ट्रंप सरकार कर रही है जो बिडेन के पुत्र के चीन से व्यापारिक रिश्तों की जांच

DW| पुनः संशोधित शनिवार, 12 दिसंबर 2020 (13:31 IST)
अमेरिका में न्याय मंत्रालय नव निर्वाचित राष्ट्रपति के पुत्र के वित्तीय रिकॉर्ड की जांच कर रहा है। जांच में के के साथ व्यापारिक रिश्ते भी शामिल हैं।
हंटर बिडेन के वित्तीय लेनदेन को लेकर सवाल उनके पिता के राष्ट्रपति चुनावों के सफल अभियान के दौरान भी छाए रहे थे। इन सवालों को लेकर राष्ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप और उनके साथी बिडेन पर लगातार हमला करते रहे, लेकिन यह विवाद दोबारा ऐसे समय पर खड़ा हो गया है जब बिडेन उसी संस्था के सचिव के लिए एक विश्वसनीय उम्मीदवार की तलाश कर रहे हैं जो सक्रिय रूप से उनके बेटे के खिलाफ ही जांच कर रही है।

ये टैक्स जांच 2018 में शुरू की गई थी, जो बिडेन के राष्ट्रपति चुनावों के लिए उम्मीदवारी की घोषणा के ठीक एक साल पहले। बुधवार नौ दिसंबर को हंटर ने जांच की पुष्टि की, और बताया कि उन्हें खुद इसके बार में एक ही दिन पहले पता चला है।

उन्होंने एक बयान में कहा, मैं इस मामले को बहुत गंभीरता से ले रहा हूं, लेकिन मुझे पूरा विश्वास है कि अगर इन मामलों की पेशेवर और निष्पक्ष समीक्षा की जाएगी तो सामने आएगा कि मैंने हमेशा कानून का पालन किया है। इसमें पेशेवर टैक्स सलाहकारों की सलाह भी शामिल है।

यह पूरी तरह से स्पष्ट नहीं हुआ है कि जांच की परिधि में उनकी कौनसी कंपनियों और कौन से व्यापारिक लेनदेन हैं, लेकिन पूरे मामले के एक जानकार ने बताया कि हंटर ने पूर्व में चीन में जो काम किया था उस पर भी नजर है। जांच से परिचित एक और व्यक्ति ने बताया कि मंगलवार को केंद्रीय जांचकर्ताओं ने कई लोगों के नाम समन जारी किए, जिनमें हंटर भी शामिल हैं। हंटर का अंतरराष्ट्रीय मामलों का और कई देशों में व्यापार का इतिहास है।

ट्रंप और उनके साथियों ने आरोप लगाया है कि वो अपने राजनीतिक संपर्कों की मदद से व्यापार में लाभ उठाते हैं। उन्होंने यह भी आरोप लगाया है कि जब जो बिडेन उप राष्ट्रपति थे तब उन्होंने यूक्रेन में भ्रष्टाचार किया था और यूक्रेन से ओबामा प्रशासन के लेनदेन को प्रभावित किया था।

बिडेन की ट्रांजीशन टीम ने एक बयान में कहा, निर्वाचित राष्ट्रपति बिडेन को अपने बेटे पर बहुत गर्व है जिन्होंने मुश्किल चुनौतियों का मुकाबला किया है। बीते महीनों में विद्वेषपूर्ण निजी हमलों के बावजूद वो इन चुनौतियों से पहले से और मजबूत हो कर निकले हैं।

पिछले साल न्यूयॉर्क पत्रिका में छापे एक लेख में दावा किया गया था कि हंटर 2013 में अपने पिता के साथ बीजिंग गए थे और वहां एक व्यापारिक सहयोगी से मिले थे। उन्होंने यह भी माना था कि उन्हें ऊर्जा क्षेत्र में चीन के एक बड़े व्यापारी ने एक हीरा भेंट किया था। उस व्यापारी की लिक्विफाइड प्राकृतिक गैस की परियोजनाओं में रूचि थी। लेकिन हंटर ने इस संभावना को तरजीह नहीं दी कि इस भेंट का उद्देश्य उनके पिता की नीति को प्रभावित करना हो सकता है।

उन्होंने पत्रिका को बताया कि उन्होंने वो हीरा अपने एक सहयोगी को दे दिया। उन्होंने कहा, वो मुझे रिश्वत देंगे भी क्यों? मेरे पिता उस समय पद पर भी नहीं थे। हंटर इससे पहले भी विवादों में रहे हैं। जब उनके पिता उप राष्ट्रपति थे, तब वो नेवल रिजर्व में भर्ती हो गए थे और वहां जांच में उनके खून में कोकीन पाई गई थी। उन्होंने बाद में माना था कि वो कई सालों ये कोकीन की लत से जूझ रहे थे।
- सीके/एए (एपी)



और भी पढ़ें :