पेट्रोल-डीजल से सरकार ने कमाए 3.35 लाख करोड़ रुपए

पुनः संशोधित सोमवार, 19 जुलाई 2021 (16:46 IST)
नई दिल्ली। सरकार ने सोमवार को कहा कि पिछले में पेट्रोल-पर केंद्र की ओर से लगाए जाने वाले उत्पाद शुल्क के जरिए राजस्व का संग्रह 88 प्रतिशत बढ़कर 3.35 लाख करोड़ रुपए हो गया।
पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्री रामेश्वर तेली ने लोकसभा में एक प्रश्न के लिखित उत्तर में यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि वित्त वर्ष 2020-21 में पेट्रोल एवं डीजल पर उत्पाद शुल्क का संग्रह बढ़कर 3.35 लाख करोड़ रुपए हो गया, जो इससे एक साल पहले 1.78 लाख करोड़ रुपए था।

उन्होंने कहा कि यह संग्रह और भी बढ़ा होता, लेकिन लॉकडाउन और दूसरे प्रतिबंधों के कारण ईंधन की बिक्री में कमी आई। रामेश्वर तेली के मुताबिक, 2018-19 में पेट्रोल-डीजल पर उत्पाद शुल्क के जरिए 2.13 लाख करोड़ रुपए के राजस्व का संग्रह हुआ था।(भाषा)



और भी पढ़ें :