Indore Literature Festival 2021 - शिव और कबीर के नाम से हुआ इंदौर लिट् फेस्ट का श्री गणेश

Last Updated: शुक्रवार, 26 नवंबर 2021 (13:04 IST)
- कबीर गान, भक्ति संगीत और लोकगीत के संगम से गुंजा इंदौर का गांधी हॉल

- मुकेश चौहान और समूह, वामिका पंड्या, और माज़िद खान समूह ने दी प्रस्तुति


मालवा और मध्य भारत के सबसे बड़े साहित्य समागम इंदौर लिट् फेस्ट का शुक्रवार को शुभारंभ हुआ। इस आयोजन का श्री गणेश भगवान शिव और कबीर के नाम से हुआ।

कबीर गायक मुकेश चौहान और समूह ने अपने गीतों की बेहतरीन प्रस्तुति दी। जब देश के सबसे स्वच्छ शहर इंदौर के गौरव गांधी हॉल में शिव तांडव स्त्रोत का पाठ हुआ तो श्रोतागण ने कबीर से लेकर शिव की अनुभूति की यात्रा कर डाली।

शिव तांडव की प्रस्तुति वामिका पंड्या द्वारा दी गई। इस बीच जब माज़िद खान और उनके समूह ने पधारो म्हारा देस रे के माध्यम से प्रस्तुति दी तो राजस्थान की माटी की सुगंध ने मानो घेर लिया। कुछ पल के लिए राजस्थान के इस गीत से लोक गायकी की महक फैल गई।




इसके बाद राजस्थान नृत्यांगनाओं ने घूमर नृत्य पर प्रस्तुति से सभागार में मौजूद हर श्रोता का मन मोह लिया।

ALSO READ:

Indore literature festival: इंदौर लिटरेचर फेस्टिवल के पहले दिन की चित्रमय झलकियां



कुल मिलाकर गीत संगीत, कबीर भजन और भगवान शिव के तांडव स्त्रोत के साथ इंदौर लिट् फेस्ट का आयोजन बेहद ही भक्ति और निर्गुण रस के साथ हुआ।




विंक्रम संपत, अनंत विजय, आनंद रंग नाथन के कर कमलों से इंदौर लिटरेचर फेस्टिवल का शुभारंभ।

विचार-विमर्श का समन्वय 3 दिनों में उत्सव का रूप लेगा-अनंत विजय।


साहित्य उत्सव की गरिमा और महिमा बढ़ती रहे-विक्रम संपत।

स्वच्छतम शहर इंदौर के खूबसूरत सभागार में इस आयोजन की सफलता की कामना करता हूं-आनंद रंगनाथन



और भी पढ़ें :