अंतहीन नरक! सौतेला बाप पहले दुष्कर्म करता रहा, पति भी बना, फिर वेश्यावृत्ति मे धकेल दिया...

ऐसे वीभत्स अपराध, जिन पर यूरोप में शोर नहीं मचता

Crime
भारत में हम समझते हैं कि एक से एक ऐसे भयंकर अपराध हो रहे हैं कि विश्वास करना कठिन हो जाता है कि क्या कोई मनुष्य ऐसा भी कर सकता है! पश्चिम के अमीर देशों की स्थिति भी इस तरह के मामलों में भारत से बेहतर नहीं हैं, लेकिन वीभत्स अपराधों से न तो उनकी साख को कोई आंच पहुंचती है और न मीडिया शोर मचाता है।

फ्रांस में वालेरी बाको नाम की 40 साल की एक महिला की पिछले वर्ष 22 जून को अदालत में पेशी थी। उस पर आरोप था कि उसने अपने सौतेले पिता रहे और बाद में पति बन गए दानिएल पोलेत की हत्या की है। अपराध बहुत गंभीर था, इसलिए उसे आजीवन कारावास की सज़ा मिल सकती थी। लेकिन दूसरी ओर, फ्रांस में हज़ारों लोग इस महिला के बचाव में खड़े हो गए और उसे बरी कर दिए जाने की मांग करने लगे।

पुस्तक में किया आपबीती का वर्णन : इन समर्थकों में बहुतेरे ऐसे लोग थे, जिन्होंने वालेरी बाको की लिखी पुस्तक 'तूत ले मोंद सवी (हर कोई जानता है)' संभवतः पढ़ी थी। इस पुस्तक में अपनी आपबीती का वर्णन करते हुए उसने लिखा है, 'मुझे इसका अंत करना ही था।' अंत करना था, उमर में 35 साल बड़े सौतेले बाप के अत्याचारों का। पहले तो वह उसके साथ बलात्कार किया करता और मारता-पीटता था। बाद में उससे शादी कर ली और वेश्यावृत्ति करवाने लगा। पूर्वी फ्रांस के शलों-सुअर-सां नाम के शहर की अदालत में सुनवाई के समय वालेरी बाको ने कहा कि 12 साल की उम्र से ही उसे जो 'अंतहीन नरक' झेलना पड़ा है, उसका शब्दों में वर्णन नहीं हो सकता।
सौतेले बाप से 4 बच्चे : उस समय उसका यही सौतेला बाप उसकी मां के साथ बलात्कार किया करता था। इस कारण पापी बाप को कुछ समय जेल में भी रहना पड़ा। पर जेल से छूटते ही फिर वही ढाक के तीन पात! बल्कि अब वह वालेरी के साथ भी बलात्कार करने लगा। वालेरी तब 17 साल की थी और उसका सौतेला बाप 53 साल का। सौतेले बाप की इन करतूतों के कारण वह गर्भवती हो गई। इस पर उसकी मां ने उसे घर से निकाल दिया। उसके पास अपना न कोई ठौर-ठिकाना था और न कोई आय। इसलिए उसने अपने बलात्कारी सौतेले बाप के कहने में आकर उसी से शादी करली। उससे उसके 4 बच्चे भी हो गए।
अदालत की महिला मुख्य जज ने जब वालेरी से पूछा कि क्या उसके दिल में दानिएल पोलेत के प्रति कोई प्रेम भी था, तो उसका उत्तर था, 'मैं हमेशा वही करती थी, जो वह मुझसे कहता था।' वालेरी के अनुसार, शराब पी-पी कर वह उसे मारता-पीटता था। गला दबा दिया करता था। वह ख़ून के घूंट पी कर सब कुछ सहती रही। बात यहां तक पहुची कि सौतेले बाप से उसका पति बन गया दानिएल पोलेत उससे वेश्यावृत्ति भी करवाने लगा।
...और एक दिन सहनशक्ति जवाब दे गई : उसे पोलेत की कार में ट्रक-ड्राइवरों के साथ सोना पड़ता था। अपने बयान में वालेरी ने कहा कि वह 2016 के मार्च महीने का एक रविवार था, जब उसकी सहनशक्ति जवाब दे बैठी। उसने वही पिस्तौल उठाई, जिसे ले कर उसका हिंसक पति (और सौतेला बाप) उसे डराया-धमकाया करता था। पीछे से गर्दन पर एक ही गोली चला कर उसका काम तमाम कर दिया। उस समय उसके मन में केवल एक ही बात थीः अब तक जो कुछ उसके साथ हुआ है, वैसा अब उसकी 14 साल की बेटी के साथ वह नहीं होने देगी।
वालेरी बाको की महिला वकील ने जज से कहा कि जिसने 25 साल तक एक ऐसा नरक झेला है, उसे जेल में बंद करने का अब कोई औचित्य नहीं हो सकता। अतः उसे बरी कर दिया जाना चाहिए। यही मांग करते हुए फ्रांस के सभी हिस्सों से 6 लाख लोगों ने एक ऑनलाइन याचिका पर हस्ताक्षर भी किए। लेकिन बाद की सुनवाइयों के बाद वालेरी बाको को बरी नहीं किया गया। आजीवन कारावास की सज़ा सुनाई गई।



और भी पढ़ें :