0

गुलमर्ग फिर बनने लगा टूरिस्टों का बेस्ट डेस्टिनेशन...

शनिवार,दिसंबर 23, 2017
0
1

अमरकंटक: नदियों का शहर

बुधवार,जुलाई 5, 2017
शीशम, सागौन, साल, शिरीष के ऊंचे-ऊंचे घने वन जहां सूरज की किरणें भी धरा पर नहीं पहुंचती। जहां तक नजर जा रही है वहां तक घने शांत वन और दूर-दूर तक दिखाई देते ऊंचे-ऊंचे पर्वत। मार्च की हल्की-फुल्की ठंड मौसम को और ज्यादा खुशनुमा बना रही है। मैं बात कर ...
1
2
बर्फ से ढंकी ऊंची चोटियां, हिमनदी, रेत के टीले, चमकती सुबह के साथ घने बादल, दुनिया की सबसे ऊंची जगह पर स्थित लद्दाख का यह परिदृश्य है। लद्दाख उत्तर की तरफ से काराकोरम और दक्षिण की तरफ हिमालय से घिरा है। लगभग 9,000 से 25,170 फीट की ऊंचाई पर यह स्थान ...
2
3
भारत में अगर सबसे अधिक पूजा-पाठ तथा भगवान को माना जाता है तो वह लद्दाख में माना जाता है। लद्दाख, जिसे 'चन्द्रभूमि' का नाम भी दिया जाता है, सचमुच चन्द्रभूमि ही है। यहां पर धर्म को अधिक महत्व दिया जाता है।
3
4
तीन रंगों की धरती लद्दाख अपने आप में अनेक रहस्यों को समेटे हुए है। आकाश से इस पर अगर एक नजर दौड़ाई जाए तो मिट्टी रंग की जमीन में सफेद चादर बर्फ की देख आनंदित हुए बिना नहीं रहा जा सकता जबकि घाटी में सफेद बर्फ से ढंके इन पहाड़ों की परछाइयां भी भयानक
4
4
5
महाराष्ट्र के खूबसूरत और लोकप्रिय हिल स्टेशनों में से एक है पंचगनी। एक ओर कल-कल प्रवाह करती कृष्णा नदी तो दूसरी ओर छायादार घने पेड़ों की कतार, कहीं से विशाल हरे मैदानों का आकर्षक नजारा तो कहीं बादलों की आंख-मिचौनी।
5
6
यूं तो अपने पंजाब में कोई पर्वतीय पर्यटन स्थल ही नहीं है, फिर भी पड़ोस के राज्य हिमाचल के धर्मशाला, मैकलोडगंज, कुल्लू, मनाली, शिमला, डलहौजी और उनके आसपास के सेटेलाइट स्थल धर्मकोट वगैरह काफी नजदीक पड़ते हैं।
6
7
सड़क किनारे गुजरते ही बर्फीली हवाओं का बदन को छूकर जाना तो शरीर में कंपकंपी का छूट जाना, लंबे-लंबे चीड़ और देवदार के पेड़ जिन पर से बर्फ के फाहे हवा के झौंकों के साथ नीचे गिरते हुए यूं लगते हैं जैसे बर्फ की बरसात हो रही हो। बर्फ की सफेद चादर और ...
7
8
आगामी वर्षों में जिला कठुआ के ऐतिहासिक कस्बे बसोहली तथा बिलावर बदलावों की ओर अग्रसर हैं। सांस्कृतिक धरोहर, साम्प्रदायिक तालमेल, भाईचारे से भरपूर ये नगर सामाजिक सांस्कृतिक रिश्तों को एक धागे में बांधते हुए देश में विशिष्ठ पहचान देती है।
8
8
9
वैसे तो भारत में सबसे ऊंची चोटियों की बात करें तो कंचनजंघा, सारेर कांगड़ी, घेंट कांगड़ी और अबी गमीन के नाम लिए जा सकते हैं। कैलाश पर्वत का नाम हम इसलिए नहीं लेते, क्योंकि वह भारत में नहीं है।
9
10
कश्मीर आने वाले टूरिस्टों के लिए खुशी और गम की दो बातें हैं। अब उन्हें कश्मीर दौरे पर दरिया झेलम में क्रूज का मजा लूटने का मौका मिला करेगा। गम की बात यह कही जा सकती है कि डल झील की निशानी हाउस बोट अब बीते कल की बात हो जाएगी।
10
11
'रैपिड' यानी नदी के वे स्थान जहां नदी का पानी खलबलाते हुए उछलता है, पर कैसे अपना बचाव करना है और राफ्ट पर किस प्रकार पैरों की पकड़ बनाए रखनी है, का ज्ञान दिया जा चुका था। पानी में संतरे के छिल्के, ‍बिस्किट के रैपर को फेंकना कोरी को अच्‍छा नहीं लगा। ...
11
12
जब हम भारत को बचाने की बात करते हैं तो भारत एक भूमि है। यहां की भूमि के पहाड़ों, नदियों और वृक्षों के साथ ही यहां के पशु-पक्षियों और जलचर जंतुओं को बचाया जाना चाहिए। जो लोग इनको नष्ट कर रहे हैं, वे ही भारत के असली दुश्मन या कहें की देशद्रोही हैं। जो ...
12
13
भारत में हर तरह के पहाड़ी इलाके मिल जाएंगे, आपको कहीं विदेश जाने की जरूरत नहीं। यहीं पर स्वीट्जरलैंड और अफ्रीका के नजारे देखे जा सकते हैं, तो साइबेरिया और सहारा के भी। भारत में घुमने और देखने के लिए सब कुछ है। एक और धार्मिक स्थल है, तो दूसरी और ...
13
14

