेष रिपोर्ट में कहा गया है कि करीब 350-400 लेागों ने केंद्रीय बलों को घेर लिया जिसके बाद उन्होंने आत्मरक्षार्थ गोलियां चलाईं।

इस घटना के बाद इलाके में हिंसा फैल गई और बम फेंके गए। केंद्रीय बलों को स्थिति नियंत्रण में लाने के लिए लाठीचार्ज करना पड़ा। एक अन्य घटना में सीतलकूची के पठानतुली इलाके में मतदान केंद्र संख्या 85 पर भाजपा एवं के कार्यकर्ताओं के बीच झड़प के बाद आनंद बर्मन नामक एक मतदाता की गोली मारकर हत्या कर दी गई।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कूच बिहार में हुई मौतों पर दुख प्रकट करते हुए शनिवार को निर्वाचन आयोग से इस घटना के लिए जिम्मेदार लोगों के विरूद्ध कड़ी कार्रवाई का अनुरोध किया। उन्होंने सत्तारूद्ध तृणमूल कांग्रेस पर चुनाव के दौरान हिंसा फैलाने का आरोप लगाया।

उन्होंने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर लोगों को केंद्रीय बलों के विरूद्ध भड़काने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा, कूच बिहार में जो कुछ हुआ, वह दुखद है। मैं शोक संतप्त परिवारों के प्रति संवेदनाएं प्रकट करता करता हूं और निर्वाचन आयोग से कूचबिहार घटना के लिए जिम्मेदार लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने का अनुरोध करता हूं।

मोदी ने सिलीगुड़ी की एक चुनावी रैली में कहा, ममता दीदी और उनके गुंडे भाजपा को मिल रहे जमीनी समर्थन से बौखला गए हैं। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कूच बिहार के सीतलकूची में केंद्रीय सुरक्षाबलों की गोलीबारी में मतदान के लिए लाइन में खड़े लोगों के मारे जाने की घटना के मद्देनजर केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह से इस्तीफा और जवाब मांगा है।

बनर्जी ने कहा कि उन्हें इस बात की आशंका थी कि बल इस प्रकार की कार्रवाई करेंगे। उन्होंने कहा ,
इतने लोगों की हत्या करने के बाद वे (निर्वाचन आयोग) कह रहे हैं कि गोलियां आत्मरक्षार्थ चलाई गईं। उन्हें शर्मिंदगी महसूस होनी चाहिए।

उन्होंने कहा, यह झूठ है, सीतलकूची में केंद्रीय बलों ने मतदान में खड़े लोगों पर गोलियां चलाईं और चार लोगों की जान ले ली। मुझे इस बात की लंबे समय से आशंका थी कि बल इस प्रकार की कार्रवाई करेंगे। भाजपा जानती है कि उसने लोगों का जनाधार खो दिया है, इसलिए वह लोगों को मारने का षड्यंत्र रच रही है। मुख्यमंत्री ने कहा कि वह घटनास्थल का दौरा करेंगी।

इस बीच अधिकारियों ने बताया कि जादवपुर निर्वाचन क्षेत्र के गांगुली बागान इलाके में माकपा उम्मीदवार सुजान चक्रवर्ती के बूथ एजेंट पर एक फर्जी मतदाता ने हमला कर दिया। उसने एजेंट पर मिर्ची का पाउडर फेंक दिया। इस घटना के बाद उस स्थान पर केंद्रीय पुलिसबल की एक टुकड़ी भेजी गई।

दक्षिण 24 परगना जिले के बांगोर में आईएसएफ और तृणमूल कार्यकर्ताओं के बीच झड़प होने की खबर है। वहीं हुगली के चंडीतला में एक मतदान केंद्र के बाहर माकपा और तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ता आपस में भिड़ गए।(भाषा)



और भी पढ़ें :