अरविंद केजरीवाल पहुंचे देहरादून, 300 यूनिट फ्री बिजली का किया वादा

निष्ठा पांडे| Last Updated: सोमवार, 12 जुलाई 2021 (21:17 IST)
हमें फॉलो करें
देहरादून। में आगामी साल 2022 में होने वाले के मद्देनजर प्रदेश की दोनों मुख्य पार्टियों के साथ ही आम आदमी पार्टी भी चुनावी मूड में आ गई है। इसी क्रम में 'आप' के राष्ट्रीय संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, रविवार को पहुंचे और उत्तराखंड की जनता को लुभाने के लिए हर महीने 300 यूनिट बिजली मुफ्त, हर घर 24 घंटे बिजली और पुराने घरेलू बिल माफ करने की घोषणा कर दी।
प्रदेश के ऊर्जा मंत्री ने बीते दिन 100 यूनिट तक बिजली का बिल माफ और 200 यूनिट बिजली इस्तेमाल करने पर 50 फीसदी बिजली का बिल जमा करने का प्रस्ताव तैयार करवाने को कहा था। जिसके बाद ही बिजली माफ का मुद्दा राजनीतिक मुद्दा बन गया, जिसे अब भुनाने को लेकर सभी पार्टियां जुट गई हैं। इसी क्रम में देहरादून पहुंचे अरविंद केजरीवाल ने सत्ता पर काबिज होते ही प्रदेश की जनता को 300 यूनिट तक बिजली माफ करने का वादा कर दिया।

अरविंद केजरीवाल ने उत्तराखंड की प्रमुख पार्टियों भाजपा और कांग्रेस पर करारा तंज कसा है। अरविंद केजरीवाल ने भाजपा पार्टी में नेतृत्व परिवर्तन को लेकर सवाल खड़े किए तो वहीं विपक्षी दल कांग्रेस पर भी सवाल खड़े करते हुए कहा कि कांग्रेस पिछले 10 दिनों से अभी तक नेता प्रतिपक्ष नहीं चुन पाई है। केजरीवाल ने कहा था इतने सालों में किसी भी सरकार ने प्रदेशवासियों को मुफ्त में बिजली दिए जाने की ओर ध्यान नहीं दिया, क्योंकि उनके पास राजनीति के अलावा विकास कार्यों पर कोई ध्यान नहीं है। यही नहीं, टिहरी डैम बनाने के लिए जिनकी जमीन ली उनको भी फ्री में बिजली नहीं दी।

अरविंद केजरीवाल ने कहा कि अगर उत्तराखंड राज्य में आम आदमी पार्टी की सरकार बनती है तो ना सिर्फ हर परिवार को 300 यूनिट तक बिजली मुफ्त में दी जाएगी बल्कि केजरीवाल की गारंटी है कि प्रदेश में स्वास्थ्य सुविधाओं के साथ ही सभी मूलभूत सुविधाओं को काफी बेहतर कर दिया जाएगा। यही नहीं, केजरीवाल ने गारंटी देते हुए कहा कि वह अब हर महीने उत्तराखंड का दौरा करेंगे और अलग-अलग घोषणाएं करेंगे।

आम आदमी पार्टी के संस्थापक एवं दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि उत्तराखंड में सीएम का चेहरा जब भी घोषित होगा, मैं खुद देहरादून आऊंगा। उन्होंने कहा कि भगवान ने उत्तराखंड को नेमतें देने में कोई कसर नहीं छोड़ी। यहां पहाड़ हैं, पेड़ हैं, वनस्पतियां हैं। यहां मेहनती और ईमानदार लोग हैं।लेकिन उत्तराखंड के नेताओं और पार्टियों ने उत्तराखंड को बर्बाद करने में कोई कसर नहीं छोड़ी। आज उत्तराखंड में दो पार्टियां हैं। चक्की के दो पाटों की तरह यहां की जनता इन दो पार्टियों के बीच में पिस रही है। दोनों पार्टियों ने अच्छी सेटिंग कर रखी है। बीस साल से ऐसा चल रहा है कि एक बार तुम लूटो, एक बार हम लूटेंगे इस प्रदेश को, इस रणनीति पर काम कर रहे हैं।

देहरादून में उन्होंने कहा कि सत्ताधारी पार्टी भाजपा के पास सीएम ही नहीं है। इतिहास में ये ही पार्टी कहती है कि हमारा सीएम खराब है। इसे बदल रहे हैं। विपक्ष के पास नेता ही नहीं है। नेता चुनने को दिल्ली के चक्कर काट रहे हैं। उत्तराखंड के विकास के बारे में, जनता के बारे में कौन सोचेगा। इन्हें कोई लेना-देना नहीं है। आम आदमी को परिवार चलाना मुश्किल हो गया। हर चीज महंगी हो गई है। दुखी कौन है, खासकर महिलाएं। आमदनी बढ़ नहीं रही। महंगाई बढ़ रही है।

