UP : दबंगों का खौफ, ग्रामीण परिवारों ने खेतों में डाला डेरा, मुकदमा हुआ दर्ज

अवनीश कुमार| Last Updated: बुधवार, 25 अगस्त 2021 (23:50 IST)
कानपुर। में अपराधियों व दबंगों पर भले ही योगी सरकार नकेल कसने की बात कह रही हो, लेकिन कानपुर देहात में इसका उलट देखने को मिल रहा है, जहां पर न तो पुलिस का कोई डर है और न ही सरकार का कोई डर है, दबंगों के हौसले इतने बुलंद हैं कि थाना मंगलपुर के तिसौली गांव में नायक समाज के 25 परिवारों के करीब 55 लोगों के साथ गांव के कुछ दबंगों ने मारपीट की।
इसके बाद उन्हें गांव से निकाल दिया। वहीं पीड़ित परिवार ने पुलिस पर आरोप लगाते हुए कहा कि जब वह इसकी शिकायत लेकर पुलिस के पास पहुंचे तो जांच के नाम पर औपचारिकता कर पुलिस चली गई।जिसके बाद से 25 परिवार गांव से पांच सौ मीटर दूर तंबू तानकर रह रहे हैं।

क्या है मामला :

गांव के राकेश ने पुलिस को बताया कि कानपुर देहात के मंगलपुर थाना क्षेत्र के भंदेमऊ ग्राम पंचायत के मजरा तिसौली में नायक समाज के करीब 30 परिवार रहते हैं।परिवार में लगभग 150 सदस्य हैं।इसमें कुछ लोग बाहर रहकर भरण-पोषण कर रहे हैं। फिलहाल गांव में उनके समाज के करीब 55 लोग रह रहे हैं।

मंगलवार सुबह गांव के करीब 15 से 20 लोग के साथ गांव के नरेश सिंह, हरपाल सिंह, गीरेंद्र सिह, गजेंद्र सिंह, राजेंद्र सिंह, अमित,मोहित व अजय पाल उनके घरों में घुस आए और मारपीट कर गाल-गलौज करने लगे और घर खाली कराने के लिए कहने लगे, जिससे घबराकर सभी परिवारों के सदस्य जान बचाने के डर से गांव के बाहर खेतों में टेंट लगाकर रहने को मजबूर हो गए हैं। राकेश ने बताया कि जिसकी लिखित जानकारी पुलिस को भी दे दी गई है।

सुरक्षित पहुंचा दिया घर : पूरे मामले को लेकर एएसपी घनश्याम चौरसिया ने बताया कि कानपुर देहात के मंगलपुर थाना क्षेत्र के भंदेमऊ ग्राम पंचायत के मजरा तिसौली में राकेश नायक व उसके अन्य परिवार वाले रहते हैं, उसी की बिरादरी के नरेश नायक नाम के व्यक्ति ने उसे व अन्य परिवार वालों को परेशान किया था, जिसके डर से यह सभी लोग खेत में रहने के लिए चले गए थे।
जानकारी होते ही पुलिस ने मुकदमा दर्ज करते हुए 6 आरोपियों को कर लिया था व मुख्य आरोपी की तलाश के लिए टीम लगा दी है। सभी को वापस अपने अपने घरों में पहुंचा दिया गया है। सुरक्षा की दृष्टि से गांव में पुलिस फोर्स भी लगा दी गई है।



और भी पढ़ें :