राहुल गांधी का BJP पर पलटवार, पंजाब-राजस्थान में दुष्कर्म पीड़िता के लिए लड़ूंगा न्याय की लड़ाई

पुनः संशोधित शनिवार, 24 अक्टूबर 2020 (20:54 IST)
नई दिल्ली। (Congress) के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने कहा है कि के हाथरस में जिस तरह से दुष्कर्म पीड़िता के साथ अन्याय हुआ है और घटना को नकारा गया है, और राजस्थान मे वह स्थिति नहीं आने दी जाएगी।
गांधी ने शनिवार को ट्वीट किया कि पंजाब और राजस्थान सरकार उत्तरप्रदेश की तरह बलात्कार की घटना को नकार नहीं रही है और न ही पीड़ित परिवार को धमकाया जा रहा है और न ही न्याय के दरवाजों को बंद किया जा रहा है। यदि ऐसा होता है तो मैं वहां जाऊंगा और पीड़िता के लिए न्याय की लड़ाई लडूंगा।
इससे पहले कांग्रेस प्रवक्ता एवं महिला कांग्रेस की अध्यक्ष सुष्मिता देव ने आज यहां संवाददाता सम्मेलन में आरोप लगाया कि भारतीय जनता पार्टी पंजाब के में दुष्कर्म की घटना को लेकर राजनीति कर रही है और केंद्र में उसकी सरकार के तीनतीन वरिष्ठ मंत्री प्रेस कॉन्फ्रेंस में घटना की निंदा कर चुनावी लाभ अर्जित करने का प्रयास कर रहे हैं।
उन्होंने कहा कि वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण को प्रेस कॉन्फ्रेंस में आज देश की आर्थिक स्थिति को लेकर बात करनी चाहिए थी, लेकिन उन्होंने पंजाब के होशियारपुर में दुष्कर्म की घटना का मामला उठाया और इस घटना को राजनीतिक रंग देने का प्रयास किया। इसी तरह से केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर तथा डॉ. हर्षवर्धन ने भी प्रेस कॉन्फ्रेंस में देश की स्थिति पर सरकार का नजरिया रखने की बजाय इस घटना का जिक्र किया और इस पर राजनीतिक करने का प्रयास किया।
केंद्र सरकार के तीनों वरिष्ठ मंत्रियों के बयानों पर हैरानी जताते हुए उन्होंने कहा कि उत्तरप्रदेश के हाथरस में सितंबर में एक यवती के साथ दुष्कर्म की घटना पर इन तीनों मंत्रियों ने अब तक एक शब्द नहीं बोला है, लेकिन होशियारपुर की घटना पर उन्होंने तीन अलग-अलग प्रेस कॉन्फ्रेंस करके अचानक अपनी जुबान खोली और इस घटना को राजनीतिक रंग देखकर बिहार विधानसभा के चुनावों में भाजपा को फायदा देने का प्रयास किया है।
उन्होंने इसे घिनौनी राजनीति करार दिया और कहा कि पंजाब सरकार इस घटना को लेकर अत्यंत सतर्क है और वह उत्तरप्रदेश सरकार की तरह दुष्कर्म की घटना को दबाने और पीड़ित परिजनों को परेशान करने का काम नहीं कर रही है।
महिला कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि पंजाब सरकार ने इस मामले को तत्काल संज्ञान में लेते हुए आवश्यक कार्रवाई शुरू की है। उनका कहना था कि दुष्कर्म की घटना चाहे कहीं हो वह निंदनीय होती है और इस अपराध को लेकर किसी तरह की राजनीति नहीं की जानी चाहिए।

सुष्मिता देव ने पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी तथा उत्तरप्रदेश के प्रभारी महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा के पिछले माह हाथरस जाकर पीड़ित परिजनों से मिलने का मकसद दुष्कर्म की घटना को प्रभावी तरीके से उठाना और पीड़ित परिवार के सदस्यों के साथ संवेदना व्यक्त करना था।
उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार को पंजाब के होशियारपुर की घटना को संवेदनशील तरीके से लेना चाहिए और इस मुद्दे पर चुनावी लाभ हासिल करने की कोशिश नहीं करनी चाहिए। उनका कहना था कि केंद्रीय मंत्रियों ने इस मुद्दे को जिस तरह से उठाया है उससे साफ है कि भाजपा बिहार में हो रहे विधानसभा चुनावों में इस घटना के सहारे चुनावी लाभ अर्जित करना चाहती है इसलिए इस मुद्दे को राजनीतिक रूप देने का प्रयास किया जा है।
कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि भाजपा नेताओं ने तीन अलग-अलग प्रेस वार्ताएं करके इस घटना के प्रति संवेदना व्यक्त नहीं की बल्कि उनका मकसद राजनीति करके पंजाब की कांग्रेस सरकार को कटघरे में खड़ा करना था। उन्होंने सवाल किया कि आखिर 14 सितंबर की हाथरस की घटना के बाद इन तीनों नेताओं ने इसको लेकर अब तक कोई प्रेस कॉन्फ्रेंस क्यों नहीं की। (एजेंसियां)



और भी पढ़ें :