मेड इन इंडिया 5G टेक्नोलॉजी के लिए Airtel ने मिलाया Tata Group के साथ हाथ

Last Updated: मंगलवार, 22 जून 2021 (18:59 IST)
नई दिल्ली। भारती और ने भारत में 5जी नेटवर्क समाधान की शुरुआत के लिए सामरिक भागीदारी की घोषणा की। दोनों कंपंनियों की तरफ से जारी संयुक्त बयान के अनुसार टाटा समूह ने 'ओ-आरएएन (ओपन रेडियो एक्सेस नेटवर्क) आधारित रेडियो और एनएसए/एसए (नॉन-स्टैंडअलोन/स्टैंडअलोन) कोर विकसित किया है।
ALSO READ:
ने शुरू किया 5G नेटवर्क ट्रायल, टेस्टिंग में मिली 1Gbps से भी ज्यादा स्पीड
समूह ने भागीदारों की क्षमताओं का लाभ उठाते हुए एक पूरी तरह से स्वदेशी दूरसंचार एकीकृत किया है। यह जनवरी 2022 से व्यावसायिक इस्तेमाल के लिए उपलब्ध होगा। बयान में कहा गया कि टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (टीसीएस) की वैश्विक प्रणाली एकीकरण विशेषज्ञता प्रदान करेगी। 3जीपीपी तथा ओ-आरएएन दोनों मानकों के लिए एंड-टू-एंड समाधान को संरेखित करने में मदद मिलती है जिससे नेटवर्क और उपकरण तेजी से सॉफ्टवेयर में तब्दील हो रहे हैं।
इसके अलावा एयरटेल सरकार के नियमों के अनुसार भारत में अपनी 5जी योजनाओं के हिस्से के रूप में स्वदेशी समाधान की परियोजनाओं को जनवरी 2022 में शुरू करेगा।(भाषा)



और भी पढ़ें :