उन्होंने कहा कि उत्तराखंड बिजली बनाता है, दूसरे राज्यों को बिजली देता है। यहां के लोगों को महंगी क्यों। क्या किसी सरकार ने सोचा। उनके पास टाइम नहीं है। सत्ता की लड़ाई लड़ रहे हैं। टिहरी बांध बना, प्रभावितों से वादा किया था कि फ्री बिजली मिलेगी। नहीं दी। ऊर्जा मंत्री ने ऐलान किया कि सौ यूनिट देंगे। अच्छा कि कुछ तो फायदा होगा, पर चुनाव का समय है। इस वादे पर टिकेंगे। एक बड़े नेता ने 15 लाख का ऐलान किया था। नहीं मिले। इसी तरह 24 घंटे में सीएम ने कहा कि ऐसा कोई प्रस्ताव नहीं है।

उन्होंने कहा कि दिल्ली में उत्तराखंड के बहुत लोग हैं। हर परिवार का दिल्ली से रिश्ता जरूर है। जब आपस में बात करते हैं। वो बताते हैं कि जो काम 70 साल में सारी सरकारें दिल्ली में नहीं कर पाईं, वो दिल्ली में हो रहा है। हर क्षेत्र में विकास हो रहा है। अब उत्तराखंड के लोग यहां आम आदमी पार्टी की सरकार का मन बना चुकी है। भरोसा दिलाना चाहता हूं कि जितने काम दिल्ली में हुए उससे ज्यादा अच्छे काम करेंगे।
ALSO READ:

मेहुल चोकसी को डोमिनिका कोर्ट से जमानत, एंटीगुआ जाने की इजाजत
केजरीवाल ने कहा कि केजरीवाल जो कहता है वो करता है। जुमला नहीं है। आज खासकर बिजली के क्षेत्र में चार बातों की गारंटी दे रहा हूं। पहला जैसे दिल्ली में करके दिखाया वैसे ही उत्तराखंड के अंदर तीन सौ यूनिट बिजली हर परिवार को दी जाएगी। दिल्ली में दो सौ दी जाती है। दो से चार सौ तक हाफ रेट में मिलती है। यहां हमने सीधा तीन सौ यूनिट तक देने का निर्णय किया है।
उन्होंने कहा कि लोगों के गलत बिल आ रहे हैं। कई बार जानबूझकर भेजे जाते हैं। आप की सरकार बनते ही पुराने बिल माफ किए जाएंगे। नए सिरे से शुरूवात होगी। कोई पावर कट नहीं होगा। 24 घंटे बिजली देंगे। उत्तराखंड के किसानों को मुफ्त बिजली दी जाएगी। हालांकि उन्होंने साफ किया कि पावर कट की व्यवस्था न होने के लिए ढांचे में सुधारीकरण किया जाएगा। इसमें चार-छह माह का वक्त लग सकता है। लेकिन बिजली के बिल में छूट सरकार बनते ही दी जाएगी।
उन्‍होंने कहा कि यदि हम बिजली मुफ्त करेंगे तो जनता पर अतिरिक्त कर का बोझ नहीं डालेंगे। पांच साल तक उत्तराखंड में कोई अतिरिक्त टैक्स नहीं वसूला जाएगा। उन्होंने कहा कि हम अन्य मद से बिजली के लिए राजस्व जुटाएंगे। भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाएंगे। इस दौरान प्रदेश प्रभारी दिनेश मोहनिया कर्नल (अ.प्रा.), अजय कोठियाल उपस्थित रहे।

इससे पहले उत्तराखंड में आम आदमी कार्यकर्ताओं में ऊर्जा का संचार करने के लिए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के दून पहुंचने पर जौलीग्रांट हवाई अड्डे पर कार्यकर्ताओं ने उनका जोरदार स्वागत किया। इसके बाद अरविंद केजरीवाल जौलीग्रांट एयरपोर्ट से सीधे होटल के लिए रवाना हो गए। दोपहर करीब एक बजे उन्होंने
होटल सॉलिटेयर हरिद्वार रोड, देहरादून में पत्रकार वार्ता को संबोधित किया। उसके बाद कार्यकर्ताओं से मुलाकात कर वे दिल्ली के लिए रवाना हो गए।



और भी पढ़ें :