West Bengal Assembly election 2021 : चुनाव आयोग के फैसले के खिलाफ धरना देंगी ममता बनर्जी

Last Updated: सोमवार, 12 अप्रैल 2021 (21:32 IST)
नई दिल्ली। चुनाव आयोग ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और अध्यक्ष ममता बनर्जी के केंद्रीय बलों के खिलाफ बयानों और कथित धार्मिक प्रवृत्ति वाले एक बयान के लिए उनके 24 घंटे तक चुनाव प्रचार करने पर लगा दी है।
निर्वाचन आयोग के आदेश के अनुसार आयोग पूरे राज्य में कानून व्यवस्था की गंभीर समस्याएं पैदा कर सकने वाले ऐसे बयानों की निंदा करता है और ममता बनर्जी को सख्त चेतावनी देते हुए सलाह देता है कि आदर्श आचार संहिता प्रभावी होने के दौरान सार्वजनिक अभिव्यक्तियों के दौरान ऐसे बयानों का उपयोग करने से बचें।

आदेश में कहा गया कि आयोग 12 अप्रैल रात 8 से 13 अप्रैल रात 8 बजे तक 24 घंटे की अवधि के लिए ममता बनर्जी के प्रचार करने पर भी लगाता है। पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव की शुरुआत 27 मार्च को पहले चरण के मतदान के साथ हुई थी। राज्य में 8 चरणों में मतदान की प्रक्रिया पूरी होगी।
चुनाव आयोग के फैसले के खिलाफ धरना देंगी ममता बनर्जी
कोलकाता। चुनाव प्रचार से 24 घंटे के लिए पाबंदी लगाए जाने के निर्वाचन आयोग के फैसले की आलोचना करते हुए पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि वे आयोग के ‘असंवैधानिक फैसले’ के खिलाफ मंगलवार को शहर में धरना देंगी। बनर्जी ने ट्वीट किया कि ‘निर्वाचन आयोग के अलोकतांत्रिक और असंवैधानिक फैसले के विरोध में मैं कल (मंगलवार) दिन में 12 बजे से गांधी मूर्ति, कोलकाता में धरना पर बैठूंगी।’

टीएमसी ने बताया कालादिवस : तृणमूल कांग्रेस सांसद ने ममता बनर्जी के चुनाव प्रचार पर 24 घंटे के लिए रोक लगाये जाने पर कहा कि हमारे लोकतंत्र के लिए ‘काला दिवस’ है।



और भी पढ़ें :