0

सिंधारा दूज 2022 : सिंधारा दूज क्यों मनाते हैं, कैसे होती है इसकी पूजा, जानिए

शनिवार,अप्रैल 2, 2022
0
1
भगवान विष्णु स्वयं भी चौदह रूपों में प्रकट हुए थे, जिससे वे अनंत प्रतीत होने लगे। इसलिए अनंत चतुर्दशी का व्रत भगवान विष्णु को प्रसन्न करने और अनंत फल देने वाला माना गया है।
1
2
इस समय अधिकतर घरों में भगवान श्री गणेश विराजमान है। गणेश चतुर्थी के दिन गणपति जी की स्थापना की जाती है और अनंत चतुर्दशी के दिन गणेश जी की विदाई की जाती है। इस वर्ष गणेश विसर्जन 19 सितंबर 2021, दिन रविवार को है। आइए पढ़ें विशेष सामग्री एक ही स्थान ...
2
3
गणेशोत्सव का पर्व गणेश चतुर्थी से शुरू होकर 10 दिनों तक चलता है और अनंत चतुर्दशी के दिन समाप्त होता है। अनंत चतुर्दशी के ही दिन श्री गणेश विसर्जन भी
3
4
अनंत चतुर्दशी के दिन यानी 19 सितंबर को गणपति विसर्जन पर्व मनाया जाएगा। श्री गणेश के विसर्जन की बेला अब करीब आ चुकी है, आइए जानते हैं विसर्जन के 2 शुभ मंत्र
4
4
5
अनंत चतुर्दशी के दिन श्री गणेश विसर्जन भी होता है अर्थात 19 सितंबर 2021, रविवार के दिन होगा।
5
6
अनंत चतुर्दशी के दिन भगवान अनंत (विष्णु) की पूजा का विधान होता है। भगवान विष्णु के सेवक भगवान शेषनाग का नाम अनंत है। अग्नि पुराण में अनंत चतुर्दशी व्रत के महत्व का वर्णन मिलता है।
6
7
भाद्रपद के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी ( Ganesh Chaturthi 2021 ) को भगवान गणेशजी का जन्म हुआ था। इस दिन घर घर में मिट्टी के गणेशजी की स्थापना होती है। अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार इस बार 10 सितंबर 2021 से गणेश उत्सव का प्रारंभ हो रहा है और विसर्जन अनंत ...
7
8
नासिक। पूरे देश में गणेश उत्सव धूमधाम से मनाया जा रहा है और महाराष्ट्र में तो इसको लेकर बहुत उत्साह रहा है। सभी जानते हैं कि गणपति जी को मोदक बहुत प्रिय है। उन्हें मोदक का भोग लगाया जाता है, लेकिन आप एक खास तरह के मोदक के भाव सुनकर दंग रह जाएंगे। यह ...
8
8
9
अनंत चतुर्दशी की व्रत कथा कुछ इस प्रकार है। पुराने समय में सुमंत नाम के एक ऋषि हुआ करते थे उनकी पत्नी का नाम दीक्षा था। दोनों की बेटी सुशीला थी। सुशीला थोड़ी बड़ी हुई तो मां दीक्षा का स्वर्गवास हो गया।
9
10
श्री वेद व्यास ने गणेश चतुर्थी से श्री गणेश को लगातार 10 दिन तक महाभारत कथा सुनाई थी जिसे श्री गणेश जी ने अक्षरश: लिखा था। 10 दिन बाद जब वेद व्यास जी ने आंखें खोली तो पाया कि 10 दिन की अथक मेहनत के बाद गणेश जी का तापमान बहुत अधिक हो गया है।
10
11
छत्तीसगढ़ में ढोलकल गणेश का मंदिर प्रसिद्ध है लेकिन यहां जाना बहुत ही मुश्किल है। इस मंदिर तक पहुंचने के लिए आपको बैलाडीला के जंगलों में ट्रैकिंग करना पड़ेगी और ऊंची पहाड़ी पर चढ़ना भी होगा। यदि आप रोमांच और ट्रैकिंग को पसंद करते हैं तो यह आपके लिए ...
11
12
19 सितंबर 2021 को अनंत चतुर्दशी का दिन भगवान विष्णु के अनंत रूप की पूजा के लिए खास माना गया है। इस शुभ अवसर पर अगर आप उन्हें अपनी राशि के रंग की डोरी बांधेंगे
12
13
10 दिन श्री गणेश हमारे घर में विराजित रहे तब हमने उन्हें प्रसन्न करने के हर प्रकार के जतन किए। अब उनकी विदाई होगी।
13
14
मान्यता अनुसार भाद्रपद के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी ( Ganesh Chaturthi 2021 ) को भगवान गणेशजी का जन्म हुआ था। इस दिन घर घर में मिट्टी के गणेशजी की स्थापना होती है। अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार इस बार 10 सितंबर 2021 से गणेश उत्सव का प्रारंभ हो रहा है और ...
14
15
Ganesh Visarjan 2021: भाद्रपद के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी को गणेश उत्सव प्रारंभ होकर अनंत चतुर्दशी को समापन होता है। अनंत चतुर्थी पर गणपति प्रतिमा का विसर्जन होता है। इस बार 10 सितंबर 2021 से गणेशोत्सव प्रारंभ हुआ और 19 सितंबर को इसका समापन होगा। आओ ...
15
16
इस बार अनंत चतुर्दशी रविवार, 19 सितंबर 2021 को है। भाद्रपद मास के शुक्ल पक्ष की चतुर्दशी को अनंत चतुर्दशी का व्रत रखा जाता है। यह भगवान गणेश के विसर्जन का दिन भी होता
16
17
हिन्दू कैलेंडर के अनुसार भाद्रपद के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी से अनंत चतुर्दशी तक गणेश उत्सव मनाया जाता है। इस दौरान गणेशजी को लड्डू, सतोरी या पुरण पोली, श्रीखंड, केले का शीरा, रवा पोंगल, पयसम, मोदक आदि प्रसादों का भोग लगाया जाता है जिसमें उन्हें सबसे ...
17
18
सबसे पहले एक प्रेशर कुकर में चने की दाल को अच्छी तरह से धोकर, दाल से डबल पानी लेकर कम आंच पर 30 से 35 मिनट पकने दें। 2-3 सीटी लेने के बाद गैस बंद कर दें।
18
19
गणेशोत्सव के दस दिनों में भगवान श्री गणेश को अलग-अलग पकवानों को भोग लगाया जाता है। अत: गणेश पूजा के अवसर पर भगवान श्री गणेश को मोदक और लड्‍डूओं का भोग अवश्य लगाना चाहिए, क्योंकि यह उनके सबसे प्रिय व्यंजन है। यहां पढ़ें 5 खास प्रसाद-
19