बुधवार, 10 अप्रैल 2024
  • Webdunia Deals
  1. मनोरंजन
  2. पर्यटन
  3. पहाड़ों की गोद में
  4. Enjoy the rain at these places
Written By
Last Updated : सोमवार, 26 जून 2023 (13:06 IST)

भारत में इन 5 जगहों की बारिश सबसे शानदार रहती है, जरूर जाएं देखने

Coorg
Bliss of rain यदि आपको बारिश का मौसम अच्छा लगता है और आप चाहते हैं कि इस मौसम का भरपूर आनंद लेना तो आपको ऐसी जगहों पर जाना चाहिए जहां पर जोरदार बारिश होती हो और घूमने के दौरान ज्यादा खतरा भी नहीं रहता हो। वर्षा ऋतु के इस मानसून में आप हमारी बताई गई 5 जगहों पर करें टूर।
 
भारत में बारिश का आनंद लेने वाले स्थान:- लोनावाला, गोवा, कोडाइकनाल, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, कूर्ग, मुन्नार, लद्दाख, उदयपुर, स्पीति घाटी, शिलांग, पांडिचेरी, दार्जिलिंग, पुष्कर, रानीखेत, वायनाड, माउंट आबू, जोग फॉल्स, ओरछा, कच्छ, अलीबाग, औली, जयपुर, अंबोली, मालशेज घाट, भंडारदरा, अगुम्बे, चिकमगलूर, इथेनमाला, नेलियामपथी।
 
1. चेरापूंजी : भारतीय राज्य मेघालय एक ऐसा स्थान है जहां पर बारिश का मजा लेने के लिए दूर-दूर से लोग आते हैं। यहां के कुछ स्थानों पर 12 माह ही बारिश होती है और यहां का मौसम बहुत सुहान माना जाता है। जंगल और बारिश का मजा लेना लेना चाहते हैं तो मेघालय जरूर जाएं। यहां प्रमुख रूप से शिलॉन्ग को जरूर देखें। इसे पूर्व का स्कॉटलैंड कहा जाता है। दूसरा स्थान है चेरापूंजी या चेर्रापुंजी जो शिलॉन्‍ग से 56 किलो मीटर की दूरी पर है। धरती पर दूसरा सबसे ज्यादा बारिश वाला स्थान है चेर्रापुंजी।
 
2. कुंचिकल झरना- निदगोडु कर्नाटक : ऊंचाई लगभग 455 मीटर। यहां वराही नदी का पानी बहता है। हालांकि यहां का प्रसिद्ध जोग वाटरफॉल भी है।  कुंचिकल जलप्रपात कर्नाटक के शिमोगा जिले में मस्थीकट्टे के पास निदगोडु गांव में स्थित है। इस झरने की ऊंचाई 455 मीटर (1493 फीट) है। यह भारत के सबसे ऊंचे झरनों में से एक है। कुंचिकल झरने को स्थानीय लोग कुंचिकल अब्बे के नाम से भी जानते है। वराही नदी के साथ बहने वाली अन्य कई नदियां मानसून के दौरान यहां के कई झरनों के संग मिल जाती है। इसलिए मानसून में हम कुंचिकल झरने के आसपास और कई छोटे झरने बहते देखते हैं। यहां का सबसे करीबी एयरपोर्ट बेंगलुरु है। कर्नाटक के ही शिमोगा में स्थित एक और बरकाना झरना 259 मीटर ऊंचा है। यह झरना भी सीता नदी के द्वार पश्चिमी घाट के पहाड़ों से ही नीचे गिरता है। इसी जिले में शरावती नदी द्वारा 253 मीटर की ऊंचाई पर एक झरना गिरता है जिससे जोग फॉल्स कहते हैं। 
3. चित्रकूट : पांच गांव का मिलाकर है चित्रकूट है। इसका कुछ हिस्सा उत्तर प्रदेश और कुछ मध्यप्रदेश में आता है। यहां के सुंदर प्राकृतिक स्थल, कल कल बहते झरने, घने जंगल, चहकते पक्षी और बहती नदियां मानसून एवं प्रकृति प्रेमियों के लिए स्वर्ग के समान है। चित्रकूट मध्यप्रदेश के सतना जिले में आता है, जबकि चित्रकूट धाम उत्तर प्रदेश में पड़ता है।
 
4. मुन्‍नार, केरल: भारत में मानसून का आगमन केरल के तट से ही होता है। मुन्नार एक मलयालम शब्द है जिसका अर्थ तीन नदियों के संगम से होता है। यह जगह काफी शांत और रोमांटिक है। इस जगह का औसत तापमान 20 डिग्री सेल्सियस रहता है।
 
5. माथेरान हिल स्टेशन : यह हिल स्टेशन महाराष्ट्र के रायगढ़ जिले में स्थित है। इसे देश के सबसे छोटे हिल स्टेशन परंतु खूबसूरत हिल स्टेशन का दर्जा प्राप्त है। यहां देखने के लिए कई व्यू प्वाइंट, झीलें और पार्क हैं जिनमें मंकी प्वाइंट, लिटिल चॉक, चॉक पॉइण्ट, इको प्वाइंट, मनोरमा प्वाइंट, सनराइज और सनसेट प्वाइंट प्रमुख हैं। यहां झरने, झील और बादलों को देखने का मजा ही कुछ और है। बादलों से घिरे पहाड़ और पहाड़ों से गिरते झरनों को देखकर आप चकित रह जाएंगे। इन अद्भुत नजारों का आनंद अपने आप में ही बहुत रोमांच भरा है। राजयगढ़ में होने के कारण आप रायगढ़ का किला भी देख सकते हैं।