जंगल से एकतरफा संवाद- भाग 4

बुधवार,अक्टूबर 8, 2014
ये जंगल, ये पर्वत और झरने हमें अध्यात्म का विषय लगते हैं, परंतु इससे पहले ये भूगोल का विषय हैं और अध्यात्म भूगोल का विषय भी है। जब इन इन दृश्यों को मैंने भूगोल के साथ जोड़ा तो इन पर्वतों की ऊंचाई से ज्यादा गहराई का अंदाजा हुआ। वास्तव में आज भारत ...
14
15

जंगल से एकतरफा संवाद- भाग 3

मंगलवार,अक्टूबर 7, 2014
नेपाल के पोखरा से बाग्लुंग के बीच हिमालय और धौलागिरी पर्वत श्रृंखला के परिवार के सदस्य इन पहाड़ों पर कुछ घाव नजर आने लगे हैं। ऊपरी चोटी तक पहुंचने के लिए सड़कें बन रही हैं। इन्हें बनाने के लिए बारूद से पहाड़ों को तोड़ा गया।
15
16

जंगल से एकतरफा संवाद : भाग 2

गुरुवार,अक्टूबर 2, 2014
नेपाल का धौलागिरी अंचल, जो अन्नपूर्णा पर्वत का आधार है, प्रकृति और मानव समाज को समझने के लिए सबसे उम्दा विश्वविद्यालय है। 'धौलागिरी' शब्द की उत्पत्ति 'धवल' से हुई है जिसका मतलब होता है बहुत चमकीला सफेद, 'गिरी' का मतलब पर्वत। धौलागिरी पर्वत का मतलब ...
16
17

जंगल से एकतरफा संवाद- भाग 1

बुधवार,अक्टूबर 1, 2014
जब आस-पास शोर नहीं होता, तो डर क्यों लगता है? सन्नाटे और शांति में, चिंतन और शोर में थोड़ा नहीं, वरन् बुनियादी अंतर होता है। जिस तरह का शोर हमारे भीतर भरा हुआ है, वह हमें चेतना से दूर हटाता है। वह हमें शांति से डरने के लिए तैयार करता है। जंगल जो ...
17
18
भारत एक ऐसा देश है, जहां विभिन्न क्षेत्र, विभिन्न आबोहवा अपने में समेटे हुए रहते हैं। गुजरात का कच्छ व राजस्थान रेत में भी चटख रंगों की सुन्दरता समेटे है, तो केरल हरियाली और झरने। सिक्किम, उत्तराखंड बर्फ के साथ खूबसूरत फूलों से आपका स्वागत करता है, ...
18
19
दार्जीलिंग गोरखालैंड टेरिटोरियल एडमिन‍िस्ट्रेशन क्षेत्र हिम धवल पर्वत शिखर विश्वविख्यात 'कंचनजंघा' एवं घने जंगल, पहाड़ियों, मंदिरों, गुफा व रहस्यमयी झीलों से घिरा पर्यटकों के लिए आकर्षण का प्रमुख केंद्र है। विद्यार्थियों के लिए ज्ञान का भंडार है। ...
19