कमलनाथ को शिवराज की चेतावनी, मप्र को न बनाएं पश्चिम बंगाल

विशेष प्रतिनिधि| पुनः संशोधित सोमवार, 20 मई 2019 (12:21 IST)
भोपाल। मध्यप्रदेश में आखिरी चरण के मतदान के दौरान के में भाजपा कार्यकर्ता की गोली मारकर हत्या करने के बाद सूबे की सियासत गरमा गई है। मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने कांग्रेस को चेतावनी देते हुए कहा कि कांग्रेस मध्यप्रदेश को पश्चिम बंगाल बनाने की कोशिश न करें।
मध्यप्रदेश शांति का टापू है और इसकी पहचान शांति के टापू के रूप में रहेगी। शिवराज ने कहा कि सांवेर में भाजपा कार्यकर्ता की हत्या केवल इसलिए कर दी क्योंकि उसने भाजपा के लिए काम किया और वोट दिया था।

शिवराज ने इसके पीछे सरकार में मंत्री तुलसी सिलावट को जिम्मेदार बताया है। शिवराज ने दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की मांग करते हुए कहा कि कांग्रेस हार से बौखला कर हिंसा का रास्ता अपना रही है।
कांग्रेस प्रदेश में हिंसा और हत्या का खेल न शुरू करें और दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करें। शिवराज ने कहा कि अगर दोबारा प्रदेश में ऐसी घटना हुई तो वे खुद और पूरी भाजपा सड़क पर उतरकर विरोध करेगी।

एमपी में आएंगे चमत्कारी परिणाम : इसके साथ ही शिवराजसिंह चौहान ने कहा कि मध्यप्रदेश में लोकसभा चुनाव के परिणाम चमत्कारी आएंगे। एग्जिट पोल पर मुख्यमंत्री कमलनाथ के बयान पर तंज कसते हुए शिवराज ने कहा कि कमलनाथजी ये भी नहीं मान रहे हैं कि मध्यप्रदेश में कर्जामाफ नहीं हुआ।
मैंने उनसे कहा कि धोखे में नहीं रहो जमीन पर जाओ, और सही चीज देखो, आज नहीं मान रहे हैं तो 23 को मान जाएंगे। शिवराज ने कहा कि भाजपा मध्यप्रदेश में सभी 29 लोकसभा सीट जीतेगी और परिणाम चमत्कारिक होंगे।

 

और भी पढ़ें :