रविशंकर प्रसाद बोले, ट्विटर IT नियमों का पालन करने में रहा विफल

Last Updated: बुधवार, 16 जून 2021 (15:57 IST)
नई दिल्ली। सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री ने बुधवार को कहा कि मध्यस्थ नियमों का करने में रहा और उसने कई अवसर मिलने के बावजूद जान-बूझकर इनका पालन न करने का रास्ता चुना।नियमों का पालन न करने को लेकर सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर निशाना साधते हुए प्रसाद ने कहा कि यह आश्चर्यजनक है कि स्वयं को स्वतंत्र अभिव्यक्ति के ध्वजवाहक के रूप में पेश करने वाला ट्विटर, जब मध्यस्थ दिशानिर्देशों की बात आती है तो जानबूझकर अवज्ञा का रास्ता चुनता है।
ALSO READ:
ट्विटर को लगा बड़ा झटका, IT नियमों का पालन नहीं करने की वजह से इंटरमीडियरी प्लेटफॉर्म खोया
प्रसाद ने स्वेदशी सोशल मीडिया मंच 'कू' पर सिलसिलेवार पोस्ट में कहा कि इस बात को लेकर कई सवाल उठ रहे हैं कि क्या ट्विटर संरक्षण प्रावधान का हकदार है। हालांकि इस मामले का सामान्य तथ्य यह है कि ट्विटर 26 मई से लागू हुए मध्यस्थ दिशानिर्देशों का पालन करने में विफल रहा है।


संरक्षण (हार्बर) प्रावधान, एक कानून या विनियम का प्रावधान है जो निर्दिष्ट करता है कि किसी निश्चित आचरण को, दिए गए नियम का उल्लंघन करने वाला न माना जाए। मंत्री ने इस मामले के संबंध में ट्वीट भी किया। प्रसाद ने कहा कि ट्विटर को कई अवसर दिए गए, लेकिन उसने जानबूझकर इनका पालन न करने का रास्ता चुना।(भाषा)



और भी पढ़ें :