बड़ी खबर, रूसी हैकर्स के निशाने पर अमेरिकी चुनाव, चुराया डाटा

Last Updated: शुक्रवार, 23 अक्टूबर 2020 (10:21 IST)
वॉशिंगटन। अमेरिका के अधिकारियों ने गुरुवार को कहा कि रूस के हैकरों ने कम से कम 2 सर्वरों से डेटा चुराया और देश एवं स्थानीय सरकारों के दर्जनों नेटवर्क को निशाना बनाया। अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव से 2 सप्ताह से भी कम समय पहले जारी इस चेतावनी ने मतों के साथ संभावित छेड़छाड़ की आशंका को बढ़ा दिया है और परिणामों की विश्वसनीयता को कमजोर किया है।
ALSO READ:
कमला हैरिस बोलीं, अमेरिका को एक ऐसे राष्ट्रपति की जरूरत है, जो लोगों की गरिमा को समझे
चेतावनी में हाल में रूस द्वारा प्रायोजित हैकिंग समूहों की देश और के खिलाफ गतिविधियों का जिक्र है। अमेरिकी अधिकारियों ने बुधवार रात को एक संवाददाता सम्मेलन में ईरानी हस्तक्षेप को लेकर आगाह किया था। इसके बाद एफबीआई और गृह सुरक्षा विभाग की साइबर सुरक्षा एजेंसी का परामर्श रूस की संभावित क्षमताओं को रेखांकित करता है।
अमेरिकी अधिकारियों ने यह नहीं बताया है कि रूसी हैकरों ने किसे निशाना बनाया? अधिकारियों ने कहा कि उन्हें हैकरों के इस प्रयास के कारण चुनाव या सरकारी कार्यों के प्रभावित होने या चुनावी डेटा की अखंडता को खतरा पहुंचने की कोई जानकारी नहीं मिली है। अमेरिका में 3 नवंबर को राष्ट्रपति चुनाव होना है। (भाषा)



और भी पढ़ें :