1. समाचार
  2. खोज-खबर
  3. ज्ञान-विज्ञान
  4. Scientists are now turning the sound of the universe into data
Written By
Last Updated: सोमवार, 22 अगस्त 2022 (17:00 IST)

ब्रह्मांड अब धीरे से कानों में कुछ कहेगा, वैज्ञानिक बदल रहे हैं आंकड़ों को ध्वनि में

मेलबर्न। हम अक्सर खगोल विज्ञान को एक दृश्य विज्ञान के रूप में सोचते हैं ब्रह्मांड की सुंदर छवियों के साथ। हालांकि खगोलविद प्रकृति को गहराई से समझने के लिए छवियों से परे विश्लेषण उपकरणों की एक विस्तृत श्रृंखला का उपयोग करते हैं। डेटा सोनिफिकेशन डेटा को ध्वनि में बदलने की प्रक्रिया है।
 
इसके अनुसंधान, शिक्षा और अन्य क्षेत्रों में शक्तिशाली अनुप्रयोग हैं और नेत्रहीन और दृष्टिबाधित समुदायों को भूखंडों, छवियों और अन्य डेटा को समझने में सक्षम बनाता है। विज्ञान में एक उपकरण के रूप में इसका उपयोग अभी भी अपने प्रारंभिक चरण में है लेकिन खगोल विज्ञान के क्षेत्र में काम करने वाले समूह इसके साथ काफी आगे बढ़ रहे हैं।
 
'नेचर एस्ट्रोनॉमी' में प्रकाशित एक पेपर में मेरे सहयोगी और मैं खगोल विज्ञान और अन्य क्षेत्रों में डेटा सोनिफिकेशन की वर्तमान स्थिति पर चर्चा करते हैं, 100 ध्वनि-आधारित परियोजनाओं का अवलोकन प्रदान करते हैं और इसके भविष्य की दिशाओं का पता लगाते हैं।
 
कॉकटेल पार्टी प्रभाव में इस दृश्य की कल्पना करें: आप एक भीड़भाड़ वाली पार्टी में हैं, जहां काफी शोरगुल है। आप किसी को नहीं जानते हैं और वे सभी ऐसी भाषा बोल रहे हैं जिसे आप समझ नहीं सकते। फिर आपको दूर किसी कोने से अपनी भाषा की बातचीत के कुछ अंश सुनाई देते हैं। आप इस पर ध्यान केंद्रित करते हैं और अपना परिचय देने के लिए उस ओर बढ़ते हैं।(भाषा)
ये भी पढ़ें
दिल्ली में फेल हुआ ऑपरेशन लोटस, अरविंद केजरीवाल ने मनीष सिसोदिया के लिए मांगा भारत रत्न